गैर मर्द से पहाड़ो में चुदाई

बिमलेश- हेलो, कैसे हो?

राजेश- हेलो, मस्त हूँ यार आप सुनाओ?

बिमलेश- हम भी मस्त हैं, और सुनाओ फोटो देखे आपने?

राजेश- देखे थे फोटो, आपकी रसीली मुनिया और मस्त मम्मों को देख कर योगीराज पागल हो गया था, रात को दो बार मुठ मारी तब जाकर राहत मिली और तब जाकर नींद आई रात को फिर सपनों में तेरी रसीली चूत को अच्छे से चाटा और चूसा वो भी शहद मिला कर चाटी और फिर तुमने भी मेरे योगीराज को भी शहद लगा कर चाटा। फिर हम बाथरूम में साथ नहाये और शावर के नीचे चुदाई की और घोड़ी बना कर सोफे पर लिटा कर गोदी में उठाकर अलग अलग पोजीशन में रात भर सपने में चोदा। और अभी फिर तुम्हारी आवाज सुनकर योगीराज खड़ा हो गया।

विमलेश- मेरी भी मुनिया तुम्हारी सेक्सी बातें सुनकर पानी छोड़ रही है, पैंटी भिगो दी मेरी इसने!

राजेश- फिर तो जानेमन, अब मुझसे चटवा ही लो इस रसीली मुनिया को… इसका पूरा रस चाट जाऊंगा और चूस लूँगा।

बिमलेश सेक्सी आवाज में- आओ ना राजेश डारलिंग, चाट लो या चूस लो मेरी रसीली को, अब तो बहुत परेशान कर रही है ये मेरी मुनिया, योगीराज अंदर लेने को तड़प रही है।

राजेश हंसते हुए- योगीराज लेने को तड़प रही है या योगीराज से चुदवाने को तड़प रही है।

बिमलेश- हाँ, वही चाहती है पर मुझे शर्म लगती है कहने में!

राजेश- यदि कहने में इतना शर्माएगी तो चुदाई का मजा कैसे ले पायेगी। तुम कहो तो अहमदाबाद आ जाऊ तुमको चोदने?

बिमलेश- सच! क्या तुम आ सकते हो अहमदाबाद?

राजेश- हाँ आ जाऊंगा तुमको चोदने, यदि तुम कहोगी तो?

बिमलेश- डारलिंग पर यहाँ कैसे चुदवाऊंगी, किसी ने देख लिया तो यहाँ तो सब जानकार हैं।

राजेश- फिर कैसे होगा? तुम अपने पति से बात करो, यदि तुम माउंट आबू आ जाओ तो मैं भी माउंट आबू आ जाऊंगा और फिर वहाँ हम लोग चुदाई का आनन्द लेंगे। यदि आपके पति तैयार हो जायें तो!

और कहानिया   अनजान लड़को ने चुत का भोसड़ा बनादिया

बिमलेश- ये कहना तो मुश्किल है, हाँ वो कभी कभी मुझसे मजाक में कह देते है कि हम तुम फोन पर तो चुद ही रही हो तो उससे मिलकर ही चुदवा लो, पर मैं ही मना कर देती हूँ, पर अब तो बहुत दिल करता है तुमसे मिलने को और योगीराज से खेलने को और चुदवाने को भी!

राजेश- फिर तो कर लो बात शायद मान जायें?

बिमलेश- आज रात देखूंगी यदि अच्छे मूड में हुए तो जब हम चुदाई करेंगे तब कहूँगी उनसे… तब ही बता पाऊँगी।

राजेश- ठीक है, तुम बस मिलने की बात कहना, यदि मिलने को मान गए तो फिर जब होटल में मेरे रूम में आओगी तो दरवाजा बंद करके चुदाई कर ही लेंगे, आपके पति को क्या पता चलेगा।

बिमलेश- ठीक है आज रात बात करुँगी, अब खाना बना लेती हूँ वो आते ही होंगे, बाय!

राजेश- ओके डार्लिंग बाय किस यू मुआह हहहह…

बिमलेश- उम्म्ममहहह…

फिर हिम्मत ने मुझसे अगले दिन सुबह बात की और कहा कि मैंने शाम को आकर बताया कि 13 मार्च को मुझे माउंट आबू जाना है एक काम से, चलोगी क्या?

तो उसने कुछ नहीं कहा पर वो खुश दिख रही थी.

जब रात में बिस्तर पर हम दोनों लेटे लेटे ब्लू फिल्म देख रहे थे तो बिमलेश बोली- देखो इस गोरे का लण्ड बिलकुल योगीराज जैसा है, कितना मजा आ रहा होगा इसको!

तो मैं बोला- यदि तुम अपने दोस्त के योगीराज से चुदोगी तो तुमको भी ऐसे ही मजा आएगा.

फिर मैंने बिमलेश को कहा- डारलिंग तुम मेरे साथ माउंट आबू चलो और अपने दोस्त को भी बुला लो और मौका देख कर मस्ती भी कर लेना और खूब चुदवा लेना अपनी रसीली मुनिया को खूब चटवाना और चुसवाना और तुम भी योगीराज को चूस कर अपने दोस्त को मजा देना।

बिमलेश बोली- तुमने तो मेरे मन की बात जान ली। तो कल मैं मेरे दोस्त से कह दूं कि माउंट आबू आ जाओ 13 मार्च को?

और कहानिया   कमीनी कामिनी की गाता भाग 1

तो मैंने कहा कि तुम यदि बिना कंडोम के उसके लण्ड का मजा लेना चाहती हो तो उसको एच आई वी टेस्ट करवाने को कह देना।

तो वो बोली- वो तो बिना कंडोम के ही चुदवाऊंगी, कंडोम में वो मजा नहीं आता। मैं कह दूँगी एच आई वी टेस्ट की।

मैंने कहा- उसको बोल देना कि हमको वो आबू रोड बस स्टैंड पर मिल जायेगा सुबह 11 बजे तक…
‘मैं कह दूँगी…’

फिर हमने दो बार चुदाई की और आज हमने एक दूसरे के लण्ड चूत को भी खूब चूसा, जब मैं उसकी चूत चाट रहा था तो वो बड़बड़ा रही थी- राजेश चाटो चूसो मेरी रसीली मुनिया को… और तेरा और तेरे योगीराज का नाम ले लेके चुदवाई। आज तुमसे वो बात करे तो तुम लोग प्लान कर लेना, 10-12 दिन हैं, 13 मार्च के आराम से एच आई वी टेस्ट करवा लो, रिपोर्ट आ ही जायेगी। फिर तुम खूब बिना कंडोम से चोदना मेरी बिमलेश को! फिर हमारी बातें खत्म हो गई।

ग्यारह बजे बिमलेश ने मिस कॉल दी, मैंने हिम्मत को कॉन्फ्रेन्स में लेकर बिमलेश को फोन किया।

बिमलेश- हेलो, डारलिंग कैसे हो?

राजेश- मस्त हूँ डार्लिंग, आज तो काफी सेक्सी मूड में लग रही हो।

बिमलेश- डार्लिंग तुमको एक खुशखबरी सुनानी है, वो रात को उन्होंने मुझे बताया कि वो 13 मार्च को माउंट आबू जा रहे हैं तो मैं भी साथ चलूँ और बोले कि अब फोन पे तो खूब मस्ती कर ली, यदि तुम चाहो तो अपने दोस्त को माउंट आबू बुला के वहाँ पर भी मस्ती कर लेना, तो मैंने कहा दिया कि बात करूंगी।

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares