सराफत की देवी

मैंं यह मौका अपने हाथ से जाने नहींं देना चाहता था चोदने को तो सीमा को हर रात चोद कर अपने लंड** को शांत करता हूं मुझे  बहन से बहुत कुछ पूछना था मुझे या पूछना था कितने दिन बाद वह तुम्हें चोदा है क्योंकि बहन ज्यादा शरीफ होने का जो ढोंग रच रही थी. वह इतना आसान नहीं था अगर वो रोज चुदवाती तो मैं बहुत पहले उसे पकड़़ लिया होता, वह इस मामले में बहुत इमानदारी से चुदाई करा रहीी थी, उसेेे अपनी इज्जत पसंद थी चाहे चुदाई****दो 4 महीने में बाद ही क्यों ना हो हां बेशक विनोद चुचियों को दबा लेता होगा किस लेता होगा, लेकिन उसको चूत के दर्शन बहुत कम नसीब होता होगा, बहुत ढेरों  बातों कााा पिटारा लिए हुए मैं बहन के पास जाकर बैठ गया और उसका हाथ अपने हाथ में पकड़ कर मैं बोला तुमने ऐसा कब से करना शुरू किया है मेरे मन में या अभी चल रहा था.
अगर मैं बहन को जबरदस्ती चोद** भी देता हू तो भी कुछ नहीं कर सकेेगी, क्योंकि मैं वह वीडियो मां को दिखा कर बता सकता हूं केि देखो मुझे फंसाने के लिए ऐसा कर रही है मैं पूरा आगे पीछे देख कर पूरे  प्लान के साथ चोदने का जुगाड़ कर रहा था. अगर मैंं आ जबरदस्ती चोद देता हूं तो बेशक मैं चोद दूंगा लेकिन दोबारा मुझे चूत** के दर्शन नहीं हो पाएंगे मैं इसे लोंग टाइम तक करना चाहता था. मेरी बहन इतनी गजब माल थी. मैं उसे अपने हाथों से जाने देना नहींं चाहता था कुछ समय तो वह मुझसे कुछ ना बोली लेकिन मैं बोला तुम चुप रह कर क्या साबित करना चाहती हो वह रोते हुए बोली मुझे मााफ को, मां से और पापा से कुछ ना बताना मैं उनके निगाह में गिर जाऊंगी.
अब मैं उससे कभी भी बात नहीं करूंगी मैं बोला है कब से चल रहा है सही सही बताओ  बहन बोली लगभग 2 सालों से, मैं बहन को अपनी बाहों में सिर रखकर उसके गाल को सहलाने लगा फिर धीरे धीरे अपने हाथ उसकेे चुचियों ले गया और दबाने लगा बहन उठ गई तुुम क्या कर रहे हो मैं बोला अगर तुम विनोद से चुदवा सकती हो तुम मुझसे क्यों  नहीं मुझसे चुदाई करकरने में तुम को बहुत फायदा है पहला फायदा कि मुुझ पर कोई सक नहीं करेगा.
जिससे तुम्हारा जो इमेज बना है वह बना रहेगा,दूसरा फायदा तुमको घर में ही रिलेशन बनाने  में मदद मिलेगी और रात में मां पापा नीचे सोते हैं और दोनों छत पर सोते ही है,मैैैै तुम को घर में हमेशा मज़ा देता रहूंगा और सबसे बड़ी बात यह है कि अगर तुम मेरी बात नहीं मानी तो तुम्हारे बारे में मां को बता ही दूंगा अब तुम ही फैसला करो,
बहन। कुछ नहीं बोली मैं समझ गया इसको अपने इमेज़ के लिए कुछ भी कर सकती हैं. बहन की चुचियों को मसलने लगा वो भी इसका विरोध नहीं कि मैं अपने होठों को।   बहन के होठों पर रख कर चूसने लगा और फिर एक दूसरे से लिपट कर चुचियों को दबाने लगा, विनोद को  दिल से शुक्रिया अदा किया,, अब मैं धीरे धीरे। सारे कपड़े उतार दिए और बहन का बदन किसी संगमरमर की तरह चमक रहा था बहन की चुचियों और पीछे की ओर निकला हुआ चूतड मुझे सबसे अच्छा लगता है जो बहुत कम लड़कियां का होता है.
अब मैं बहन के दूधों को पीने लगा बहन का बहुत ज्यादा फर्क नहीं पढ़ रहा था लेकिन अब मैं अपना मुंह को बहन की चूत पर ले गया वह सिसकियां लेने लगी. वह अपने कंट्रोल करने की छमता खो    चुकी थी मैं पहली बार किसी लड़की का चूत चाट रहा था .मैं लगभग 2 वर्ष से मैं सीमा को चोद रहा था लेकिन कभी भी उनके चूूत को नहीं चाटा था. बहन मेरी बहुत साफ सफाई का ध्यान रखती है और मुझे बहन को पुरा मजा देना था कि वह मुझसे। बार बार चुदाई कराये,मैं इस मौके को हाथ से नहीं जाने दिया, मैं बहन के चूत** को चाट रहा था बहन हल्के हल्केे पानी चूत** से आने लगा.
