रखी बहन की चूत की चुदाई

एक बार में छ्चात पर पत्नग उड़ा रहा था, तो एक पतंग काṭ कर मेरे पास वाले घर में जेया रही थी, वहाँ एक अंकल आंटी रहते थे और उनकी एक लड़की थी, जिसका नाम सोनी था. में उनको दीदी बुलाता था, क्योंकि वो मुझसे 3-4 साल बड़ी थी और वो मुझे राखी भी बाँधती थी तो अब में सṭओरी पर आता हूँ. फिर पत्नग काṭ कर उनकी च्चत पर चली गयी और में भी अपनी च्चत से कूदकर उनकी च्चत पर आ गया, ऊपर वाला कमरा सोनी दीदी का ही था. पतंग उनके कमरे के ऊपर थी, में वहाँ छाḍहकर पत्नग निकाल रहा था तो सोनी दीदी भागकर बाहर आइी, क्योंकि उन्हें खाṭआपाṭ की आवाज़ा आइी थी.

फिर उन्होंने कहा की कौन है वहाँ? तो मैंने बोला दीदी में हूँ पतंग लेने आया था, तो वो बोली ṭहीक है. फिर मैंने कहा दीदी पानी पीना है तो वो पानी देने लगी और फिर में पानी पीकर वहीं रुक गया और इंतज़ार करने लगा की शायद कोइ पतंग और काṭआकर आ जाए और फिर घर जाऊँगा. दीदी को लगा शायद में चला गया हूँ तो वो चेंज कर रही थी, में उनके रूम पर फिर से पानी की बोतल लेने गया तो देखा की दीदी अपनी ब्रा चेंज कर रही थी और मैंने उनके छ्छोṭए-छ्छोṭए बूब्स देख लए, वो ब्रा उतार कर अपनी बॉडी पर क्रीम लगा रही थी. यह देखकर मेरा लंड अपनी जीन्स में खड़ा हो गया और फिर उन्होंने ब्रा और टॉप पहन लिया और में भी चुपके से वहाँ से निकल गया.फिर जब रात हुई तो मेरा दिमागा और खराब हो गया. मुझे तो बस सोनी दीदी के बूब्स नज़र आ रहे थे, मेरा मान कर रहा था की उनके बूब्स को हाथ में लेकर उनको मसल डून. अब यही प्लान बनाने लगा की भाड़ में जाए पत्नगा बाज़ई, अब तो बस एक बार सोनी दीदी की छूट मिल जाए, पर कैसे? एक तो वो मुझे राखी बाँधती थी और उनको सेṭ करूँ तो कैसे? फिर 4-5 दिन तो मैंने मुṭह मार कर काṭ लए, लेकिन अब दिन नहीं काṭ रहे थे. ये सेक्सी कहानी चुदसीहौुसेवीफे.नेट पे पढ़ रहे है.एक बार दोपहर को मैंने उनके रूम पर जाने का प्लान बनाया और फिर उनके रूम पर जाकर मैंने उनसे कहा की दीदी पाḍहाने के लए कुच्छ कॉमिक्स है क्या?में बोर हो रहा हूँ. फिर उन्होंने मुझे पाḍहाने के लए कॉमिक्स डी और फिर में वही कॉमिक्स पाḍहाने लगा, वहाँ रूम में दीदी का एक सिंगल बेड ही था. फिर थोड़ी देर के बाद मैंने कहा दीदी नींद आ रही है, तो वो बोली इधर ही सो जेया, में भी यही प्लान बनाकर आया था, क्योंकि सिंगल बेḍआ था. फिर थोड़ी देर के बाद दीदी भी सोने के लए आ गाइ, वो एक काṭ आर्म्स वाला पिंक टॉप और वाइट शॉर्ट्स पहने थी. उनको लगा की में सो रहा होगा, लेकिन में तो मौके की तलाश में लेṭआ था.

और कहानिया   पडोसी शादीशुदा नीतू से चुदाई जब बीवी बहार

फिर 10 मीनाṭ होने के बाद मुझे लगा की दीदी सो गयी है तो मैंने करवाṭ बदलकर एक हाथ उनके ऊपर रख लिया. फिर थोड़ी देर के बाद दीदी मुझसे और चिपक गयी और उनकी बॉडी मेरे से टच होने लगी, उनकी खुशबू मेरा दिमागा खराब कर रही थी मेरा मान कर रहा था की बस अभी सब कुच्छ कर डून. फिर मैंने अपना मुँह उनके पास लिया और महसूस किया, तो उनके मुँह से गर्म-गर्म साँसे निकल रही थी, फिर मैंने अपनी जीभ उनके लिप्स पर लगाइइ, उनके बड़े सॉफ्ट लिप्स थे.फिर मैंने उनके लिप्स पर एक किस किया और फिर अपनी एक उंगली उनके टॉप में ḍआली जहाँ से बूब्स सṭआरṭ होता है और ऊपर से धारी दिखती है, साला वहाँ बड़ा ही सॉफ्ट पारṭ था. फिर मैंने उसमें अपनी पूरी उंगली ḍआल डी, लेकिन साली ब्रा बीच में आने लगी, तो में उनके बूब्स को ऊपर से पकड़कर दबाने लगा.फिर थोड़ी देर के बाद जब दीदी हिली तो मैंने अपना हाथ हाṭआ लिया और उनसे छिपककर सो गया. फिर जब में उṭहा तो मैंने देखा की दीदी भी उṭहाने वाली थी और फिर उन्होंने मेरे माथे पर किस किया तो मुझे अच्च्छा लगा और मैंने उनको गले से लगा लिया और मेरा मुँह उनके बूब्स पर था. फिर मैंने उनसे कहा दीदी मुझे भी किस करने दो, तो वो बोली कर ले तो मैंने उनके गालों पर किस किया. ये सेक्सी कहानी चुदसीहौुसेवीफे.नेट पे पढ़ रहे है.फिर मैंने कहा की दीदी और करूँ तो वो बोली करो ना. फिर मैंने कहा की दीदी आपके लिप्स पर कर लून? तो वो तोड़ा सोचने लगी और फिर बोली की चलो कर लो. फिर मैंने उनके लिप्स पर किस किया तो उन्होंने कुच्छ प्रतिक्रिया नहीं डी. फिर मैंने कहा दीदी मैंने आपको इतने किस किए, लेकिन आप नहीं करती तो वो बोली की अच्च्छा करती हूँ, तो मैंने कहा लिप्स पर ही करना. फिर तब उन्होंने लिप्स पर किस किया और फिर मैंने भी उनका पूरा साथ दिया. फिर वो नहाने जाने लगी तो में वहीं पर लेṭआ था. फिर वो नहाकार बाहर आइी और उनके गीले-गीले बाल मस्त लग रहे थे. फिर मैंने उनसे कहा की दीदी एक प्रॉब्लम है, तो वो बोली क्या?

और कहानिया   किसी के सात सगाई किसी के सात चुदाई

ऐनने कहा शर्म आती है तो उन्होंने कहा की बता ना क्या बात है? तो मैंने अपने लंड की तरह उंगली करके कहा की दीदी मुझे दर्द होता है और खुजली भी होती है. तो वो बोली क्या बात कर रहा है? फिर मैंने कहा आप प्ल्ज़ देख सकती हो, तो फिर वो बोली मुझे ऐसे नहीं पता क्या प्रॉब्लम है? फिर मैंने कहा की घर पर बताने में शर्म आ रही है इसलिए आपको बताया है.फिर वो मुझे बाथरूम में ले गयी और फिर उन्होंने कहा की दिखाओ, तब मैंने जींस और अंडरवेर उतारकर अपना लंड दिखाया और कहा की दीदी यहाँ दर्द होता है पता नहीं क्यों? फिर दीदी ने उसको अपने हाथ में लिया तो वो खड़ा होने लगा. तो मैंने कहा की दीदी इसमें खुजली भी होती है, फिर उन्होंने कहा यह तो होता रहता है. फिर मैंने कहा की दीदी मुझे आपका नीचे का देखना है, तो वो कहने लगी पागल है क्या? तो मैंने कहा दीदी प्ल्ज़ दिखाओ कैसी होती है? मैंने आज तक किसी का नहीं देखा, ये सेक्सी कहानी चुदसीहौुसेवीफे.नेट पे पढ़ रहे है.तो वो मान गयी और अपना शॉर्ट्स और पनटी उतार दिया. फिर मैंने कहा दीदी रूम में चलो यहाँ अंधेरा है तो फिर हम रूम में गए और अब में उनकी छूट पर हाथ फेर रहा था. अब उनको सेक्स छाḍहाने लगा था तो मैंने कहा की दीदी मेरे लंड में खुजली हो रही है, तो वो बोली दिखा ज़रा और उसको मुँह में लेकर चूसने लगी. फिर 5 मीनाṭ के बाद मेरा पूरा पानी उनके मुँह में ही चला गया और वो लाते गयी और फिर वो बोली रात को आना और मज़ए करेंगे. फिर में रात को उनके रूम में पाḍहाने के बहाने गया तो वो वहाँ बाईṭही हुई थी.फिर मैंने रूम का लॉक लगाया और कहा की दीदी मुझे आपको पूरा नंगा देखना है तो उन्होंने अपने पुर कपड़े उतार दिए और मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए और उनके बूब्स से खेलने लगा. अब वो भी मेरा पूरा साथ देने लगी थी.

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares