मम्मी को मिला एक अमीर लुंड का सहारा

अंकल ने मम्मी की गाँड़ की छेद पर अपने लौड़े की नोक को रखा और धीरे से धक्का मारकर उसे अंदर घुसा दिया। धीरे-धीरे धक्के मारते हुए अंकल मम्मी की गाँड़ को चोद रहे थे। मम्मी की मोटी गाँड़ जब अंकल के पैरों से टकराती थी, तब ‘पच-पच’ करके आवाज़ आ रही थी. मम्मी की ज़ोर-ज़ोर से गाँड़ चोदते वक़्त अंकल उसकी चूत को अपनी उँगलियों से रगड़ रहे थे। गाँड़ के अंदर घुसते लौड़े ने मम्मी की हवस को इतना बढ़ा दिया था कि मम्मी की चूत से चिपचिपा पानी अंकल की हथेली पर निकल गया। अंकल की हथेली को मम्मी ने पकड़कर चाटना शुरू किया। कुछ देर बाद, अंकल मम्मी की कमर को पकड़कर जोर से अपने लौड़े को उसकी गाँड़ के अंदर-बाहर कर रहे थे। तभी अंकल बोलने लगे निकलने वाला है. तो मम्मी ने जल्दी से गांड से लंड निकाल कर अपने मुँह मे भर दिया. और अंकल ने मम्मी का सर पकड़कर उसके मुँह के अंदर अपने लौड़े का माल निकाल दिया था। मम्मी पूरे माल को निगल गई थी। और अपने बूब्स पे अंकल का लंड रगड़ रही थी.                           

अब मम्मी ने अपनी दोनों टांगे बेशर्मी से ऊपर उठा कर दायें-बायें फ़ैला रखी थी. . मम्मी ने अंगुली के इशारे से उन्हें अपनी तरफ़ बुलाया. अंकल का लंड अब थोड़ा टाइट था अभी. अंकल ने लंड मम्मी के चूत में पेल दिया. माँ जोर से चीला उठी. उफ़्फ़्फ़्फ़ आह्ह्ह्ह्ह अनिल चोदो मुझे….. मम्मी तो एकदम से अंकल से लीपट गई. लगता था कि लण्ड भीतर चूत में घुस चुका था. मम्मी अंकल के नेक पे काटे जा रही थी.  तभी मम्मी ने एक मस्ती भरी चीख मारी और झड़ने लगी. अंकल भी थक गये थे. उनका लंड अभी लुढ़क चूका था. मम्मी ने अंकल को अपनी चुत चाट कर साफ करने बोली. अंकल चाट चाट कर सब माल साफ कर रहे थे.                                                         

और कहानिया   कामसीँ वर्जिन छूट की चुदाई का मज़ा

माँ ने अंकल को अपनी तरफ खींचा और लंबा किस्स किया. गये. दोनों ने फिर थोड़ी चुम्मा चाटी की और अंकल ने माँ के बूब्स दबाये. कुछ देर बाद दोनो एक दूसरे से लिपट कर सो गये. कुछ 12:30 बजे थे मे भी वही गैलरी मे सो गया.                                                        

सुबह मुझे कुछ आवाज आ गयी तो मे उठ गया. अंदर देखा तो मम्मी उठ रही थी अपना बदन टॉवेल से साफ कर रही थी. मम्मी अपने बिखरे बाल ठीक करने लगी और उन्हें क्लिप से उप्पर बांध दिया.  मम्मी ने बदन पे परफ्यूम लगाया और रेड नाईटी पहन ली और नीचे चली गयी. मे भी नीचे उतार कर नीचे देखने लगा. तो मम्मी किचन मे कुछ नाश्ता बना रही थी. तभी अनिल अंकल नीचे आये और मम्मी को पीछे से पकड़ लिया और मम्मी के नेक पे किस्स करने लगे, मम्मी के बूब्स दबाने लगे. मम्मी बोली क्या अनिल बेबी कुछ 7, 8 दिन की टूर का प्लान बनालो. ताकी अच्छी तरह मजे कर सके. अनिल अंकल बोले नेस्ट मंथ जानू हम मालदीव जायँगे. तभी मम्मी खुश हो कर अंकल को किस्स करने लगी. और फिर दोनो बाथरूम मे नहाने गये. एक दूसरे को दोनो नेहला रहे थे. फिर मे वहा से निकल गया. घर आ गया तो कुछ शाम 5 बजे मम्मी घर पर आयी मम्मी थकी हुई थी. मम्मी अपनी बैग खाली कर रही थी तो मैंने देखा उन्होंने अपनी बैग से एक डायमंड का नेकलेस निकाल कर कबोर्ड मे रखा. मे समझ गया अनिल अंकल ने ही दिया होगा. मम्मी अब अनिल अंकल का लंड और पैसे दोनो का मजे ले रही थी…….

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *