क्लासमेट प्रियंका चॉप्रा की चुदाई कहानी

मी नामे इस सार्थक अग्रवाल. ये उन दीनो की बात है जब मे इंटर मे पड़ता था. मेरी तूतिओं मे एक लड़की पड़ती थी जिसका नामे प्रियंका था. वो देखने मे ग़ज़ब की खूबसूरत थी. एक दिन वो बड़े गले का सूट पहन कर आए और मेरे पास बैठ गयी. हम लोग सबसे पिट्‍चे बैठे थे. उसके बड़े माममे मजे दिख रहे थे. तबी मेने अपनी टाँगे उसके झांगे से टच करा दी. उसने मूज़े सेक्सी निगाहो से देखा और मुस्कुराइ. मेरी हिम्मत बढ़ गई और मेने अपना राइट हॅंड उसकी लेफ्ट झांगे पे राक दिया और हल्के सहलाने लगा. मेरा हाथ टेबल के नीचे था इस लिए कोई मुझे देख नई पा रहा था. वो एलास्टिक वाला ट्राउज़र (सलवार) पहने थी. जब उसने कोई ऑब्जेक्षन नई किया तो मेने तोड़ा सा टॉप (कुर्ता) उतकर अपना हाथ उसके कुर्ते मे पेट पे राक दिया. मेने फील किया की उसकी साँसे तेज़ी से चल रही थी. तबी मेने अपना हाथ उसकी पनटी मे दल दिया. ये क्या…. उसकी पनटी तो एकदम वेट थी. तबी मेरा ध्यान उसके बूब्स पेर गया वो ब एकदम नुकीले और टाइट हो राई थे. मे समाज गया के प्रियंका गरम हो गई है. मेने उसकी तपती योनि पे हाथ राक दिया. वो हल्के से सिसकारी लेने लगी. तबी उसने ब मेरा लिंग पंत के अप्पर से ही पकड़ लिया और सहलाने लगी. पहली बार किसी लड़की की योनि पे मेने हाथ राका था मे ब पागल हो गया था. मेने उसका क्लाइटॉरिस पकड़ लिया और उसे दबाने लगा.

उसकी योनि लगातार पानी छोड़ राई थी जो बहकर बर के नीचे बहता जा रहा था. तबी मेने उसकी चुत के बहहे पानी को हाथ मे लिया और छत लिया. वो एकदम नमकीन सा टेस्ट था. तबी मेने अपना लिंग एक मिनिट को बाहर निकाला जो एकदम गीला होरहा था. मे आपको बता डू के मेरा लिंग 8इंच लंबा है. मेने डेका वो मेरे लिंग को बड़े गौर से अपनी आँखों मे उतार रही थी. अपना लिंग अंदर करने के बाद मेने फिर उसकी योनि मे हाथ दल दिया. फिर मेने अपनी 2 फिंगर्स उसकी योनि मे दल दी और ज़ोर से हिलने लगा. 2-3 मिनिट तक मे उसका हॅस्ट मैथुन हल्के करता रहा. एका एक उसका शेरर आकड़ा और एकदम से वो शांत हो गई और उसकी योनि से वाइट ट्रॅन्स्परेंट जेल्ली के जैसा गेल बहके बाहर आया जिसे मेने हाथ मे लेके मौत नीचे करके छत लिया. फिर तूतिओं का टाइम ख़त्म हो गया. जाते पे उसके फेस पे सॅटिस्फॅक्षन के भाव थे. वो मुझे प्यार भारी निगाहो से देख रही थी. मे रूम रेंट पे लेकर पड़ाई कर रहा था. अपने रूम पे मे अकेला ही रहता था. मेरे हाउस ओनर का हाउस मेरे रूम से काफ़ी डोर था. प्रियंका ब रूम रेंट पे लेकर, अपनी एक रूमेट के साथ अकेले रहती थी.

और कहानिया   मैने कैसे चुदाई सीखी

दोनो के रूम्स सेपरेट थे. मेने उसी दिन रत को 11 बजे उसे फोन किया तो वो बोली क्या कर रहे हो? मेने कहा तूमे याद कर रहा हू. फिर हम दोनोने ढेर सारी सेक्सी बातें की. मेने उससे पूछा की क्या तुमने किसी से अब तक चुडवाया है? तो वो बोली नई. मेने पूछा के अब क्या इरादा है छुड़वाने का? तो वो कुछ नई बोली. मेने पूछा के क्या तुमने अब तक ब्लू फिल्म देकी है? वो बोली नई. उसके रूम मे कंप्यूटर ब था पर इंटरनेट नई था. वो बोली के मुझे ब्लू फिल्म देकनी है. मेने कहा ठीक है कल मे तुम्हे ब्लू फिल्म की सीडी तूतिओं मे कॉपी मे रखके दे दूँगा. मेने उससे पूछा की क्या तुम हॅस्ट मैथुन करती हो? वो बोली एस. मे तो रोज नहाते पे यटो फिंगर से या फिर पानी की तेज़ धार पीपे से अपनी योनि पे डालती हू 2-3 मिनिट मे मेरा हो जाता है. मेने उससे कहा के मे तो अपने लिंग को मुट्ठी मे पकड़के उपेरणीचे करता हू.5-10 मिनिट लगातार करने के बाद मे जड़ता हू. नेक्स्ट दे मेने उसे सीडी दे दी. रत को मेने उसे फोन किया तो वो सीडी देख राई थी. उसकी आवाज़ बदली हुई थी. वो मुजसे बोली के इन सीडी मे तो लड़का काफ़ी देर से करीब 50 मिनिट से लड़की के धक्के लगा रहा है, इतनी देर मे तो मेरा जाने कितनी बार झाड़ जाएगा? मेने कहा सीडी मे तो मेडिसिन लेकर सेक्स करते हे. वो बोली मूज़े जाड़ा देर तक झड़ने की मेडिसिन लाकर डेडॉ. मेने कहा दे दूँगा. फिर वो बोली के 1 मिनिट फोन होल्ड करो मे अपना नाइट सूट का टॉप उतार रही हू. टॉप उतरने के बाद मेने कहा के ट्राउज़र ब उतर्दो. और वो केवल ब्रा पनटी मे थी. मेने ब्रा पनटी ब उतरवा दी. उसने मुजसे कहा के तुम ब पूरे न्यूड हो जाओ. मेने ब सारे कपड़े उतार दिए.

और कहानिया   वर्जिन लड़की के सात पेलम पेली

वो जाके एक कॅंडल उटा लाई. और मुजसे कहने लगी क मूठ मरो तुम ब और मे ब. फिर हम दोनो मूठ मारना और उंगली करना शुरू कर दिया फोन पर ही. 3-4 मिनिट तक हम दोनो पूरे जोश से अपना हॅस्ट मैथुन करते रहे फिर हम दोनो एक साथ जाके झाड़ गये. वो बोली बहुत मज़ा आया तुम्हारे साथ फोने पे सेक्स करने मे. मेने कहा जब आमने सामने करोगी तो इससे ब जाड़ा मज़ा आएगा. अब तो हम दोनो का रूल बन गया, रोज रत को हम दोनो फोन पे ही पहले मूठ मरते फिर झाड़ के सो जाते. 3 डेज़ के बाद मेने सनडे मॉर्निंग को उसे अपने रूम पे बुलाया. वो जीन्स टॉप पहन कर आई. वो बाग मे अपने कपड़े ब रखके लाई थी. मुजसे बोली की ज रत मे यही रुक जौ तो तूमे कोई एतराज तो नई? मेने कहा मुझे क्यों होगा. भारी गर्मी के दिन थे. मे उसके पास गया और उसकी आँखों मे देखता रहा और फिर मेने अपने तपते होत उसके होतो पे राक दिए और चूसने लगा. वो ब मेरे होत चुस्ती रही करीब 10 मिनिट तक. उसके बाद मेने उसके माममे दबाना शुरू कर दिए. अब मेरा 8 इंच लंबा लिंग पूरी तरह से टन चुका था. उसने मेरी पंत उतार दी और मेरा लिंग अपने मौत मे लेकर चूसने लगी.उसे पूरा नशा चाड चक्का था और डेक्ते ही डेक्ते उसने मजे नंगा कर दिया और मेरे शरीर को चाटने लगी.

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares