जिम वाली सेक्सी भाभी को पता कर छोड़ा

ही गाइस, मेरा नाम ज़ैने है, ई’म 19 यियर्ज़ ओल्ड लिविंग इन कोलकाता, तीस इस मी फर्स्ट इंडियन भाभी की चुदाई स्टोरी ई’म पोस्टिंग इन तीस साइट. थे सेक्स स्टोरी इस गोयिंग तो बे इन हिन्दी.

मैं अपने बारे में बता दूं, मेरी हाइट करीब 5’10 है. मैं अक्चा आत्लेटिक आंड लीन बिल्ड वाला लड़का ही, और मुझे भाभी’स आंड आंटी’स का बोहोट शौख है. उनको देखते ही मेरा मॅन उनको छोड़ने का करता है.

यह स्टोरी कुछ महीने पहले की है, मैं हर रोज़ अपने कॉंप्लेक्स वाले जिम में जाता हूँ. उस वजह से मेरे कॉंप्लेक्स की सारी आंटी और भाभी मुझे जानती है.

वो मुझे मेरे फिज़ीक पे कॉंप्लिमेंट भी करती है, और मैं भी उनकी तारीफ़ करता हूँ.

एक दिन जिम में एक नयी भाभी आई, वो एक त-शर्ट और टाइट पॅंट्स में आई थी. जिसमे उनकी गांद एक दूं रौंद और टाइट लग रही थी.

मैं तो उन्हे देखते ही रह गया, वो रोज़ जिम आती थी और मैं भी रोज़ जाया करता था.

कुछ दिन बाद हम लोगो ने स्माइल एक्सचेंज किए. वो मुझे देख के स्माइल करती, मैं भी स्माइल बॅक करता. कुछ दिन ऐसा ही चलता रहा.

मैं सोचता रहता की कैसे में जाके उनसे बात करूँ.

एक सॅटर्डे मैं जिम में था, सॅटर्डे को जिम ट्रेनर का हॉलिडे रहता है, तो वो नही आए थे. मैने अपना वर्काउट स्टार्ट किया, और कुछ देर बाद जिम का दरवाज़ा बाँध होने की आवाज़ आई.

मैं चेक करने गया तो देखा वोही भाभी जिम आई थी. उन्होने मुझसे पूछा की ट्रेनर कहाँ है?

मैने उन्हे बताया की सॅटर्डे को ट्रेनर का ऑफ है, वो नही आएँगे?

उसने सिर हिलाते हुए अक्चा बोला और ट्रेडमिल पे चढ़ गयी, बुत उससे वो स्टार्ट नही हो रहा था. कुछ देर ट्राइ करने के बाद उसने “एक्सक्यूस मे” बोल के मुझे बुलाया.

मैने कहा “एस”?

वो बोली “कॅन योउ प्लीज़ हेल्प मे स्टार्ट तीस ट्रेडमिल, ई कॅन नोट गेट इट तो वर्क”.

मैने कहा “शुवर” और ट्रेडमिल स्टार्ट कर दी, वो खुश हो गयी, और हमारी बातें स्टार्ट हुई.

उसने मुझसे पूछा की मेरा नाम क्या है? मैने अपना नाम बताया और उसका नाम पूछा, उसने अपना नाम शक्षी (नामे चेंज्ड) बताया.

फिर हमारी ऐसेही कॅषुयल बातें स्टार्ट हो गयी. मैं उसकी आँखो में आँखे डाल कर बात कर रहा था, और मैने कहा की वो दिखने में बोहोट सुंदर है.

उसने ब्लश किया और बोली “झूट मत बोलो”.

मैने कहा “सच बोल रहा हूँ, आप बोहोट आक्ची दिखती हो” और वो शर्मा गयी, फिर हम दोनो अपने वर्काउट में लग गये.

करीब 1 घंटे बाद वो जाने लगी, तो उसने जाते जाते कहाँ “तुम्हारा नंबर मिलेगा क्या?”

ये सुन कर मेरे मॅन में लादू फूट रहे थे.

मैने कहाँ “ हन, क्यूँ नही” और मैने उसे अपना नंबर दे दिया, और वो चली गयी.

कुछ देर बाद मैं भी घर आ गया और फ्रेशन उप हुआ, और रेस्ट करने लगा. करीब रात के 1:30 बजे उसका टेक्स्ट आया.

मैने रिप्लाइ किया, उसने पूछा क्या कर रहे हो? मैने कहा सोच रहा हूँ. उसने पूछा किस बारे में?, मैने कहाँ तुम्हारे बारे में.

और कहानिया   शादीशुदा आंटी को झांके चोदा

अगले 2 मीं तक रिप्लाइ नई आया, फिर उसने लिखा क्या सोच रहे थे मेरे बारे में?

मैने कहा की मैं सोच रहा था की काश मैं तुम्हारा हज़्बेंड होता, रोज़ रात तुम्हारा हज़्बेंड होता, रोज़ रात तुम्हारे साथ बिताने को मिलती.

उसने कहा क्या करते मेरे साथ रात बिताके?

मैने कहा की तुम्हे रात भर छोड़ता.

2 मीं बाद उसने मुझे कॉल किया और हमारी सेक्सी बातें स्टार्ट हो गयी.

मैने पूछा की उसका हज़्बेंड कहाँ है?

उसने कहाँ की वो शराब पीक सो चुका है.

क्यूंकी अगले दिन सनडे था, इसलिए वो मुझे कॉल कर सकी. तो हमारी बातें स्टार्ट हुई और बातों में ही वो झाड़ गयी, हुँने फिर प्लान बनाया नेक्स्ट दे मिलने का.

नेक्स्ट दे करीब 4 बजे हम लोग मिले, वो जिम का बहाना लेकर आई थी. उसका हज़्बेंड घर पे था, हम लोग मिले और हुँने बोहोट बातें की.

उसने कहा की वो अपने हज़्बेंड से खुश नही है. वो उससे टाइम नही देता है, और हमेशा ड्रिंक करता है. और घर आ कर सो जाता है, और फिर वो रोने लगी.

मैने उससे हग किया और बोला “टेन्षन मत लो, मैं हूँ ना? तुम्हारे सारे चीज़ो का ढयान में रखूँगा”.

फिर मैने उससे किस किया, और उससे वॉल पे धक्का दिया, और फिर से किस करने लगा, वो भी किस बॅक कर रही थी.

मैने उसके चूचियों को मसालने लगा और वो अया अया तोड़ा धीरे, बोलने लगी. पर मैं नही सुनने वाला था, हम लोग अंडरग्राउंड पार्किंग लॉट में थे, और वहाँ लोगो के आने का दर्र भी था, इसलिए हम वहाँ से निकल गये.

निकालने से पहले मैने उसे पीछे से पकड़ा और उसके पंत के अंदर हाथ डाला तो देखा की उसकी पनटी एक दूं गीली हो चुकी थी.

मैने कहा “लगता है तुम्हे बोहोट दिन से छोड़ा नही गया है” वो शर्मा गयी और सिर हिलाया, और हम वहाँ से निकल गये.

रात के 1 बजे उसने मुझे टेक्स्ट किया की अगले दिन 2 बजे उसके घर आना. मैने ओके कहा, और हम दोनो ने अपने सेक्सी बातें फिर से स्टार्ट कर दी.

अगले दिन 2 बजे मैं उसके घर पहुचा और बेल मारी. उसने दरवाज़ा खोला तो मेरी आँख खुली के खुली रह गयी. वो एक सेक्सी निघट्य में थी, जिसमे उसका फिगर अकचे से दिख रहा था.

मैं अंदर गया तो उसने दरवाज़ा बाँध कर के लॉक कर दिया. मैने उसे अपनी तरफ खीचा और हम किस करने लगे.

हुँने करीब 10 मिन्स तक फ्रेंच किस किया और फिर उसने मुझे बेडरूम में ले कर आया. मैने उसकी निघट्य उतार दी, उसने अंदर कुछ नहीं पहना था.

उसकी फेर आंड रौंद चूचियाँ मेरे सामने थी, और उसकी चिकनी छूट देख कर मेरा 7.5 इंच का लंड एकद्ूम टाइट हो गया.

मैने उसकी कपबोर्ड से एक टीए निकाली और उसके हाथ बाँध दिया, और उससे बेड पर लिटा दिया. मैं उसके उपर आया और उसके चूचियों को मसालने लगा और उसके निपल्स चूसने लगा.

वो आआहह आहहहह मेरे राजा, तोड़ा धीरे करो आहह आहाहा.

और कहानिया   ककोल्ड पति ने बीवी को छुड़वाया गैरों से

मैने कहा “क्यूँ मेरी रानी? आज तो तू मेरी रंडी है, आज तो में तेरी छूट की सारी आग बुझा दूँगा” और मेने फिर से चूसना चालू कर दिया.

कुछ देर बाद मैने उससे किस करते करते उसकी छूट तक पहुचा, उसकी छूट एक दूं वाइट और चिकनी थी. मैने उसकी छूट को जानवरो की तरह खाना स्टार्ट कर दिया, और वो मज़े से पागल हो गयी.

वो चिल्लाने लगी और ज़ोर से खा जाओ मेरे राजा आहह आआआआः.

मैने उसे 15 मीं तक खाया, और फिर उससे घूमा के उससे स्पॅंक किया, उसे और मज़ा आने लगा. फिर मैने उसकी गांद को स्पॅंक कर कर के लाल कर दिया, और फिर उसके हाथ खोल दिए.

अब वो मुझे एक भूकि शेरनी की तरह किस करने लगी. उसने मेरी त-शर्ट उतरी और पंत भी, फिर उसने मेरा अंडरवेर खोला और मेरे 7.5 इंच का लंड देख कर बोली “इतना बड़ा! मेरे हज़्बेंड का तो 4.5 इंच का है”.

मैने कहा “इसलिए तो आज तुम्हे असली चुदाई का मज़ा पता चलेगा मेरी रानी, चल चूस”. और उसने मेरा लंड चूसना स्टार्ट किया.

वो एकद्ूम प्रो थी लंड चूसने में, मैं तो मज़े से पागल हो रहा था.

5-7 मीं बाद बोली, “और मत रूको मेरे राजा, आओ छोड़ो अपने रंडी को”.

वो मेरे उपर आ गयी और लंड अपने छूट में ले लिया और उछालने लगी. उसकी छूट बोहोट टाइट थी क्यूंकी उसका हज़्बेंड उससे एक दूं ही नही छोड़ता था. वो मज़े से उछाल रही थी और मैं भी मज़े ले रहा था.

5 मीं बाद वो झाड़ गयी.

मैने कहा “क्या हुआ, इतनी जल्दी सारी ताक़त ख़तम?”.

उसने कहा, नहीं, अभी भी बोहोट बाकी है.

मैने उसे खड़ी किया और मिरर के सामने ले गया, और उसकी गांद में अपने लंड डाला.

वो बोली धीरे, मैने कभी किया नही है.

मैने कहा “टेन्षन मत लो मेरी जान, अब आएगा मज़ा”.

मैने पास रखे ऑमंड आयिल को अपने लंड पर लगाया, और तोड़ा उसके गांद पे भी लगा दिया. फिर अपना लंड उसकी गांद पे रखा और एक धक्का दिया.

वो चिल्ला पड़ी, और थोड़े देर रुक के मैने फिर से एक धक्का लगाया. अब मेरा लंड पूरा उसकी गांद में चला गया. उसने दर्द झेला, और मैने धीरे धीरे लंड अंदर बाहर करने लगा.

अब उससे मज़ा आने लगा और मैने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी, वो ज़ोर ज़ोर से अयाया अया करने लगी और बोली “और ज़ोर से छोड़ो मेरे राजा, बोहोट मज़ा आ रहा है”.

मैने उसे ऐसे ही 5 मीं ज़ोर से छोड़ा, और फिर उससे डॉगी स्टाइल में छोड़ा.

करीब 10 मीं बाद मैं झड़ने वाला था.

उसने कहा उसके अंदर झाड़ जाने. तो मैने अपना सारा माल उसके अंदर डाल दिया.

हुँने से चुदाई का सिलसिला अभी तक चल रहा है. हम लोग जब हो सके तब चुदाई करते है.

बस अब उसके हज़्बेंड घर पर ज़्यादा रहता है इसलिए ज़्यादा कुछ होता नही है आज कल. अब मुझे दूसरे आंटी’स आंड भाभी’स को एक्सप्लोर करने का मॅन है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.