मई और मेरी मालकिन मिस्ट्रस

ये बात है आज से 10 साल फेले की, तब मे करीब 15 साल का था. हमेशा मे सेक्स के बारे मे सोचता रहता था.

बुत मेरे नज़ारो मे सेक्स बस लड़कियो के गांद देखना, लड़कियो के ठिग्स देखना, लड़कियो की पॅटियो को देखना यही था.

आप का ज़्यादा समय ना लेते हुए सीधे स्टोरी पेर आता हू.

जैसे की मैने कहा मे स्टार्टिंग से ही लड़कियो के पैरो का दीवाना था. मेरी शादी एक बहुत सनडर और सेक्सी लड़की से हो गयी जिसका फिगर 36-28-36 था. जो की देल्ही से है.

मैने बहुत कोशिश की, की उसे मे अपने फेंडओं इंटेरेस्ट के बारे मे बताओ बुत हमेशा दर लगा रहता था की कही रीलेशन टूट ना जाए.

एक दिन की बात है मे ड्रिंक करके आया था और मेरी वाइफ सेक्स के मूड मे थी. हम दोनो ने सेक्स किया और वो आराम करने लगी और बोली के मेरे पैरो मे दर्द हो रहा है.

मैने बिना कुछ सोचे उसके पैर दबाने लगा, वो हास कर मुझे देखने लगी और बोली छ्चोड़ो पेर मैने नही सुनी.

वो दिन था तबसे मैने हर वीक उसके पैर दबाता था. उसे भी मज़ा आने लगा था ये सब करवाने मे.

एक दिन उसने मुझसे पूछ लिया आपको पैर दबाने मे मज़ा क्यू आता है? मैने उसे शरमाते हुए बताया की मुझे फेंडओं पसंद है और उसे कुछ वीडियो दिखाई.

बस फिर वो रोज ऐसे वीडियो देखने लगी और मुझसे बोलने लगे ये सब तुम कर सकते हो? मैने गर्दन हिलाते हुए शरमाते हुआ कहा ह्म.

फिर कुछ दीनो बाद मेरी बीवी जो की 36 28 36 है मेरे साथ ड्रिंक की और मुझे इशारे से कहा पैर दब्ाओ. मैने पैर दबाना स्टार्ट किया फिर वो कुछ देर बाद उठी और मेरे फेस पेर ज़ोर्से मारा और कहा मेरे कुत्ते मदारचूड़ तेरी आज खेर नही.

मई उसे देखने लगा उसने फिर एक चाटना मारा. मैने कहा जाना क्या कर रही हो? उसने बोला मालकिन बोल गन्दू! फिर बोली, नीचे बेत अपनी नीस पेर. मे चारो पैरो पेर बेत गया.

और कहानिया   गन्ने के खेत में चुद गयी

फिर उसने अपनी पनटी आंड ब्रा मुझे कुत्ते की तरह उतरने को कहा. में इसी दिन के तलाश मे तड़प रहा था. मुझे समाज आ गया था बचपन की फॅंटेसी आज पूरी होगी.

मैने अपने दांतो से उसकी ब्रा आंड पनटी उतरी, क्या स्मेल थी उसे पनटी की.

फिर उसे मे मेरे सिर बेड पर रखा आंड मेरे उपर गांद का च्छेद रख कर मुझे गांद सुंगने को कहा. मे भी स्मेल लेने लगा. उसने इतना प्रेशर दिया की मेरी नोस उसकी गांद मे घुस गयी.

कुछ देर ऐसा करने के बाद उसने मुझे गांद चाटने को कहा. मे भी खुशी खुशी चाटने लगा, आख़िर यही तो मे चाहता था. कुछ देर गांद चटवाने के बाद मिस्ट्रस पलट गयी और अपनी छूट मेरे मूह पेर रख दी और ज़ोर ज़ोर से हिलने लगी. मेरे साँस भी रुक गयी थी. मज़े लेते हुए कहने लगी मेरे पति नही कुत्ता है तू!

फिर कुछ देर बाद वो मेरे मूह मे ही झाड़ गयी. झड़ने के बाद मुझे बातरूम जाने की लिए कहा. वो मेरे पेत पेर थी और मे उसके नीचे.

बातरूम जाकर उसने मुझे सीधे लेता दिया और खुद मेरे मूह के उपर खड़ी हो गयी. फिर मुझे कहा मदारच्चोड़ डॉग एक भी बूँद नही बाहर नही निकलना चाहिए. और मेरे अप्पर तेज धार मार्डी.

मे उसकी पूरी धार अपने मूह मे मे गत गत गत कर पीने लगा, वो ज़ोर से हासणे लगी और बोली – गन्दू पति साला!

फिर रात मे उसने मुझसे अंडर आर्म लीक करवाए और सो गयी.

सुबह उठा तो देखा की मिस्ट्रस ने रब्बर का कुछ पहें रखा है. मे समाज गया की क्या होने वाला है. मिस्ट्रेस ने ऑर्डर दिया गांद चाटने का. मैने वेसा ही किया. फिर उसने पहना हुआ लंड मेरे मूह मे डाल दिया और झटके मारने लगी.

मुझे उल्टी जैसे होने लगा पेर वो नही रुकी और मेरे मूह फाड़ दिया.

और कहानिया   देल्ही की हॉट लड़की का फोन सेक्स मे पानी निकाला

फिर कुछ देर बाद उसने मुझे डॉगी बनाने को कहा. बुत अब मेरे गांद फटने लगी क्यूंकी मैने कभी लंड नही लिया था गांद मे. मैने माना किया तो उसे कभी भी मिस्ट्रस नही बनाने का बोला तो मुझे करना ही पड़ा.

मेरी गांद पेर आयिल लगाया और लंड अंदर गूसने लगी, वो लंड 7 इंच का था. जैसे है मेरे अंदर आधा गुस्सा मेरी आँख से आँसू और मूह से चीख निकल गयी.

फिर मिस्ट्रस तोड़ा रुकी और थोड़े देर बाद दूसरा झटका दिया. अब पूरा लंड मेरे गांद मे था. मे बस चिकता रहा निकालो निकालो पेर वो नही मानी. बोली टुजे ही गुलाम बनाना था अब बन..!

धीरे धीर झके मारने शुरू किए और मे चिल्लाने लगा नही नही छ्चोड़ दो प्लीज़ मिस्ट्रस. पेर वो कहा रुकने वाली थी और ज़ोर्से झटके मारने लगी. कुछ 10 मिंट बाद मुझे भी मज़ा आने लगा और मे भी उसका साथ देने लगा.

वो हास कर बोली मुझे पता था तुझे गांद मरवाने मे मज़ा आएगा.

फिर मिस्ट्रस मुझे छोड़ते छोड़ते झाड़ गयी और बोली अब से हर वीक ऐसे करूँगी मेरे कुत्ते प्यारे.

बुत मॅन अभी भी एक ऐसी मिस्ट्रस की तलाश मे है जो मुझे गुलाम बनाए और मेरे साथ ये सब करे. मेरे वाइफ होने की वजह से कही कभी वो सॉफ्ट हो जाती है. और मुझे दिन भर सस्यू पीना हो तब भी नही पिलाती. ई म सर्चिंग फॉर सम्वन हू वॉंट प्लेषर.

ये मेरे रियल स्टोरी है, अगर आपको पसंद आई तो प्लीज़ मुझे अपनी सेवा करने का मौका दे – राजवीर[email protected]रेडिफ़्फ़्माल.कॉम

जो मुझे अपना गुलाम बनाना चाहे मुझे म्स्ग कर सकती हो, मे भोपाल से हू और सही मिस्ट्रस का वेट कर रहा हू.

Leave a Reply

Your email address will not be published.