मम्मी और मौसी की ताबड़तोड़ चुदाई

ये कहानी मेरे साथ हुई मेरी पहली सेक्स स्टोरी है। इस स्टोरी में मैने अपने मम्मी और मासी की कैसे चुदाई की वो में बताऊंगा।
अपनी मम्मी और मासी के बारे में बता देता हूँ, मेरी मम्मी की उम्र अभी 42 साल है और मेरी मासी की उम्र 40 साल है।उनका नाम ज्योति है। मासी का कोई बचा नहीं हुआ इसीलिए उसका पति उनको तलाक दे दिया , मासी बांझ थी इसिलए।उनकी फिगर 38-32-40 है।उनके गांड़ मम्मी के गांड़ से बहुत बड़ी है।
मेरी मम्मी का नाम स्वाति है
मम्मी का फिगर 32-34-36 है।पर बो बोहुत ही गोरी और सेक्सी दिखती है।उनका बूब्स का साइज बहुत बड़ा है। पर उनका गांड़ छोटा है।
एक दिन की बात है में अपना आफिस का काम खत्म करके घर आया।तब तक रात के 8 बज़ चुके थे। में घर मे बता के गया था कि में आज लेट में आऊंगा। मेरे पास घर की डुप्लीकेट चाबी होती है।इसिलए में उन दोनों को परिसान न करते हुए अंदर आ गया । अंदर आते ही मुझे मम्मी की रूम से आबाज सुनाई दी। और दरबाजा भी खुला हुआ था।
जब में जाकर वहा देखा तो में दंग रह गया। मौसी मम्मी की चूत को चाट रही थी और मम्मी मौसी की।दोनो 69 अबस्ता में अपने जिस्म की आग बुझा रहे थे। तभी मौसी की नजर मुझ पे पड़ी और बो झटसे बैड से उतरी।में अपने रूम में चला गया।
तभी मेरी मौसी और मम्मी मेरे पास आई।मौसी और मम्मी रोने लगे।
मौसी:- बेटा हम दोनों मजबूर थे। क्यों कि हम दोनों के साथ सेक्स करने वाला कोई नही हे।इसिलए हम अपनी आग एक दुषरे के सहायता से बुझा पा रहे है।
मम्मी:-बेटा प्लीज तू ये बात किसी को बताना मत। नही तो हमारी इज्जत मिट्टी में मिल जाएगी बेटा प्लीज किसीको मत बताना।
तब मैं बोला:- में आपकी बात समझ सकता हूँ। में ये बात किसीको नही बताऊंगा। अगर आप दोनों की आग बुझानी हो तो आप मुझे बोल देते में बुझा देता।
ये सुनकर मौसी बोली:-ठीक है बिकी क्या तुम अभी हमारी चुत की आग बुझा सकते हो।
में:- हं बिल्कुल ।
में झता पट अपने पेंट शर्ट और चडी निकाल दी। और अब हम तीनों नंगे थे। में गया और मम्मी को बुलाया और कहा चुसो इसे। मम्मी आयी और मेरी लंड को हात से पकड़ कर हिलाने लगी और एक ही झटके में मु में ले लिया। अब में मौसी को बुलाया और उनके दोनो बूब्स को जोर जोर से मसलने लगा।
अभी मौसी सिसकारियां लेने लगी आ आ आ आ उ उ उ उ उ उ  ई ई मार गयी बेटा और जोर से मसलो, लाल कर दो बूब्स को खा जाओ बेटा ये कहते हुए मासी अपनी चुत को मसलने लगी।
और नीचे मम्मी मेरी लंड को चूस चूस के 9 इंच का कर दिया। और अब बो जोर जोर से चूसने लगी। करीब 10 मिनट चुसई के बाद में उनके मु में झड़ गया और लंड को निकल दिया । इसी बीच मम्मी और मौसी दोनो 3 बार झड़ गयी थी।
अब मेने मम्मी को कहा आप ऊपर आ जाओ। अब हम दोनों 69 पोजीशन में आ गए और चुसई स्टार्ट कर दी। अब मेरा लंड 10 इंच लम्बा हो गया और मम्मी ने कहा और मत तड पाओ डाल दो मेरे चुत में। में और देरी ना करते हुए मम्मी के पैर को ऊपर उठाया और और लंड को उनकी चुत के होटो के पास रगड़ ने लगा। मम्मी ने कहा बहनचोद दाल दे मादरचोद दाल दे। में अब देरी ना करते हुए लंड दाल दिया और एक जोर दर धका मार डाला और मेरा 4 इंच से ज्यादा लंड मम्मी के चुत में था और कुछ समय रुक के एक और धका मारा अब मेरा 10 इंच लंड मम्मी के चुत में था। अब मेने धके मारने स्टार्ट कर दी और अगले 10 मिनट तक जोर जोर से धके मरते रहा। उधर मासी अपनी चुत को मम्मी के मु के ऊपर रगड़ रही थी, और सेक्सी सिसकारियां ले रही थी।
अब में मम्मी को कहा अब आपकी गांड़ की बारी है। मम्मी ने कहा तू जितना चाहे चुत चोद ले पर गांड़ मत मार। में कहा मुझे कुछ तो सील पैक चाहिए। अब में मम्मी की गांड़ ऊपर उठा दी और अपना में खूब सारा वेसलीन लगाया और मम्मी जे गांड़ में भी लगाया।अब में मम्मी के गांड़ के तरफ अपने लंड को लेकर आ गया और एक धका मारा जिसके बजह से मेरा सूपड़ा मम्मी के गांड़ में था। अब एक और धका मार डाला जिसके बजह से मेरा 4इंच से ज्यादा लंड स्वाति के गांड़ में था।अब कुछ समय रहके एक ओर धका मार डाला जिसके बजह से मम्मी के मुह से दर्द भारी आबाज और आंखोसे आंसू आने लगे अब में अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से उनकी गांड़ मरते रहा और दस मिनट के बाद उनके गांड़ में झड़ गया और लंड को बाहर निकल दिया।
अब मासी बारी थी अब में अपना लंड मसि के मु मैं दे दिया । मासी आइस क्रीम के तरह चूसने लगी। अब में बेड के ऊपर लेट गया और मासी को मेरे ऊपर आने का इशारा दिया ।मासी मेरे ऊपर मेरे लंड के ऊपर आयी और अपनी चुत को मेरे लैंड के ऊपर सेट करके ऊपर नीचे होने लगी और चुदने लागि। अब मेने मासी  से कहा कि आपकी गांड़ भी मुझे चोदनी है।
मासी ने कहा ठीक है मेरी गांड़ की सील टूट चुकी है क्यों कि मैने बोहुत मूर्दो दे गांड़ मरवा चुकी हूं। सब मेरे गांड़ के दीवाने है। में कहा ठीक है और मेरे लंड और उनकी गांड़ के ऊपर से पानी को पोछ दिया और कहा ज्योति रंडी तुझे में बिना वेसलीन  के चोद दूंगा । मासी ने कहा ऐसा मत कर मेरे गांड़ में बहुत दर्द होगा प्लीज। में एक भी न सुनकर अपना लंड गांड़ के सामने सेट किया और एक जोर का धका मार और मेरा पूरा लंड उनके गांड़ में थी। में अपनी रफ्तार बढ़ा दी और कुछ समय बाद मासी को मज़ा आ ने लगा और बो आ आ आ आ ओ उ उ उ उ अउआ मार दिया। ऐसे ही 10 मिनट चला और में उनके गांड़ से लंड बाहर निकल कर ज्योति रंडी के चुत में दे दिया और चोदने लगा 15 मिनट बाद उसके चुत में झाड़ गया।अब रात के 4:30 बज़ चुका था।
अब हम तीनों डेली ऐसे ही चुदाई करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *