पूरी रात मरी भाभी की छेदें

हाय दोस्तों, मेरा नाम समीर सिंघानिया हे, में २१ साल का हु और मेरे लंड का साइज़ ६.२ इंच हे. यह स्टोरी मेरे घर के सामने रहने वाली एक जॉइंट फेमिली की बहु श्वेता भाभी की चुदाई की हे. एक बार मेरे घर के सभी लोग बहार गये हुए थे, और उनके घर के सभी लोग भी बहार गये हुए थे और वह लोग कुछ दिनों के बाद वापस आने वाले थे. में अपने घर में अकेला था और वह अपने घर में अकेली थी. जब मुझे कुछ जरूरत पड़ती तब में उसको कह देता था और जब उसको कुछ जरुरत पड़ती तो वह मुजको कह देती थी.

एक बार वह मेरे घर पे दूध मांगने के लिए आई हुई थी. मैने कहा की भाभी आप थोड़ी देर बैठिये में नहा के आता हु और फिर आपको दूध देता हु. फिर में नहाने चला गया और जब वापस आया तो भाभी टीवी देख रही थी और में जान बुच कर उसके सामने ही कपडे बदलने लगा पण हा मेरे ऊपर टावेल लपेटा हुआ था.

फिर मैने उन्हें दूध दिया और कहा की लीजिये भाभी दूध आपका दूध खतम हो गया है क्या?

वह मेरी साडी डबल मीनिंग बातो को समज रही थी पर कुछ रिप्ले नही देती थी और उसे बुरा भी नही लगता था. भाभी बोली और बताओ भैया क्या चल रहा हे. वह हमे प्यार से भैया बुलाती थी नॉर्मली सभी लोगो के लाइफ में जैसे होता हे. हम बोले कुछ नही भाभी बस बैठे रहते हे आप बताइए.

वह बोली के हा मेरा भी तो ऐसा ही हे मुझे भी कोई काम नही हे. हम ने कहा की ठीक हे चलिए अकेले अकेले रहती हे मजा ही आता होगा तो वह बोली की हां क्यों नही अकेले में जैसे बहुत मजा आता हे. अब में चलती हु मैने कहा ठीक हे.

में उसको उसे चोदने की इच्छा को सीधे सीधे नही बता सकता था, और भाभी तो क्या बवाल लगती थी एकदम कडक २८-२९-२८ का फिगर हे उनका और बहोत सुंदर भी लगती हे.

शाम को हम उनके घर ऐसे ही बात करने के लिए चले गए क्योकि हम घर पर अकेले बोर हो रहे थे तो वह साडी में थी तो मैने पूछा की भाभी अभी तो कोई घर पे नही हे फिर भी आप साडी ने क्यों हे? तो वह बोली के साडी में ही अच्छा लगता हे इसीलिए और बताइए आज हमारी याद कैसे आ गयी आप को? हम कहे की भाभी आपकी याद तो हमे हमेशा आती रहती हे आभी तो घर पर कोई नही हे तो जब भी खाली होते हे तो आपको ही याद करते रहते हे. वह बोली अच्छा अच्छा आप आपना मस्का आपने पास ही रखिये. हम पूछे की भाभी आप खली क्यों बेठी हे टीवी नही देखती हे क्या तो वह बोली की टीवी ख़राब हो गया हे तो हम कहे अरे गजब हे आप तो चलिए मेरे घर पे देख लीजिये और वह थोड़ी देर सोच के बोली चलिए.

और कहानिया   नौकर और ड्राइवर ने मेरी चुत फाड़ डाली

अपने घर आने के बाद हम टीवी कम और मजाक मस्ती ज्यादा कर रहे थे और हम डबल मीनिंग बातें भी बहुत कर रहे थे. वह फिर बोली समीर भइया आप जो डबल मीनिंग बातें करते हैं मैं वह सब समझती हूं हम तो थोड़ा सोचने लगे कि अब कुछ बात बन सकती है तो हम बोले कि अगर भाभी आप सब समझती हैं तो कुछ रिप्लाई क्यों नहीं करती तो वह बोली इसमें रिप्लाइ देने वाली कौन सी बात है…

हम कहे अच्छा भाभी आप नाराज तो नहीं होती ना?

वह बोली नहीं जी आप पागल है क्या? हम आपकी बातों से नाराज क्यों होंगे? फिर वह हमसे अचानक पूछे अच्छा यह बताइए की कितनी गर्लफ्रेंड है आपकी तो हम कहें एक भी नहीं. तो बोली अच्छा जी कभी सच भी बोल दीजिये. अच्छा यह बताइए कि कितने लोगों के साथ किये है? हम कहें की क्या किया है? वह बोली इतना डबल मीनिंग बातें करते हैं पर समझते नहीं है ऐसा तो हो नहीं सकता कितने लोगों के साथ सेक्स कीया है? हम थोड़ी देर के लिए चुप हो गए फिर अपने अंदाज में बोले की भाभी नहीं कहां किया है लड़कियां आसानी से देती नहीं है तो वह बोली अरे तो उसमें क्या है एक सुंदर सी लड़की पटाईए और कर लीजिये अपना काम… यह बोलते हुए वह हमें मजाक में अपनी तरफ खींच रही थी. हम कहें अच्छा भाभी अगर हम आपके साथ सोना चाहे तो..

तो वह थोड़ी मुस्कुराई और बोली अगर सोना है तो सिर्फ सोएंगे और कुछ नहीं और हम हंस के कहे की अरे भाभी सोने का मतलब हम आपके साथ सेक्स करना चाहते हैं. उसे तो कुछ भी समझ नहीं आया कि क्या कहे उस रिएक्शन को फिर वह बोली अच्छा मतलब हम ही मिले थे? अब सब कुछ क्लीयर था. तो हम बिना कुछ बोले उनका हाथ पकड़े और पीछे की तरफ मोड़ के उनके गले से बाल हटा कर गले पर पर हाथ रखते हुए उन्हें लिटा दिए.

और कहानिया   सुष्मिता भाभी का जवाब नहीं भाग 2

फिर उनके गले पर किस करने लगे वह एकदम चुप थी. फिर उन्हें गले पर किस करते हुए ओठो पर किस करने लगे और अपना सीना उनके बूब्स पर दबा रहे थे फिर क्या बताएं गजब का मजा आ रहा था. फिर किस करते हुए नीचे आ रहे थे और उनकी चुचियों को ब्लाउज के ऊपर से किस कर रहे थे फिर उनके पेट पर आये और दोनों हाथों से पेट के साइड से दबाए और बीच में किस किये तब उन्हें आवाज निकाली आह्ह अहह अहह उम् औम्म्मम्म.

फिर नीचे जाने की बजाए और वापस चुचियों की ओर आए और चुचियों को किस किया और इस बार जोर से दबा कर अब वो आवाजें निकालना शुरू कर दी अहः मम्म उम्म्म्म अह्ह्ह्ह ओह्ह्ह्हुह उह्ह्ह्ह अईई अम्म्मम्म.

फिर नीचे से उनकी सारी की गांठ खोल दिया और उन्होंने अपनी सांसे छोड़ दी फिर मैंने उठ कर लाइट ऑफ कर दी और डिम लाइट जला दी. फिर मैंने उनके ऊपर लेट गए और लेटते ही अपना सारा भार उनके ऊपर दे दिए. उनकी चुचिया दब गई थी और मेरा लंड उनके पेट की नाभि के नीचे था फिर मैंने उन्हें घुमा के साड़ी निकाल दी और उन्हें पेट के बल कर दिया.

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares