पति पत्नी और वो

दोस्तों मेरी इस कहानी में जो किरदार है जीने मैं खुद पहचान था हो जिसमें वंदनाभाभी बिल्कुल मिनाक्षी जैसी दिखने में है जो बहुत सेक्सी और चुदाने के लिए बलवंत नामके शख्स के साथ अपना बिस्तर अपने पति के पीठपिछे गर्म करती है, बलवंत जो काफी तगड़ा और दिखने में बिल्कुल साऊक्थ सुपरस्टार चीरंजीवी जैसे दीखता है और उसके पति वीजू एकदम ऋषि जैसे ही दिखाई देता है,

एक दिन अपने पतीके साथ वंदनाभाभी मार्केट के लिए निकली, बहुत दीन हो गए थे बल्लू के साथ उसने अपना बिस्तर गरम नही किया था, अभी वो बेहद बेकरार थी कि कब बल्लू से मिलकर उसकी बाहोमे अपने आपको समा दू,
वो अपने पतीसे बोली
वीजू चलो ना मुझे टेलरके पास जाना है
क्यों वंदना क्या हुआ
नही नाप देने जाना है
ओहके ठीक है फिर अपने अपार्टमेंटके नीचेवाले टेलरके पास या फीर और कहीं
नही वो वहा बल्लू नामका एक टेलर है उसके पास जाना है, आ रहे हो क्या? या फिर मै जाकर आ जाऊ तुम घरपर जाकर आराम करो मै आती हू
नही चलो मै भी आता हू
ऊफ्फ वीजू तुम क्या करोगे आकर तुम घरपर आराम करो मै आती हु
अच्छा बाबा ठीक है लेकिन जल्दी आना,
और वीजू घरके लिए निकल गए
और वंदना जाकर पहुंची बल्लूके दूकानपर
हाय बल्लू कैसे हो
ओह भाभी आज तुम यहा, वहा बल्लू का एक संतोष नाम का नौकर था वो देखकर शॉक हो गया अर ये तो अपने वीजू सेठ की बीवी मेरे सेठको कैसे पहचानथी है
भाभी बोली, हा बाबा तुम्हारे पास मेरे लिए वक्त रहेगा तब ना
ओह एसे क्यु बाते कर रही हो
वो सब छोडो चलो मुझे करना है आज अभी, अरे हा धिरे बोलोना कोही सुन लेगा तो
सुनने दो किसे सुनना है भाभी बल्लूके नजदीक जाकर बोली, बल्लू एक पप्पी दोना मुझे
हा भाभी देता हु, कलही मैने ब्लुफिल्म देखी थी कल रातको तुम्हें खुब मिस किया मैनै, आज तुम्हे कैसे खुश करता हु तुम देख लो, मझा आएगा तुम्हें देख लो
वो सब छोडो और तुम्हारे नौकरोको यहासे भगाओ जल्दी वीजु घरपर मेरी राहमै बैठे रहेंगे
अरे संतोष इधर आओ ये लो दोसौ रूपये और तुम लोग एक घंटा आराम करके आ जाओ जरा मेरा काम है मॅडमके साथ
वहा संतोष मनही मनमे बोला साले मेरा सेठ, भाभीको मस्त पेलेगा अभी, मै बाकी सबको भेज देता हु और छुपकेसे देखता हु क्या काम है मेरे सेठ को
संतोषने वही किया बाहर जाकर सबको बोला आप सभी लोग आ जाओ मै आता हू काम निपटाकर
तभी अंदर वंदनाभाभीने बल्लू को अपनी बाहोमे लपक लिया था और अपना ब्लाऊज निकलवाया
बल्लूने मेजरींग टेप ली और वंदनाभाभीके बुब्सके साईझका नापने लगा
ऊफ्फ बल्लू स्स्सहा
और भाभीसे रहा नही गया और उसने बल्लूको अपनी और खिंचकर अपने बुब्सके बीचमै एक पप्पी ले ली
ऊफ्फ बल्लू मझा आ रहा है मेरे राजा
बल्लूने और चुमना चालु कर दिया
भाभीने बल्लू का सर पकडकर अपने बुब्सके साथ मस्ती करवा रही थी और बल्लूका शर्ट उतरवाया और वो बेकरार थी की कभी मेरे छोटे बल्लू के साथ मै मस्ती करू तभी बल्लू ने भाभीकी भरी गांड दबाने चालू कर दी
बल्लूने ऊठकर भाभीकी भरी गांडके बीचमे अपना तगडा केला खडा करके घिसनेका आनंद ले रहे थे और अपने हाथोंसे भाभी के बुब्स दबाते रहै
ऊफ्फ बल्लू यु नॉटी
चलो ना पॅन्ट उतारो ना अपनी और लेट जाओ यहा तुम्हारी मशीन पर
और बल्लूने वहीं कीया अपना नौ ईंचका तगडा लौडा खडा करके मशीन पर लेट गया
भाभीने अपने हाथोंसे अपने बुब्स दबाकर दोनो बुब्स के बीचमे रखकर बल्लू को खुश कर दिया
औह स्स्सहा भाभी क्या मझा आ रहा है जानेमन
ये सभी बाते बाहरसे संतोष सुन रहा था अभी उससे रहा नही गया और उसने एक आयडिया की एक दिवारको थोडासा पुश किया और देखा तो बल्लूसेठ आरामसे मशीन पर लेटे थै और वंदनाभाभी अपने सेठको खुश कर रही थी
भाभी बस गिराओगी क्या, अंदर नही लेना क्या
ओह बल्लू ये तुम्हारा ईतना गरम है की मै भुल गई, चलोना जल्दी करो वहा मेरा पती घरपर राह देख रहा है और यहां तुम हो जो मेरे बुब्सके पिछेही पडे हो
ओह अच्छा भाभी और बल्लूसे भाभीको खडा कीया और वापस उसकी नरम गांडमे अपना लौडा खडा किया और घिसने लगा
ऊफ्फ बल्लू मझा आ रहा है अंदर डालोना मेरे नॉटी
और भाभी झुकाकर मशीन पर अपने हाथ रख दिए और बल्लूने भाभीके अंदर अपना सामान डालकर मझेसे पेल रहा था
स्स्सहा बल्लू कितना मझा आ रहा है
ऊ ला ला
वंदनाभाभी भी अपने कुल्होंकी मदद से बल्लू के तगडे सामानको झटके दे दे कर मझे लुट रही थी
वहा बाहरसे संतोष भी इन दोनोके रासलीला का मझे ले रहा था
कमसे कम बीस मिनट बाद बल्लू ने वंदनाभाभी के भरे कुल्होंके ऊपर अपनी मोटि लस्सी गीराई
दोनोभी पसीने से लथपथ थे वंदनाभाभीने अपने पतीको कुछ काम निकालकर बाहर भेजा था और यहा बलवंतको उपर बुला दीया और जल्दबाजीमे दोनो भी दरवाजा बंद करना भुल गए…बल्लूने बहोत दिन हुए थे उसको ठोका नही था इसके लिए वो भी बेहद बेकरार था कि कभी सालीको बिस्तर पर लेकर अंदर घुसाकर मझे मारता हु
आतेही बल्लुने उसे मस्त रसीली पप्पी दे दी वो भी उसके सिनेपर नरम जगहपर और बोला तेरा पती तो नही आ टपकेगा ना?
ओह बल्लू छोडोना मेरे पतीको तुम बस मेरे आम खाओ गुठलियोका दाम मत पुछो और अगर वो आज आ भी गया ना तो भी मै तुम्हे नही छोडने वाली आज उसके सामनेही तुमसे करवाती हु देख लेना तुम
वंदनाभाभी अपना कंट्रोल खो बैठी और उसकी पेन्ट उतरवाकर उसका मोटा लंड अपने मुंहमे ठोस लिया और अपने नरम बुब्स दबादबाकर उसके बीचमे घिसवाकर ले लिया और अपने बबलोपर पटक पटककर बल्लुको और गरम कर रही थी
बल्लुने उसके गाउन उतरवाया और उसकी प्यासी जवानीकी भुक मिटा रहा था उसने उसकी निकर निकलवाकर अपने होठोसे उसकी गरम जगहपर पप्पी दी और ऊंगली डालकर उसे गरम कर डाला
ऊफ्फ बल्लू फक्क् मी..चलो करो ना जल्दी और उसने ऊसके सामने रखी हुइ अपने पती साथवाली तस्विर बिस्तर पर फेक दी.
बल्लुभी बडे आरामसे उसे ले रहा था
उसने बल्लुको पुरा नंगा किया और बिस्तरपर चढ बैठी
भाभीकी नरम और बडी गांड देखकर बल्लुके मुंहमे पानी छुट गया बस उसने अपने मुंहसे थोडी थुक अपने हाथोंमे लेकर अपने बडे लौडेपर घिसाकर अपना लंड वंदनाभाभीके अंदर डाल दिया और आरामसे बैठ गया अप जो भी करना था वो वंदनाने शुरु किया उसने अपने कुल्हे उठाउठाकर बल्लुके दोनो हाथोंसे अपने नौकिले आम दबवाने ले गइ ..बल्लुने बडे आरामसे उसे दबाया और उसे ऊक्सा रहा था दोनोका रासलिला ऊस हसीन मोड पर आ गया था..

और कहानिया   ये उन दिनों की बात है भाग 4

अचानक वहा वंदना नाइकके पती वीजु आ गए उन्होने देखा दरवाजा खुला है और उनके बीवीके चिंखने चिल्लानेकी आवाजे आ रही थी वो सुनकर हैरान.थे क्योकी वो बल्लू बल्लूके नाम से चिल्ला रही थी उसकी धडकने अभी बढने लगी थोडी हिम्मत करके वो आगे आए तो देखा उसकी बीवी एक पराए मर्दके साथ गुल खिला रही थी और वो शक्स दिखनेमै बिल्कुल साऊथ के स्टार चिरंजीवीका हमशक्ल था वो भी उसे मस्त पिछेसे ठोक रहा था और उसके आम दबा दबाकर उसे बेहद खुश कर रहा था
स्स्स्स्स बल्ल्ल्ल्लू जी
स्स्स्स्हहा स्स्हा बल्लुजी आरामसे करीएना कितना मझा आ रहा है ..कितना बडा है आपका…
ये सब देखकर विजू भडक उठे
वंदन्न्ना ये सब क्या चल रहा हे
बल्लुजी ये कब आए
स्स्स्ह चलो अच्छा हुआ इसने हम दोनो आज देख हि लिया
चलो तुम ध्यान इधर दो देखने दो उसे आरामसे…
और अपने पतीके सामनेही वंदनाने बल्लुसे ठुकवाकर लिया और उसकी मोटी लस्सी भी मुंह मे ले डाली.
विजु अपने सरपे हाथ मार बैठे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares