कुंवारी लड़की की चुदाई

HI! दोस्तों आज फिर मैं एक अपनी सच्ची स्टोरी कुंवारी लड़की की चुदाई आपको बताने वाला हु! मेरा नाम राजू है और उम्र २१ साल. मैं म.कॉम में पढता हु

और मेरी हिघ्त ५’७” और मेरे लंड की साइज भी ६ इंच है. मैं दिखने में गोरा हु और मुझे बड़े बूब्स वे लड़किया पसंद है अब में सीधे स्टोरी पर आता हु.

यह उन दिनों की बात है जब मेरे मम्मी का ऑपरेशन करवाया था. तब मेरे बुआ की लड़की हमारे धार पर काम करने क लिए आयी थी वैसे तो हम भाई- बहन ही थे.

और मुझे उससे सेक्स करने में ख्याल भी नहीं था. उसका नाम दीक्षा  था.

वो दिखने में किसी एक्ट्रेस से काम नहीं थी एक दम रंग गोरा और सबसे ज्यादा सेक्सी उसकी बॉडी में उसके गुआबि लिप्स और उसकी डबडबी गांड.

जब वह चलती तो गांड समां नहीं रही थी. उसकी हाइट भी ५ फुट ६ इंच थी.

और फिगर ३२-३०-३४ कमल का माल था उसकी उम्र २० साल थी.

तो मम्मी को चेक उप के लिए कुछ दिनों में हॉस्पिटल में आना जाना लगा रहता था.

तो वैसे हम दोनों नार्मल ही बात करते थे. पर जब मेरे मम्मी का ऑपरेशन की डेट फाइनल हो गए.

और मैंने एक बार जब धर पर कोई नहीं था तो वह अंदर के रूम में अपने कपडे बदल रही थी.

उसे भी लगा की कोई नहीं है. पर जब मैं घर में एंटर हुआ और सीधे रूम में जाने वाला ही था

की मैंने क्या देखा की दीक्षा  पूरी नंगी खड़ी थी और आयने क सामने अपनी गोरी चूत में ऊँगली दाल कर हिला रही थी और अजीब आवाज़े भी निकल रही थी.

उस दिने मैंने अपनी दीक्षा  दीदी की गांड बूब्स और मस्त माल लगा रही थी मेरे तो तोते ही उड़ गए मेरा लंड अपने पतलून में समां नहीं रहा था

और कहानिया   चुदाई का बदला बीवी से – 2

उसका पानी निकल जाने क बाद वह कपडे पेहेन्ने लगी तभी मैं अपने बाथरूम में जाकर उसके ख्याल में मुठ मरने लगा.

फिर रात को जब खाना खाने क बाद जब सोने गए तो मुझे वह नंगा बदन नज़र आ रहा था.

और मुझे उससे छोड़ने का ख्याल आया. फिर मेरे मम्मी ऑपरेशन क लिए अहमदाबाद जाना था तो सिर्फ मैं और दीक्षा  ही धार पर थे

मेरे मम्मी और पापा सुबह में निकले और में सोल्लगे चला गया जब दोपहर में लोटा और देखा की धार पर कोई नहीं था

तो मैंने अपने रूम गया तो देखा की दीक्षा  फिर से कंप्यूटर पर ब्लू फिल्म देखर कर चूत में उंगलिया कर रही थी

मैंने सोचा की आज अच्छा मौका है आज मेरे छोड़ने का फाइनल हो सकता है.

फिर में चुप चाप रूम में चला गया और पीछे खड़ा हो गया. बाद में जब हु अपनी चूत का रसीला पानी अपने मुँह में ले रही थी तब भी में ने उसका हाथ पकड़ा कर अपने मुँह में ले लिया

तब वह एक दम कड़ी हो गए और धबरान्ने लगी और आपने सलवार ठीक करने लगी तब मैंने मोके का फायदा उठाते हुए उससे किश करने लगा और उसकी चूत में अपना ऊँगली दाल कर उसे दबाना लगा

फिर उसने मुझे ढाका दे दिया और कहने लगी की ये क्या कर रहे हो मैंने कहा जो तुम करना चाहती हो.

