थाइलॅंड मे बेहन की चुदाई-1

ही फ्रेंड्स, पेश है एक न्यू स्टोरी जो मुझे किसी ने भेजी है. तो पेश है उसी की कहानी उसी की ज़ुबानी.

ही एवेरिवन मेरा नाम कारण है और मई देल्ही से हू. ये मेरी पहली स्टोरी है, ये मेरे और मेरी बेहन के बीच हुए सेक्स की है. होप करता हू आप सब को पसंद आएगी. सो आप लोगो को ज़्यादा बोर ना करता हुआ मई सीधा स्टोरी पर आता हू.

मेरी फॅमिली मे हम 4 लोग है, मेरे पापा, मेरी मम्मी, मई, फिर मेरी बेहन. मेरी आगे 29 है और मेरी सिस मेरे से 1 साल छोटी है मीन्स शी इस 28. और हम दोनो जिम भी जाते है सो हम दोनो फिट है एकद्ूम.

सो मई देखने मे अछा हू, हाइट 6 फीट है, लंड 3 इंच मोटा आंड 7.2 इंच लंबा है. मैने 10 प्लस लड़किया छोड़ी है जिनमे से 2 को मेरी बेहन ने मेरे से इंट्रोड्यूस करवाया था.

अब मई मेरी बेहन के बारे मे बताता हू. उसका नाम मेघना है और उसकी आगे 28 है. देखने मे गोरी है, हाइट 5 फीट 5 इंच है, उसका साइज़ 34सी 30 34 है. आइज़ ब्लॅक है, बाल शोल्डर के नीचे तक है.

3 ब्फ तो उसके पस्त मे थे. जिमने से एक मेरा दोस्त भी था और अब भी उसका एक ब्फ है आंड मेबी वो शादी का प्लान भी कर रहे है.

मई एक पवत् कंपनी मे अकचे रंक पर हू और मेरी बेहन एक आर्किटेक्ट है. सो हम थोड़े ओपन फॅमिली टाइप है सो मुझे फराक नही पड़ता था उसका ब्फ है या नही.

पापा आंड मम्मी भी जॉब करते है सो हमारे घर मे पैसे की कमी नही है, सो मई स्टोरी अब शुरू करता हू.

तो हुआ यू की मैने मेरी कंपनी का टारगेट आर्काइव किया. तो मेरी कंपनी ने मुझे थाइलॅंड का तौर प्लस वाहा का 1लॅक र्स शॉपिंग के लिए दिया. बुत वो तौर कपल्स के लिए था.

और कहानिया   साली की कोमल चुत का स्वाद चका

सो मेरे को तोड़ा मेरा मुश्किल लग रहा था बुत ऑफर अछा था. लेकिन मुझे जाना था, मैने तौर एजेन्सी से पता किया. तो पता लगा की आप अपने गफ़ को भी लेके जा सकते थे बुत तब मेरी कोई गफ़ नही थी.

तो सनडे के दिन मई अपने रूम मे बैठा था. तब मेरी सिस मेरे रूम मे आई उसको मेरा क्रेडिट कार्ड चाहिए था. तो मैने उसे अपना कार्ड दिया. फिर हम कॅष्यूयली काम के बारे मे बात करने लग गये.

तो मैने उसे बताया मेरे तौर के बारे मे. उसने कहा-

महगना – भाई तो तुम चले जाओ ना.

मैने कहा – नही कपल का तौर है.

महगना बोली – भाई तो गफ़ को ले जाओ.

मैने बोला – अभी कोई नही मेरी गफ़, तो मैने बोला की रहने दो मई तौर का कॅश करवा लूँगा.

वो बोली – अभी कॅश मत करवाना कोई ना देखते है.

मैने कहा – कल लास्ट डटे है कल पासपोर्ट देना है.

महगना बोली – तो तुम कहो तो मई साथ चालू.

मैने बोला – पागल है क्या?

महगना बोली – भाई कॉन्सा किसी को पता चलना है.

मैने सोचा आइडिया तो अछा है और बोला-

मई – बुत सेम सिरनामे होगा.

महगना बोली – एजेंट को कॉन्सा पता होगा, बोला देना फॅमिली ट्रिप है.

और उसने मुझे फोर्स किया और मैने उसका पासपोर्ट लिया और अपने पास रख लिया. सुबह जाकर ट्रॅवेल एजेंट जिसको हमारी कंपनी ने हीरे किया था उसको दे दिया. उसने 3 दिन बाद वीसा लगा कर हुमको दे दिया.

मैने सिस को बोला की शॉपिंग कर ले. वो शॉपिंग मे लग गयी और मैने भी शॉपिंग कर ली. मैने उसको बोला की “तुम्हारा ब्फ ने पूछा तो?” वो बोली “मैने बोल दिया है फॅमिली फंक्षन मे जाना है एक वीक के लिए. अगर उसको शक़ हुआ तो तुमसे बात करवा दूँगी एक बार.”

और कहानिया   मेरा भाई और मेरे अब्बू भाग 3

हमारी कंपनी से 5 कपल्स को तौर मिला था बुत सभी को कोई ना कोई दिक्कत हुई. तो सिर्फ़ हम दोनो ही तौर पर जेया रहे थे.

Pages: 1 2