मी फर्स्ट टाइम वित टीचर-1

सो, ई आम ईशांत आ 20 एअर ओलद बॉय फ्रॉम हयदेराबाद. और यह जो स्टोरी बता रहा हू यह 2019 की बात है. और मेरा फर्स्ट टाइम अपनी टीचर के साथ हुआ था जो की बताते हुए भी मुझे सॅटिस्फॅक्षन देता है.

मई एक स्पोर्तसपेरसों हू जो की पढ़ाई मे बहोट अक्चा है टॉप कर देता हू कभी कभी और हाइट 5’9 आंड बॉडी मस्क्युलर.

अगर स्टोरी पसंद आए तो फीडबॅक ज़रूर करना प्लीज़.और माँ की हाइट 5’6 आंड फट आस वित बिग बूब्स कोई भी पिघल जाए. आंड उनका नाम था श्रेया (चेंज्ड).

यह स्टोरी थोड़ी लंबी होगी तो लास्ट तक पढ़ना आंड इट्स मी फर्स्ट टाइम टू.

तो चलो स्टोरी शुरू करते है…

बात ऐसी है की मेरा फर्स्ट टाइम अपनी बियो टीचर के साथ हुआ था जो की कुछ इस त्रह हुआ.

मई 12त मे बियो मे बहोट अक्चा था आंड मेरी माँ को मई बहोट पसंद था आंड वो हमेशा मेरी तारीफ करती थी. मेरी मस्क्युलर बॉडी और गुड लुक्स की व्झ से मुझे प्रपोज़ल्स भी ख़ास आ जाते थे.

माँ अनमॅरीड थी आंड अराउंड 25 की आगे होगी और फिगर तो क्या ही बतौ मीया खलीफा जैसी.

तो ह्मारा एग्ज़ॅम आने वाला था और तभी मेरे स्पोर्ट्स मे नॅश्नल्स थे आंड मेरे को जाना था तो मैने माँ को बोला की मेरा सिलबस क्कैसे ख्तं होगा. तो माँ ने बोला की कोई दिक्कत की बात नही है मई हेल्प कर दूँगी.

उन्होने बोला की तुम नॅश्नल्स खेलके आओ फिर मई तुमको पढ़ा दूँगी. तभी ज्ब मई वापस मुड़ा तो माँ का पेन नीचे गिर गया आंड माँ उसको उठाने के लिए झुकी और तब मई पीछे देखा की माँ की गांद हल्की सी दिख रही है.

आज तक मैने इज़्ज़्त से देखा और अभी भी देखता हू बुत अब तारक भी आ गयी है इज़्ज़्त के साथ.

यूयेसेस दिन जैसे ही मई गया मुझे माँ का ही ख्याल आ रहा था. मैने सोचा की माँ को छोड़ना पड़ेगा नही तो दिल नही मानेगा और लंड भी नही मानेगा.

मई नॅशनल खेलने गया और माँ के साथ ह्र दिन बात करता था और हम छत भी करते थे. माँ मुझसे ज़्यादा बदी नही थी त्तस वाइ वो भी ह्मारे जैसी ही थी ज़्यादा छत करने वालो मे से एक. तो हम न्ट करते करते क्लोज़ हुए.

माँ ने एक बार पूछा की कब आ रहे हो नॅशनल से वापस. मैने बोला की परसो अवँगा.

मैने पूछा – क्यू माँ क्या हुआ..?

माँ- सच बतौ तो मॅन नही लगता है यार तुम्हारे बिना.. तुम बहोट साटे थे और बाकी ज़्ब बोर कर देते है..

मई साँझ गया की लीके करती है माँ मुझे.

फिर मई वापस आ गया अपने सहेर और मैने नॅशनल मे 2न्ड रंक हासिल किया था. मई घर जाके माँ से मिलने गया. माँ का घर मेरे घर से 100 मीटर दूर्र था मई तुरंत गया.

तो माँ ने दरवाज़ा खोला और मुझे देख के हैरान हो गयी और खुश हो गयी और अंदर बुलाया मुझे और हग करली. माँ ने बोला कोंग्रथस सिल्वर के लिए मैने बोला थॅंक्स माँ लगता है आपने बहोट प्रेयर की थी तभी हुआ ऐसा.. वैसे मई बॅडमिंटन प्लेयर हू.

और कहानिया   लॉक्कडोवन् मेी ऑनलाइन क्लास-1

हुँने बात की थोड़ी और मैने हासाया उनको और मैने पूछा की काब्से पढ़ने अओ. यूयेसेस टाइम हॉलिडेज़ चल रहे थे ह्मारे विंटर के. माँ ने बोला की क्ल से आ जाओ एर ज्ब आना होगा आ आइयिये.

मई घर गया अपने और मम्मी पापा से मिला और भाई से भी जो की छोटा है ज़्ब खुश थे. तभी पापा ने मुझे बताया की उनको, मम्मी को आंड भाई को भर जाना है 10 दिन के लिए और मुझे आना है तो आ सकता हू.

मैने बोला की नही मुझे नही जाना मेरा सिलबस कंप्लीट करना है. तभी मैने देखा की श्रेया माँ घर आई थी. बियो वाली माँ मेरे घर आती रहती थी मम्मी की दोस्त ब्न गयी थी वो आंड हम क्लोज़ भी थे बहोट.

तो तभी उन्होने ज़्ब सुना और बोलने लगी की आप ईशांत की चिंता म्ट कीजिए मई उसको पढ़ने के लिए बोली ही थी तो वो मेरे घर मे ही क्खाना भी खा लेगा.. यह सुनते ही मई खुश हो गया और अंदर ही अंदर नाचने लगा.

अगले दिन सुबह 6 ब्जे मैने पापा मम्मी आंड भाई को एरपोर्ट पे छोड़ा और घर आ गया आंड ग्राउंड के लिए निकल गया रमनिंग आंड एक्सर्साइज़ करने तभी मैने देखा की माँ भर खड़ी है बाल्कनी मे आम्ड मैने गूडमॉर्निंग बोला और खा की आप भी चलो माँ मज़ा आएगा.

माँ ने बोला की रूको 5 मीं और वो टाइट लोवर और स्पोर्ट्स ब्रा मे भर निकली. उन्होने ब्रा के उपर जॅकेट पहनी थी तभी मैने बोला की माँ आप जॅकेट म्ट पहनो मई अपना ट्रॅक लेके आता हू वो पहनो तब अक्चा लगेगा मैने अपना ट्रॅक दिया आंड हम निकल गये.

हम ग्राउंड गये तो देखा की वॉया लोग रन्निंग कर्रे थे और बहोट सी लड़किया भी थी. हम रन्निंग कर्रे थे तभी माँ ने मुझे पूछा की ईशांत एक बात पूचु?

मे- जी आप कुछ भी पूछ सकते हो.

माँ- तुमको पता है की लड़किया तुमको बहोट देखती है?

मे-एस माँ पता है बुत मई भाव नही देता क्यूंकी मुझे कोई और पसंद है.

माँ-श! मतलब कमिटेड हो..?

मे-नो माँ मैने बताया नही है.

माँ- क्या क्यू तुम बता दो तुमको आक्सेप्ट ही करेगी वो.

मे-माँ एक बात बताइए की अगर मैने आपको प्रपोज़ किया तो आप क्या करती..?

माँ- मई तो टीचर हू पगले तेरी..! बुत अगर आगे तुम्हारे सेम की होती तो ज़रूर आक्सेप्ट करती हहहे..

मई साँझ गया की अब तो पसंद हू माँ को मई. हम घर पोहचे और माँ ने बोला की रेस्ट करके नहलो और आ जाओ बुक्स लेके मेरे घर. तभी मैने बोला की माँ आप मेरे घर आ जाइए. माँ मान गयी.

मैने प्लान बनाया की झा हम पढ़ेंगे वॉया मई अपनी ट्रोफीस र्खुँगा आंड पिक्स र्हखूँगा जिसमे मई शर्टलेस हू. और अपने लॅपटॉप मे भी मैने पॉर्न वीडियोस का एक फॉलदर बनाया जिसका नाम थे मी मेमोरीस..

और कहानिया   अमीर ठरकी अंकल, मॉम और अंजू आंटी भाग 1

माँ आ गयी और हम नास्टा करके पढ़ने लगे तभी बीच मे माँ ने बोला की वा ईशांत बहोट ट्रोफीस है तुम्हारे प्स तो अक्चा लगा मुझे..एक केयेम करना मेरी एल ट्रोफी के साथ पिक ले लेना.

तभी मई डसल्र ले आया और माँ की पिक निकाला और माँ ने बोला की वाउ बधहिया पिक लेते हो तुम रो तभी मैने बोला की माँ अब आप मुझसे ही फोटोशूट करवाना.

तभी माँ एक बार वॉशरूम गयी एर उनका फोन वी पड़ा हुआ था टेबल पे तो मैने देखा की अनलॉक्ड है फोन तभी मैने खोला आंड मेसेजस पढ़ने लगा.

उसमे एक छत था जिसमे की मैने म्स्ग पढ़ा तो हैरान हो गया. माँ ने अपनी फरन्ड से बोला की न अब वो अकेला है और मेरे प्स रहने वाला है तो इतने दीनो से जो उसके पीछे दीवानी हू आज ख्तं कर दूँगी. माँ को भी सेक्स करना था मेरे साथ इसीलिए माँ मुझे अपनी बॉडी दिखती थी.

मैने फोन वापस र्ख दिया आंड माँ आ गयी और फिर मई देसकटॉप ओं किया और मई वॉशरूम गया.. मैने एक फॉलदर खोला था जिसमे सामने ही पॉर्न वाली फॉलदर थी जिसमे लिखा था मी मेमोरीस..

मई बाहर से झाक रहा था माँ को और तभी माँ ने पीसी देखा और मेमोरीस मे गयी. और जैसे ही उन्होने पॉर्न देखा मानो वो झूम गयी और वो छूट रगड़ने लगी और आ आ करने लगी. तभी याद आया उनको की मई आअनए वाला हू तो वो शांत हो गयी.

मेरे आने के ब्ड हम पढ़ने लगे और क़ॉ बोली की ईशांत तुम्हारी मेमोरीस तो बदी आक्ची है और सने लगी और मैने बोला की एस माँ बहोट आक्ची है मेरे को जो मेमोरीस मे है वो ज़्ब व्वपस करना है.

माँ बोली की अगली बार मेमोरीस करने का मॅन होगा तो मुझे भी बुला लेना, ये सुनके मई खुश हो गया.

हम पढ़ने लगे और खाना खा के माँ चली गयी.

माँ शाम को वपस आई और इस बार माँ निघट्य मे आई थी और बोली की रात को यही सो जाएँगी मई भी खुश हो गया और मैने नोटीस किया की माँ ने ब्रा नही पहनी है. माँ के बूब्स लटक रहे थे.

हम बैठे पढ़ने और मैने माँ को बोला की मॅन नही है अभी पढ़ने का बुत माँ अलग प्लान मे थी माँ रिप्रोडक्षन रिलेटेड चॅप्टर पढ़ना काहटी थी.

माँ ने बोला की पढ़ना पड़ेगा तो मई मॅन गया और माँ बोली की न्यू चॅप्टर पढ़ेंगे रिप्रोडक्षन. मेरे को तोड़ा साँझ आया की माँ मूओड़ मे है.

हम पढ़ने लगे और बीच मे माँ ने बोला बहोट गर्मी है और एसी चालू किया. तभी माँ ने अंगड़ाई ली और भैसाब क्या बूब्स थे माँ के. मॅन किया पकड़ लू और मेरा मूह खुला रह गया माँ ने नोटीस किया बुत शांत रही.

हम पढ़ते गये तभी सेक्स के बारे मे आ गया माँ ने बोला बस बाकी बाद मे पढ़ेंगे.

माँ ने मज़ाक मे पूछा की कभी किया है तुमने सेक्स?

https://www.desikahani2.net/teacher-student-chudai/my-first-time-with-teacher-1/

Leave a Reply

Your email address will not be published.