टीचर की बीवी ने लिया मेरा लौड़ा

फिर मैंने भाभी से कहा कि भाभी आप बुरा ना माने तो में लोशन आपके पैरों के बीच वाले हिस्से में भी लगा दूँ? तो भाभी ने कहा कि धीरे धीरे लगाना.. मैंने आज ही यहाँ के बाल साफ किए है। मुझे तो सिर्फ भाभी की हाँ की जरूरत थी और मैंने भाभी के पैर फैला दिए और खुद बीच में बैठ गया.. भाभी ने अपनी आखें बंद कर ली और आगे होने वाली मालिश के लिए अपने आपको तैयार करने लगी.. मैंने भाभी की तरफ देखा तो भाभी ने अपनी आखें ज़ोर से बंद की हुई थी और फिर मैंने अपना हाथ बेडशीट से साफ किया और अपने हाथ पर बहुत सारा थूक लगाया और एक हाथ से भाभी की चूत का मुहं खोला.. यार जैसे ही मैंने भाभी की चूत का मुहं खोला तो भाभी की चूत का आकार भी ऐसा था कि मानो भाई साहब ने बहुत सालों से भाभी की चूत मारना तो दूर.. उसमे उंगली भी ना की होगी। भाभी की चूत ऐसी लग रही थी कि जैसे उस पर वो किसी प्रकार की पॉलिश करवाती हो.. उनकी चूत चमक रही थी और मेरे मुहं में तो पानी आने लगा था।
तभी मैंने अपना थूक लगा हाथ उनकी चूत पर रखा और दूसरे हाथ से उनकी चूत के दोनों गुलाब जैसी पंखुड़ियों को खोला और उस शेव वाले हिस्से को धीरे धीरे सहलाने लगा। मेरे हाथ के स्पर्श से भाभी एकदम से तिलमिला उठी और उनकी चूत ऐसी लग रही थी कि मानो वो मुझसे कुछ बोलना चाह रही है। फिर में धीरे धीरे उनकी चूत की मालिश करने लगा और भाभी से बोला कि भाभी आपकी चूत तो बहुत ही सुंदर और चिकनी है लगता है आपने एक दो दिन पहले ही बाल साफ़ किए है? तो भाभी ने कहा कि नहीं.. तेरे आने से एक घंटे पहले ही मैंने बाल साफ़ किए थे। फिर मैंने पूछा कि भाई साहब तो बहुत किस्मत वाले है जो आप जैसी सुंदर और सेक्सी वाईफ मिली है? और वो तो आपके साथ हर रोज सेक्स करते होंगे? आप जैसी सेक्सी लेडी के साथ में तो हर रोज सेक्स का मजा लेता। तो यह सुनते ही भाभी उदास हो गई.. मैंने सोचा कि यार इतना रोमांटिक मूड था.. लेकिन मैंने अपने ही पैर पर कुल्हाड़ी मार ली। तो मैंने भाभी से बोला कि भाभी जी अगर आप बुरा ना माने तो में आपकी चूत पर एक किस करना चाहता हूँ। तभी भाभी ने कहा कि तुमने तो लोशन लगाया हुआ है ना.. पहले उसको तो साफ कर लो। तो मैंने कहा कि भाभी मैंने लोशन नहीं थूक लगाया था.. भाभी की आखों में एक अजीब सी चमक दिख रही थी और होंठो पर एक शरारती सी मुस्कान और फिर भाभी ने कहा कि कर लो.. लेकिन सिर्फ एक। तो में भाभी के पैरों के बीच लेट गया और भाभी की चूत की खुश्बू सूंघने लगा। भाभी की चूत में से गुलाब जैसी खुश्बू आ रही थी और मैंने भाभी की चूत की फांको को अलग अलग किया और बीच वाले हिस्से पर अपनी जीभ से नीचे से ऊपर की और जीभ चलाने लगा। तो मेरे ऐसा करने से भाभी बिन पानी की मछली की तरह झटपटाने लगी और बेडशीट को अपने मुहं में भर लिया। तो में भी भाभी की चूत का मजा लेने लगा। 15-20 मिनट तक भाभी की चूत को चाटने के बाद भाभी की चूत से पानी आने लगा.. दोस्तों में आप लोगों को बता नहीं सकता कि क्या मस्त था उसका स्वाद? फिर भाभी ने अपनी चूत को ऊपर को उठा लिया और एक हाथ से मुझे अपनी चूत में दबाने लगी और भाभी झड़ने के बाद कुछ ढीली पड़ गई थी। फिर मैंने भाभी की तरफ़ उठकर देखा तो भाभी की आखों में एक अलग सी चमक थी और भाभी ने मुझे धन्यवाद बोला और कहा कि तुम तो बहुत अच्छी चुसाई करते हो.. यह कहाँ से सीखी? फिर वो मेरे पास आकर मेरी जींस के ऊपर से ही लंड को सहलाने लगी और बोली कि अशोक तेरा लंड तो बाहर निकलने के लिए तड़प रहा है। तो मैंने कहा कि भाभी जब दुनिया की सबसे सेक्सी लेडी सामने बिना कपड़ो के लेटी हुई हो तो किसका लंड उसके दीदार के लिए नहीं खड़ा होगा?
तो भाभी ने कहा कि तो करा दो ना आप इसको दीदार.. मैंने कहा कि भाभी आप खुद ही क्यों नहीं करा देती? भाभी ने मेरी जींस उतार दी और मेरा लंड अंडरवियर में एंटीना बनकर खड़ा हो गया.. भाभी ने अपना हाथ मेरी अंडरवियर में डाला और लंड को हाथ से पकड़ कर सहलाने लगी और फिर भाभी ने कहा कि तेरा लंड तो बहुत बड़ा और मोटा है? तो मैंने कहा कि भाभी बाहर निकाल कर तो देखो। फिर भाभी कहने लगी कि क्यों तुम तो बहुत उतावले हो रहे हो? तो मैंने कहा कि भाभी में क्या करूं आपने मुझ पर जादू कर दिया है? फिर भाभी ने मेरा अंडरवियर उतार दिया और अब मेरा लंड भाभी को सलामी दे रहा था और भाभी की आखों में एक अजीब सी चमक थी.. भाभी मेरे लंड को सहलाने लगी और मेरी गोलियों से खेलने लगी और भाभी का हाथ गोलियों पर आते ही मेरा लंड और भी ज़्यादा बड़ा हो गया और में भाभी के बूब्स को दबाने लगा। भाभी ने एक हाथ से मेरे लंड की खाल ऊपर की और अपने मुहं में लेकर बच्चो की तरह लंड को चूसने लगी और कभी कभी वो मेरी गोलियों को भी मुहं में ले रही थी।

और कहानिया   शादीशुदा आंटी को झांके चोदा

Pages: 1 2 3 4