फिर मैं किस करने लगा. तो उसने विरोध नहीं किया और फिर मैंने उसके किश करते हुए सरे कपडे निकल दिए और वह मेरे सामने पूरी नंगी कड़ी थी

फिर मैंने उसके बूब्स को चूसने लगा और दूसरे बूब्स को मसलने लगा वह पागल हो रही थी और कहने लगी की और ज़ोर से प्लीज फिर में ने उसको लेता दिया और उसकी चूत को किश करके चाटने लगा.क्या चूत थी

एक दम साफ और गोरी लग रहा था की उसकी सील नहीं टूटी है. मैंने उसकी चूत की करीब २० मिनट तक छठा और उसने अपना पानी निकल दिया

फिर उसने मुझे नंगा करके मेरे लंड को अंडरवियर में से निकल कर देख कर बोली क्या लंड है

आपका में पूछा क्यों क्या हुआ? वह बोली इतना अच्छा शेप रंग भी गोरा मोटा और बेहतर हु

मेरे लंड को ऐसे देख रही थी जैसे उस क दिनों की प्यास बुझ रही है. फिर सुने मेरे लंड को चोदना शुरु कर दिया और उसे चाट रही थी जैसे कोई पोर्नस्टार.

और मेरा निकल गया और वह उसे पीने लगी. फिर हम दोनों ६९ की पोजीशन पर आकर करीब २५ मिनियते क बाद मैंने उसे लेटाया अउ अपना लंड उसकी चूत पे रखा

तो मनो एक बिजली जैसे उसके बॉडी में धूम कर चूत क द्वारे निकल गयी और फिर उसने खा उसे मत रडो मत तड़पाओ प्लीज दाल दो तो में ने पहले किश कटे हुए ज़ोर से जतका मारा

तो पूरा लंड अंदर चला गया और वह तड़पके चिल्लाने लगी और कहने लगी मनो किसीने उसकी चूत में गरम लोहा दाल दिया हो.

फिर थोड़ी देर क बाद मैंने अपने लंड को अंदर भर किया और फिर वह भी मुझे रिस्पांस देने लगी.

और ुलारके मेरे साथ छुड़ाने लगी कारिभामने एक घंटे तक सेक्स किया और उस दौरान हमने कई साडी पोजीशन में सेक्स किया जब में उसके उप्पर था

तो उसको लिप्स पे किश और बूब्स को चाट ता था और हम दोनों सातवे आसमान पर थे.

फिर वह मेरे पर चढ़ कर कार्नर लगी और मैंने उसे डौगी स्टाइल में भी चोदा फिर मैंने उसकी गांड का दीवाना था

मैंने खा की मुझे तुम्हारी गांड मरी है तो उसने मन कर दिया फिर मैंने फाॅर्स किया

तो वह मन गयी और सरत राखी की बहुत दर्द हुआ तो वह नहीं कार्नर देंगी मैं मान गया

मैंने जातक से वैसेलिन उसकी गांड पर लगा कर मेरे लंड पर भी थेर सारा लगा दिया और फिर अंदर जाने की कोसिस करने क बाद लंड चला गया पर वह चिल्ला रही थी और रो भी रही थी पर मुझे मज़ा आ रहा था

में रुका नहीं और जब उसे उसका दर्द काम हुआ तो बाद में वह भी मेरे साथ मज़े लेने लगी और फिर मैंने लंड को साफ़ करके फिर से चुसवाया और उसकी चूत में छोड़ना शुरू किया

और १० मिनियते क बाद में जड़ गया और उसकी चूत में ही सारा माल निकल दिया मनो उससे भी बरसो की प्यास बुजी हो.

बाद में हम साथ नहाने गए तो उसने बताया की उसकी उससे पहले भी चुदाई हो चुकी थी.

जब वह १८ साल की थी. फिर हमने ४ दिनों तक सुबह साम छोड़ते ही रहते थे

आज उसकी सगाई हो चुकी है पर आज भी हमें जब मौका मिलता है तो हम छोड़ते है और मैं उसकी गांड मरता हु.

Leave a Reply

Your email address will not be published.