मैं पानी का स्वाद लेने लगा और बहन से कहने लगा अरे रानी तू  इतना दिन अपने भाई से क्योंं दूर रही चूत 20 मिनट चाटनेेे के बाद लंड को**निकाला बहन की चूत** में डाल दिया फिर धीरे धीरे झटके मारने लगा बहन को झुका कर अपना लंड**पीछे से उसकेेे चूत** में*डाल दिया और झटके देने लगा और अपने दोनों हाथों से पीछे से दोनों चुचियों को पकड़कर पीछे सेेे झटके मार रहा था.
आज मैं बहन की चूत* को पाकर मानो इस जीवन में बहुत बड़ी सफलता पा गई हो जीवन का एक उद्देश्य पूरा हो गया हो फिर मैं अपनी बहन को उल्टा लिटा दिया और उसके च** में लंड** डालकर चोदने की स्पीड बढ़ा दी  चूत** से फाक हक फाक आवाज आनेे लगी* लगभग 25 मिनट चोदने के बाद झड़ गया बहन के  सर को अपनी बाहों में लेकर  सहलाने लगा और बोला आज तुम मेरी अमानत हो।  तुमको मेरी अमानत को बचा कर रखना होगा और मैं तुम्हारी इज्जत को , बहन  बोली विनोद से क्या बोलूंगी मैं बोला मैं उसका जुगाड़ कर दूंगा और बहन  जब भी घर में खाना बनाती हैं नहाती हैं कोई घर में नही होता हैै तो मैं बहन को छेड़ने लगता हूं जो वीडियो मैं रिकॉर्ड किया था अभी तक डिलीट नहीं किया.
15 दिन बाद बहन मुझसे आकर बोली कि विनोद मुझे बार-बार पकड़ लेता है. इसमें मैं क्या करूं तुम बाद मेंं कहोगे कि तुम जानबूझकर उसके  पास जाती हो, मैं बोला तुम आज एक काम करना तुम जब नहाने जाना तो विनोद को इशारे सेे बुला लेना और मैं वहां छिपाा रहूंग और जब देखूंगा कि विनोद तुम्हारी चुचियों को दबाने लागेगा तुरंत आ जाऊंगा और बाकी काम मैं पूरा कर दूंगा.  प्लान के मुताबिक बहन ने विनोद को इशारा करके पीछे की तरफ बुला ली पिताजी खेत मेंं गए थे, और मां गाय को चारा लेने गई थी, विनोद इधर उधर देखा और तुरंत घर के पिछले दरवाजे से घर में घुसा और बहन की  चुचियों को मसलने लगा. मैं तुरंत पिछलेेे रूम से निकला बहन को पहले ही बताया था की मुझेेे देखते ही विनोद को एक चांटा कस के मार देना ऐसा ही हुआ बहन मुझे देखी विनोद को एक चांटा मरी बहन बोली तुम क्या कर रहे हो, कुत्ते कहीं के शर्म नहीं आती मैं तुरंत विनोद को गाली देगा बाहर निकाल दिया और फिर मम्मी पापा को हम दोनों ने बताया मम्मी ने विनोद के मामा और नानी से बोला इसको अपनेेे घर भेज दो अगर यहांं पर रहा हमारा आपका आज से शादी विवाह में खाना पीना और सब रिश्ते खत्म हो जाएंगे विनोद शर्मिंदा होने के कारण खुद यहांं से चला गया  विनोद की मम्मी कहने लगी  तुझे शर्म नहीं आती बहन बेटी नहीं दिखती.
अब तो मेरे सारे टेंशन दूर हो गए थे हम और हमारी बहन सेकंड फ्लोर पर तीन कमरे बने थे. पीछे वाले कमरे में बहन सोती थी बीच वाला कमरा स्टोर रूम था और आगे वाला कमरा मेरा था जिसे मैं दरवाजे को अगर बंद कर दो तो नीचे से सेकंड फ्लोर पर कोई नहीं आ सकता था. अब तो रोज रात में खानाा खाने 2 घंटे पढ़ाई करने के बाद सब जब सोो जाते हैं बहन के कमरे में मैं चला जाता था और रात भर चुदाई करता था बहन को भी मज़ा आने लगा था. अब उसको कोई फर्क नहीं पड़ता था 4 साल बाद मेरी बहन की शादी हो गई उसके 2 साल बाद सीमा की शादी हो गई पिछलेे वर्ष विनोद की भी शादी हो गई, मेरी घटना बहुत लंबी है जो 4 साल लगातार चलेी 4 साल जब तक बहन को चोदता रहा. तब तक घरवालों के लाख कहनेे पर भी म कहीं  पैसे कमाने नहीं गया था, बहन को एक लड़का भी है अब मैं अपनी घटना को यहीं पर रोकता हूं.

Pages: 1 2 3 4

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *