मुस्लिम भाभी सेक्स स्टोरी

दोस्तों मेरा नाम हर्ष है और मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ! मेरी उम्र 25 साल हैं और आज मैं आपको सुनाने जा रहा हूँ Muslim Bhabhi Sex Story कहानी!

दोस्तों मेरे घर के सामने एक मुस्लिम परिवार रहता है सब अच्छे लोग हैं और सरकारी जॉब कर रहे हैं!

उसी घर में एक मुस्लिम भाभी रहती हैं जो दिखने में अप्सरा जैसी खूबसूरत हैं!

तो उसके पति की पोस्टिंग केरला में हो गयी हैं और ये पेट से थी!

तो भाभी वापिस अपने घर यानी हमारे पड़ोस में आ गयी और इस बार तो गजब का फिगर लेकर आयी हैं!

जबसे लॉकडाउन लगा हैं उसका पति वही फसा है सरकारी जॉब हैं तो उन्हें जाना पढ़ता था!

एक साल हो गया लॉकडाउन में अभी तक उसके पति नहीं आये बस वीडियो कॉल में बात होती हैं!

एक साल पहले मैं दिखने में उतना खास नहीं था पर मैंने पुरे लॉकडाउन में बहुत एक्सरसाइज की और सेहत बनाई!

मतलब अब मैं दिखने में बहुत अच्छा हो गया था! मेरा और भाभी का नैन मटक्का होता रहता था मतलब कभी कबार एक दूसरे को देखते थे!

पर ऐसा कोई सीन नहीं था की लॉकडाउन में चुदाई होगी कभी तो वो मुझे देखती थी मैं बहुत एक्सरसाइज कर रहा हूँ!

ये सिलसिला दो महीने पहले शुरू हुआ जब वो मुझे देख रही थी चुपके से और मैंने उसे देखा तो वो एक्टिंग करने लगी!

मुझे कुछ समज नहीं आ रहा था की मै कोशिश कैसे करू उसपे लाइन मारने की एक तो उसका आजतक कोई अफेयर नहीं हुआ दूसरा वो सरकारी जॉब वाली!

और साला मैं प्राइवेट जॉब वाला ये सब बाते सोचकर दो महीने निकल गए और फिर आयी वो घडी जब सब साफ़ हुआ!

वो छत पर थी और रात के 12 बज रहे थे उन्हें पता था मैं रात को 12 बजे काम करने के बाद टहलने आता हूँ!

उस दिन कुछ अलग हुआ मैं टहलने आया और मैंने देखा उसके रूम का दरवाजा हल्का सा खुला हुआ हैं!

मैंने छत की लाइट बंद करदी ताकि मैं ना दिखू और कमरे की तरफ देखने लगा!

वो बहार आयी और मैं अँधेरे में था उन्होंने मेरे तरफ देखा और फिर इधर उधर देखने लगी!

मुझे शक तो हुआ क्युकी उन्होंने सीधा मेरी आँखों में देखा था पर फिर भी अनदेखा कर दिया!

मैं हिला नहीं अँधेरे में खड़ा रहा वो रूम पर गयी गेट बंद नहीं किया और कपड़े उतरने लगी!

मेरा तो दिमाग खराब हो गया की अप्सरा कपड़े उतार रही हैं और मैं बेचैन होकर उसे देखने लगा!

उसने सारे कपड़े उतारे और फिर मैक्सी पहन ली और दरवाजा बंद करके सो गयी!

वो रात मैं दो बार मुठ मारके आया तब नींद आयी मुझे क्युकी पूरी रात मुझे उसके गोरे चूचे और बाल वाली चूत दिख रही थी!

और कहानिया   अमृतसर की कमसिन हसीना सौतेले बाप के साथ बिस्तर में

बहुत सुन्दर फिगर था उसका वो थोड़ी मोटी भी हो गयी थी और बूब्स बहुत बड़े हो गए थे!

अगले दिन मैं बाइक से जा रहा था तो रस्ते में मुझे वो मिली मैंने हिम्मत करके उन्हें और कहा आपको मैं स्टैंड तक छोड़ देता हूँ!

उन्होंने पहले मना किया फिर बैठ गयी और उसके बाद मैं उन्हें स्टैंड तक ले गया! वो उतर गयी तो मैंने पूछा आप कान्हा जा रही हैं? उन्होंने जगह का नाम बताया!

तो मैंने कहा अरे तो बस का इन्तजार क्यों कर रहे हो? मैं भी वही जा रहा हूँ आप मेरे साथ बैठ जाओ!

मैंने उन्हें मना लिया और फिर मैं उन्हें उनकी जगह तक ले गया उन्होंने मुझे दो मिनट रुकने को कहा और फिर थोड़ी देर बाद वो बहार आयी!

मैंने पूछा क्या हुआ उन्होंने कहा यार जिस काम के लिए आयी थी वो आज नहीं हो पायेगा! मैंने कहा अच्छा तो एक काम करते हैं यंहा पास में एक रेस्ट्रॉन्ट हैं थोड़ी देर वंहा बैठ जाते हैं गर्मी बहुत हैं!

वो मान गयी और हम रेस्ट्रॉन्ट में बैठे उन्हें मीठा बहुत पसंद था तो मैंने उनके लिए बढ़िया वाली आइसक्रीम मंगवाई और हम खाने लगे!

उन्होंने मुझे बोला की तुमने शरीर तो खूब अच्छा बना लिया मैंने कहा हां मैंने ऑनलाइन वीडियोस देखि और काफी अच्छी नॉलेज हो गयी हैं मुझे शरीर की!

उन्होंने कहा अच्छा तो मेरा वेट कम करना हैं क्या तुम मदद करोगे? मैंने कहा बिलकुल करूँगा बताओ कबसे करना हैं!

तो उसने कहा घर में तो नहीं हो पायेगा कुछ न कुछ काम होता हैं तो यंहा पास में एक रूम किराये पर ले रखा था मैंने बच्चो को पढ़ाने के लिए वंहा सीखा देना!

मैंने कहा चलो कुछ तो बात हुई मेरी कम से कम इसी बहाने करीब आऊंगा!

अगले दिन शाम को भाभी ने मुझे काल किया और बोला की आप आ जाए तो मैंने गया तो वो सूट में थी!

मैंने पूछा सूट में जिम? उन्होंने कहा नहीं मैंने जीम वाले कपड़े ले रखे हैं तो अभी चेंज करती हूँ!

मुझे योग और कुछ एक्सरसाइज पता थी उन्हें मैं वही करवाने वाला था! कुछ देर बाद वो जीम वाली लेग्गी पहन कर और ऊपर से भी मस्त जीम वाले ऑउटफिट पहन लिए!

उन्हें देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया क्युकी ऐसे कपड़ो में उन्हें पहली दफा देखा था!

उनके चेहरे पर एक अलग मुस्कान थी मनो वो जो चाहती थी वो हो रहा हों! तो मैंने उन्हें योग करवाया और करीब आधा घंटा होने के बाद कुछ एक्सरसाइज करवाई!

वो जब रस्सा कूद रही थी उनके बूब्स आधे से ज्यादा बहार निकल गए थे बड़े जो इतने थे!

पहले दिन ज्यादा नहीं करवाया और कुछ दिन ऐसे ही चलता रहा!

और कहानिया   मॅ की चुत मे पड़ोसी का पानी

अब उन्हें सिखाते समय मैं उनके कमर पकड़ लेता या गांड को सही तरीके से टिकाने को कहता!

वो मुझे दिन प्रतिदिन गूरे जा रही थी तो एक दिन वो स्किप्पिंग कर रही थी और उसका एक चुचा बहार आ गया निप्पल साफ़ दिखे!

वो रुक गयी और मैं भी उसे देखने लगा उसने बूब्स अंदर करने लगी और मुझे देखने लगी अब मेरा आपा खो चूका था!

मैंने उसे पकड़ा और किस करने लगा वो पहले मुझे दूर करने लगी पर मैं नहीं माना! मैंने उनके दोनों हाथ पकड़ लिए और किस करता गया!

वो पहले बहुत ज़ोर लगा रही थी की मैं उसे छोड़ दू फिर मैंने जानकर उसे एक दम से किस करना छोड दिया!

वो मुझे घूरने लगी की क्या कर रहे हो ये? मुझे गुस्सा आ गया की वो मना कर रही हैं तो मैंने बोला लो छोड़ दिए तुम्हारे हाथ नहीं कर रहा अब कुछ!

तो उसने मुझे फिर चुम लिए और कहने लगी ऐसे कैसे ठंडी छोड़ जाओगे इतने महीनो से ठंडी पड़ी हूँ!

फिर वो पागलो की तरह मुझे चूमने लगी मुझे पता था वो भरी बैठी हैं मुझे यकीं था यस और मैं अंदर ही अंदर बहुत खुश होने लगा!

वो जंगली की तरह मेरी कमर पर जोर से नाख़ून मरने लगी और मुझे चूमे जा रही! मैंने उसका टॉप उतार दिया वो ब्रा नहीं पहन कर आयी थी!

तभी समझू उसका चूचा बहार कैसे निकल आया, और उसे सामने नंगा देख कर मैंने उसके बड़े बूब्स दबाना शुरू किया!

वो चिल्लाने लगी काटो , मुझे प्यार चाहिए दो, बहुत सेहेन कर रही थीमैं आज नहीं करुँगी!

उसने अपना लेग्गी उतारी और तुरंत पैंटी भी उतार दी और नंगी हो गयी! उसने मुझे दक्का दिया और जमीन पर लिटा दिया!

लंड पकड़ा और चूसने लगी आह यार मजा सा आ गया उसने कहा जल्दी खड़ा करो उसे मेरी चूत में डालो!

जैसे ही मेरा खड़ा हुआ उसने अपनी चूत मेरे सामने खोल दी और कहने लगी प्लीज हाथ जोड़ रही हूँ देर मत करो मेरी प्यास बुझाओ!

मैंने सीधा उसको चूत में लंड डाला चोदने लगा उसे वो चीखने लगी की ऐसे ही चोदो आह हहा आह मजा आ रहा हैं!

अब जब मैं आगे पीछे होकर उसे चोद रहा था वो खुद उछल कर चुदने लगी! एहि होता हैं दोस्तों जब अपनी फीलिंग दबा कर रखते हो उसकी सारी गर्मी एकदम से निकल गयी!

उससे इतना उत्तेजित देख कर मेरा उसकी बाल वाली चूत में झड़ गया और उस दिन हमने तीन बार चुदाई करि!

तब जाकर वो रोने लगी और हाथ जोड़े की किसी को मत बताना और मैंने उसे समझाया और विश्वास दिलाया की किसी को नहीं पता चलेगा!

Leave a Reply

Your email address will not be published.