शादी से पहले भैया से ट्रेनिंग

दोस्तों मेरा नाम आमना है आज मैं आपको अपनी एक सच्ची चुदाई की कहानी आपको बताने जा रही हूँ। मैं आज से एक महीने पहले तक इस वेबसाइट को नहीं जानती थी पर मेरी एक सहेली है नीतू उसने हिंदी पोर्न कहानी डॉट कॉम के बारे में बताई। फिर मैं एक दो कहानियां पढ़ी और फिर क्या बताऊँ दोस्तों ऐसी वेबसाइट नहीं है कोई जिसपर ऐसी हॉट और सेक्सी कहानियां हो। तब से मैं इस वेबसाइट की फैन हो गई हूँ और अब तो मेरी करीब करीब सभी फ्रेंड्स इस वेबसाइट की दीवानी है। लड़के के बारे में तो पता नही पर हाँ इस वेबसाइट पर लड़कियां और औरतें रोजाना कहानियां पढ़ती है।

दोस्तों एक कहानी मैं भी हिंदी पोर्न कहानी डॉट कॉम पर पोस्ट कर रही हूँ ये कहानी मेरी सच्ची चुदाई की कहानी है। कैसे मेरे भैया ने मुझे चुदना सिखाया। तरह तरह के पोज सिखाये, चुदाई कैसे की जाती है सब बताया गांड मारने का बेस्ट तरीका सिखाया आज मैं आपको इस कहानी के माध्यम से बताउंगी की उसने पहले दिन मेरे से क्या क्या बोला था और कैसे ट्रेनिंग देने के बहाने मेरी रसगुल्ले जैसी चूचियों को चूसा और मेरी चूत का भोंसड़ा बना दिया था। पूरी कहानी अब आपके सामने रखने जा रही हूँ।

मैं दिल्ली में रहती थी। मैं उत्तर प्रदेश की रहने वाली हूँ। मैं अपने भैया और भाभी के पास ही दिल्ली में रहती हूँ वो दोनों का ही अपना बिज़नेस है. भैया का अपना सलून है और भाभी का भी अपना ब्यूटी पारलर है। मेरी उम्र अठारह साल है। मेरा एक रिश्ता आया और बात बन गई। लड़का और खानदान बहुत अच्छा था और मेरी शादी पक्की हो गई। मेरे माँ बाप आये लड़के के माँ बाप आये और फिर बात चित हुई की शादी अगले महीने करने हैं। पर ध्यान रहे लकड़ी को कुछ भी हमलोग नहीं सिखाएंगे। आप सब कुछ सीखा कर ही भेजना। तो मम्मी पा बोले की आपको शिकायत का मौक़ा नहीं दूंगा।

और फिर भैया बोले बाकी के घर के काम वगैरह सिख लो और भी जो जरुरी है वो मैं तुम्हे सीखा दूंगा। मैं बोली ठीक है मैं थोड़ी दिमाग की पैदल हु समझ नहीं पाई। पर मुझे लगा की हो सकता है सब को ही सिखाया जाता है। इसलिए वो लोग ये बोल कर गए। पर मेरे भाई की गलत नजर मेरे ऊपर थी उन्होंने काम धंधा सीखने की बात किये थे पर मेरा भाई अलग तरीके से बात को ले गया। जब मेरे मम्मी और पपप वापस रामपुर वापस लौट गए और मेरी भाभी अपने बहन की शादी में गाँव गई पंद्रह दिन के लिए तो वो एक रात के मेरे पास आया और बोला देख तेरी शादी अगले महीने होने वाली है मैं ये नहीं चाहता की तुम्हे कुछ भी नहीं आये ऐसे भी तेरे सास ससुर बोले कर गए हैं की लकड़ी सब कुछ में ट्रेंड होने चाहिए।

और कहानिया   घर में ग़ुस्से चोरो ने की चुदाई

मैं बोली ठीक है भैया आप जैसा चाहो वैसा करो मुझे पता है आप जो करोगे अच्छा हो करोगे। वो भैया मुझे बोले देख तेरी शादी जैसे ही होगी तेरा दूल्हा रात को तुम्हे चोदेगा पर वो जोर से घुसा देगा और तेरी चूत फट जाएगी अगर तू बोलेगी धीरे धीरे घुसा तो वो मानेगा नहीं और एक दम से तेरी चूत में पेल देगा और बहुत खून फिर निकल सकता है। इसलिए मैं तुम्हे पहले ही उस लायक बना दूंगा धीरे धीरे कर के ताकि वो तुम्हे चोदे तब भी तुम्हे दर्द नहीं हो.

मैं बोली ठीक है। फिर भैया ने मेरे सारे कपडे उतारे और मेरी रसगुल्ले जैसी चूचियों को दबाने लगा और बोला देख वो ऐसे ही दबाएगा और फिर वो निप्पल को दबाने लगा वो मेरे होठ को चूसने लगा। उसने बताया जब वो चुम्मा ले तो तुम भी चुम्मा लेना वो जब तेरे होठ को चूसे तो तुम भी वैसे ही चूसना। और फिर बोले अब कोशिश कर वैसे ही जैसे मैंने बताया। दोस्तों में भी काफी जोश में आ गई थी। ऐसे तो मैं पहले से ये सब जानती थी पर मैं भी मजे लेने के चलते भोली बनती गई। मेरा भाई खुद भी दिमाग का पैदल है इसलिए मैं सोची की मैं भी मजे ले लूँ।

उसने फिर होठ को चूसते हुए वो मेरी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया। अब ना तो वो मुझे सीखा रहा था ना कुछ मैं सिख रही थी। अब तो दो भी जोश में आ गया था और मैं भी जोश में आ गई थी। दोनों एक दूसरे को किश कर रहे थे एक दूसरे के बदन को सहला रहे थे। वो निचे जाकर मेरे पैरों को अलग अलग कर दिया और मेरी चूत को चाटने लगा। दोस्तों अब मैं आ गई थी पुरे जोश में मैं भी गांड उठा उठा कर उसमे मुँह में अपना चूत रगड़ने लगी। अब चूत से पानी निकलने लगा मुझे पहली बार एहसास हुया की चूत से इतनी पानी निकलती है। वो मेरी चूत को चाटते हुए कहने लगा। तू गजब की माल हो। तुमने खुश कर दिया मुझे।

और कहानिया   आई लव यू पापा

और फिर मेरी चूत में ऊँगली करने लगा फिर वो मेरी गांड में भी ऊँगली करने लगा. मैं आह आह आह करने लगी. वो अब पुरे जोश में आ गया था उसने अपना लौड़ा मेरी मुँह में डाल दिया मैं उसके लौड़े को चूसने लगी। मोटा और लंबा लौड़ा पाकर मैं बहुत खुश हो गयी थी। मेरे पुरे शरीर में बिजली दौड़ रही थी। अब मैं चुदना चाह रही थी। उसने मेरे दोनों पैरों को अलग अलग किया और फिर एक तकिया मेरे गांड के निचे लगाया और फिर अपना लौड़ा मेरी चूत पर सेट किया और घुसाने लगा. शुरआत में तो लौड़ा चूत में नहीं जा रहा था पर दो चार धक्के देने के बाद पूरा लौड़ा मेरी चूत में चला गया।

मैं तृप्त हो गई थी मुँह खुला का खुला ही रह गया था बस मुँह से आ आ आ आ आ आ आ की आवाज निकल रही थी अब वो लौड़ा आगे पीछे करने लगा. पर मुझे ऐसा लग रहा था की जोर से चोदे। मैं बोली क्यों ताकत नहीं है क्या जोर जोर से दो धक्के। तो वो बोला अरे यार जोर से कैसे दूँ देखो ना तेरे चूत से खून निकल रहा था। मैं ऊँगली लगा कर देखि तो हां खून निकल रहा था पर मुझे दर्द नहीं कर रहा था उलटे चूत में खुजली हो रही थी। ऐसा लग रहा था लौड़ा जल्दी जल्दी डाले और निकाले।

फिर क्या था मैं बोली चिंता नहीं कर तू मुझे क्या सिखयेगा मैं सिखाऊंगी मैं सब कुछ पहले ही हिंदी पोर्न कहानी डॉट पर पढ़ चुकी हूँ। दोस्तों उसने फिर मुझे जोर जोर से चोदना शुरू किया और रसगुल्ले जैसी चूचियों को पिने लगा। दोस्तों अब मैं असल में चुद रही थी। क्यों की हरेक झटके और धक्के पर मेरी आह निकल रही थी। मैं भी गांड उठा उठा कर चुदवा रही थी और वो भी मुझे चोद रहा था।

दोस्तों उस रात तो उसने मेरी चूत ढीली कर दी थी लगातार पंद्रह दिन चुदाई करवाने के बाद मैं पूरी तरह से चुड़क्कड़ और जवान हो गई थी रसगुल्ले जैसी चूचियों बड़ी हो गई थी और गांड भी चौड़े हो गए थे। यानी की अब कोई भी मोटा से मोटा लौड़ा लेने को तैयार थी।

अब मेरी शादी हो गई है ससुराल में खूब चुद रही हूँ और बहुत खुश हूँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *