पड़ोसन की नाज़ुक चुत का भोसड़ा बनादी 2

मैंने अपने हाथों से उसकी चूत को पानी लगाकर धो दिया और उसके बाद में उसको अपनी गोद में उठाकर बेडरूम में ले आया. अब वो मेरा लंड अपने एक हाथ से पकड़कर बहुत धीरे धीरे अंदर बाहर करके लोलीपोप की तरह चूस रही थी और में उसकी चूत को चाट चूस रहा था और मेरे दोनों हाथ उसके बूब्स पर थे. में लगातार बूब्स को भी निचोड़ रहा था, जिसकी वजह से वो जोश में आ रही थी.

कुछ देर बाद मैंने उसको मेरे लंड पर कंडोम को चड़ाने के लिए कहा. तभी उसने जल्दी से मेरे लंड पर कंडोम चड़ा दिया और वो मुझसे बोली कि आज में तुझे चोदूंगी और अब वो मेरे ऊपर आ गई और मेरी सवारी करने लगी और करीब पांच मिनट के बाद वो झड़ गई. उसके बाद मैंने उसको अपने नीचे ले लिया और लंड को चूत में डालकर ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर चोदने लगा और वो भी पूरे जोश में आकर मेरा साथ दे रही थी और अपने चूतड़ को धीरे धीरे उठा रही थी. दोस्तों जब तक में झड़ा वो तीन बार झड़ चुकी थी.

उसके बाद में अपनी चुदाई खत्म करके वापस आ गया और वो मेरी चुदाई से बहुत खुश व पूरी तरह से संतुष्ट हो चुकी थी, क्योंकि उसके पति ने अब तक उसको वैसा सुख और चुदाई का मज़ा नहीं दिया, जो मैंने उसको दिया था. ये कहानी आप हिंदी पोर्न स्टोरीज डॉट ऑर्ग पर पढ़ रहे है..

उसके बाद में अब जब भी दिल्ली जाता तो उसको पहले से फोन करके उसके साथ चुदाई का प्रोग्राम बना लेता और उसको बहुत जमकर चोदा करता और हर बार में उसके पास कुछ घंटे बिताया करता, लेकिन अब करीब 6 महीने से वो मुझसे बात नहीं कर रही है और मुझे पता नहीं वो मेरे साथ ऐसा क्यों कर रही है. मैंने उसको अपनी तरफ से बहुत बार फोन किया, लेकिन वो हमेशा मुझसे कहती है कि यह गलत नंबर है और वो इतना कहकर मेरी पूरी बात सुने बिना ही फोन कट कर देती है, मुझे पता नहीं उसके साथ ऐसी क्या समस्या हो सकती है, हो सकता है कि उसकी कोई मजबूरी होगी,

और कहानिया   ऑफिस में मेरी सामूहिक पेलमपटी

इसलिए वो मेरे साथ ऐसा व्यहवार कर रही है, लेकिन में उसको आज भी बहुत मन से चाहता हूँ और उसको अपना बहुत सारा प्यार दोबारा देना चाहता हूँ.

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *