पड़ोस वाली आंटी की जबरदस्त चुदाई

बात आज से करीब 6 दिन पहले की है! मेरे माँ डैड को एक ज़रूरी काम से बहार जाना था पर मेरी एग्जाम चल रही थी इसलिए वह परेशां थे की वह कैसे जाये! ये कहानी इसी पड़ोस वाली आंटी की चुदाई की ही हैं!

मेरा घर क पड़ोस में एक परिवार रहता है जिसमे अंकल और आंटी और उनके 2 बच्चे रहते है! अंकल एक कंपनी में काम करते है और आंटी हाउसवाइफ है! उनका फिगर बड़ा ही सेक्सी है ३४ २८ ३६! उन्हें देख क मेरे मोहल्ले क सरे लड़के और अंकल का लंड खड़ा हो जाता है!

मेरा घर और उनका घर पास पास होने की वजह से हमारे और उनके बिच अचे सम्बंद है! मैं व् जब अंकल नहीं रहते तो उनके घर में जाता था और छोटे काम जैसे उन्हें बाजार ले जाना ले आना जैसे कामो में हेल्प कर दिया करता था!

क्यों की अंकल १२ घंटे काम करते थे और उन्हें टाइम नहीं रहता था पर सही बात तो ये है की मैं उन्हें चोदने के चक्कर में रहता था की कैसे उन्हें चुदाई का मौका मिले!

फिर १ दिन मैं कॉलेज से आया तो पापा ने बोला बेटा हमें किसी जरुरी काम से बहार जाना है पर तुम्हारी एग्जाम है तो हम तुम्हे नहीं ले जा सकते है और तुम्हारे खाने पिने का इंतज़ाम हमने कर दिया है!

सुनिता आंटी तुम्हारे लिए खाना बना देगी और फिर में और मां चले जायेंगे ! फिर में घर में अकेला था और शाम को आंटी आयी खाना बनाने क लिए ! तो मैं घर पे सेक्स स्टोरी पढ़ रहा था antarvasnastory.in की ही! मेरा लंड खड़ा हो गया था और उन्होंने उसे देख लिया था और सेक्सी स्माइल दी और खाना बनाने किचेन में चली गयी!

फिर मैं बाथरूम में जा क मुठ मारके और आंटी क पास किचेन में चला गया! मेरी हालत देख क आंटी समझ गयी थी की मैं क्या कर क आया हु! फिर आंटी रोटी बनाने लगी और रोटी बनाते वक़्त वह हिल रही थी जिसे उनके बूब्स ज्यादा हिल रहे थे और मैं उनके बूब्स देखने की कोशिश कर रहा था!

और कहानिया   खामोसी में मदहोसी और तन्हाई में चुदवाई

तभी आंटी ने देख लिया की मैं क्या देख रहा हु और वह मुझसे पूछने लगी क्या देख रहा है! तो में हड़बड़ा गया और बोला कुछ नहीं आंटी! फिर वह पूछने लगा की तेरी कोई गर्लफ्रेंड है की नहीं तो मेने बोला की नहीं है! तो उन्होंने बोलै की झूट क्यों बोल रहा है शर्मा मत बता में किसी को नहीं बोलूंगी तो मेने बता दिया की है!

तो वह बोली की उसके बूब्स नहीं देखे है क्या जो इधर देख रह है! मैं उनकी बात सुन क दंग रह गया! फिर मेने सोचा चलो इनपे ट्राई करता हु सायद कुछ हो जाये और मैं पानी पिने क बहाने उनके पीछे गया और बाजु में रखे मटके से पानी निकालने लगा!

मेरा किचेन रूम छोटा होने की वजह से वह जगह काम थी तो मैं उनसे सट गया और वह जब हिलती तो मेरा लंड उनकी गांड में टच होने लगा! जिसकी वजह से मेरा लंड खड़ा हो गया और उनकी गांड में घिसने लगा! आंटी को व् पता चल गया तो वह थोड़ा पीछे हटने लगी पर मैं उनसे सात गया और लंड उनकी साड़ी क ऊपर से घिसने लगा और आंटी गर्म हो गयी और बोली ये क्या कर रहा है!

मैं आंटी क बूब्स व् पीछे से दबाने लगा पर आंटी थोड़ा गुस्से जैसा होकर मुझे मना कर रही थी! तभी मैं पीछे से आंटी की गर्दन पे किश करने लगा और उनके चूचे दबाने लगा ! अब आंटी से व् नहीं रहा गया और वह पीछे घूम गयी और मुझे लिप किश करने लगी और में व् उनका साथ देने लगा! तभी रोटी जलने की खुसबू आयी और आंटी ने मुझे खुद से अलग किया और बोला की अभी उनके पति क आने का टाइम हो गया है और वह खाना बना क चली गयी!

फिर में दूसरे दिन मुझे २ बजे से जाना था कॉलेज एग्जाम देने! उस दिन मैं सुबह से ही इंतज़ार करने लगा की उनके पति और बच्चे कब स्कूल और जॉब पर जाये! फिर कुछ देर क बाद उनके बच्चे और पति चले गए और जैसे ही वह गए मैं सीधे उनके घर गया! उस दिन उन्होंने पिंक रंग की साडी पहनी हुई थी और वह उस साडी में बहुत ही सेक्सी लग रही थी!

फिर मेने उन्हें पीछे से पकड़ा और किश करने लगा वह व् मेरा साथ देने लगी और फिर में धीरे धीरे उनके बूब्स प्रेस करने लगा और वह अह्ह्ह.. अह्ह्ह्हह करने लगी और फिर मेने उनका पल्लू निचे किया और साडी क ऊपर से बूब्स चूसने लगा!

फिर मेने आंटी को ले क बैडरूम में गया और फिर आंटी मेरे कपडे उतरने लगी और आंटी तो जैसे पागल हो रही है उसने मेरा लंड निकला और मुँह मैं लेकर चूसने लग गई !

अह्हह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह तेरा लुंड बहुत लम्बा है !

मैं चुप चाप मज़ा ले रह था यारो उस टाइम इतना मज़ा आ रह था की क्या बताओ! आंटी की गरम जीभ मेरे सुपडे पर लगती तो मज़ा आ जाता था ! मेरे मुँह से आआआअह्ह्ह्हह की आवाजे आने लगी और फिर मेने आंटी को बेड पर सुलाया और लंड घुसाने की कोशिश करने लगा!

पर वह जा नहीं रह था आंटी बोली की पहली बार कर रहा है क्या तो मेने हाँ बोला ! फिर उसने मुझे लिटा दिए और फिर चढ़ गई मेरे ऊपर और फिर मुठ मरने लगी! साथ में गालियॉँ दे रही थी की बोस्डिके इतना बड़ा लंड कैसे हुआ! तो मैंने बोला रोज हिलता हूँ इसीलिए बड़ा हुआ!

फिर वह उसे अपनी चूत में डालने लेने लगी उसे बहुत दर्द हो रहा था! फिर उसने १ बार जोर से लंड पर बेथ गयी और जोर से चुदने लगी और जोर से ऊपर निचे होने लगी! लंड पर और आह्ह्ह्ह.. अह्ह्ह्ह… चिल्लाने लगी!

फिर ऐसे ही कुछ देर तक चुदाई की और वह झाड़ गयी! फिर मैंने उसे डौगी स्टाइल में आने को बोला और पीछे से चूत मारनी शुरू कर दी और कुछ देर क बाद मैं और वह साथ झाड़ गए!

फिर में उसके ऊपर सोया रहा और फिर १ राउंड और सेक्स करके एग्जाम देने चला गया! वो आंटी अभी व् मेरे बाजु में रहती है और हम रोज सेक्स करते हैं!

Leave a Reply

Your email address will not be published.