मामा की लड़की की चुदाई – 1

नमस्कार दोस्तो स्वागत हैं आज की गर्म  कहानी जिसका नाम हैं मामा की लड़की की चुदाई!

मेरा नाम रोहित हैं उम्र 24 साल हैं, दिखने में गोरा ओर अच्छा हूँ!

मैंने अबतक एक औरत के साथ सेक्स किया हैं वो भी करीब 200 से ज्यादा बार!

जनता हूँ हैरान होंगे पर वो मेरे किराए पर 5 साल रही थी और शुरू के डेढ़ साल बाद हमारा अफेयर शुरू हुआ!

खेर ये कहानी अगले भाग में सुनाऊंगा अभी आपको मेरी ममेरी बहन की चुदाई कहानी सुनाता हूँ!

दोस्तो मेरी मामेरी बहन का नाम सोना हैं और उसकी उम्र 23 साल हैं!

दिखने में थोड़ी सावली पर साफ है, उसका फिगर 34, 24, 34 हैं!

ये कहानी की शुरुआत हुई जब हम सब गांव में गए थे, गांव में पहले से मेरे चाचा चाची रहते थे!

उनकी दो बेटियां थी बहुत बिगड़ी हुई मतलब गाली गलौच करती थी ये सब!

तो हम सब मिले पर सारी लड़किया थी और मैं लड़का तो ज्यादा घुल मिल नही पाया शुरू में!

लड़कियां पहले से एक दूसरे को जानती थी इसलिए गप्पे मारने लगी,  मैं चुपचाप सो गया क्योंकि मैं थक चुका था!

तभी सोना और मेरी चाची की लड़कियां मेरे कमरे में आई उन्होंने कहा “यार हर कमरे में कोई न कोई हैं कपड़े कंहा बदले?”

बाकी दो कमरों में शायद सारे मेहमान बैठे होंगे और बाथरूम में भी पता नही को घुसा हुआ था!

तो उन्होंने मुझे आवाज मारी रोहित, करीब 3 बार , हालांकि मैंने आंखे बंद कर रखी थी , क्योंकि मैं थका हुआ था और चाहता था वो कहि ओर जाकर बदल लें!

कुछ देर बाद दरवाजा बंद होने की आवाज आई में उठकर देखने वाला था कि वो गए कि नही!

इससे पहले में उठता मेरे कानों में आवाज आई मेरी चाची की लड़की सोना को छेड़ रही थी!

वो कह रही थी – “तेरे तो कितने बड़े हो गए क्या करती है रे तू इनके साथ” !

फिर सोना ने कहा धीरे बोल रोहित सुन लेगा!

चाचा की लड़कियां – “वो तो घोड़े बेच कर सो रहा हैं उसे क्या पता चलेगा”!

वो अंदर  कपड़े बदल रहे थे और बार बार मेरी तरफ देख रहे थे इसीलिए मैं आंख खोलकर सोना को देख नही पाया!

सोना ने बोला तू बहुत जासूसी करती हैं पिछली बार मै नहा रही थी तूने तब भी मुझे देखा था नंगा!

और कहानिया   मनाली की चलती बस में चुदाई – 2

चाची की लड़की : तो क्या हुआ? किस्मत वाली हूँ वो कमरा मुझे मिला हैं जिससे बाथरूम की खिड़की चिपकी हैं!

जी सही पढ़ा आपने दरसल बाथरूम बाद में बना था वंहा पर इसीलिए कमरे की खिड़की पर परदा रहता हैं!

वैसे भी उस कमरे मे चाचा की लड़कियों के सिवा कोई नही जाता था!

फिर कपड़े बदल कर वो चले गए और मेरा लंड भी खड़ा करके चले गए!

सोना के होंठ थोड़े मोटे थे और शर्मीली भी थी वो पर बहुत अच्छी थी!

मैंने शुरू में ज्यादा बात नही करि थी बात मेरी शुरू हुई एक छोटे कांड के बाद!

दरसल मेरी चाचा की लड़कियों ने प्लान बनाया था कि जब मैं नह रहा हूँगा तब वो मुझे खिड़की से देखेंगे!

मुझे इस बात का जरा भी अंदाजा नही था क्योंकि सब ऊपर बैठे थे!

मैं नहाने से पहले कमरे में गया था वंहा कोई नही था और कुंडी लगी थी!

बाथरूम में नहाने गया तो खिड़की से अंदर भी देखा तब भी कोई नही दिखा!

मैंने बेफिक्र कपड़े उतार लिए ओर उसी दिन मै पूरा नंगा होकर नहा रहा था चड्डी भी उतर दी!

नहा धोकर बाहर निकला तो तीनों में से सिर्फ सोना के मुँह पर शर्मीलापन था!

मुझे दाल में कुछ काला लगा तो मैंने सोचा छुपकर इनकी बात सुनूंगा!

वो मेरे बारे में बात करने लगी कि भाई का कितना बड़ा हैं न ओर मोटा भी सही हैं!

सोना ने बोला छी यार कैसी बात कर रहे भाई है वो!

चाचा की लड़की : तुझे बड़ा दुःख हो रहा हैं न बड़ी सगी बनती है उसकी! फिर वो हँसने लगे बेमतलब!

सोना: हा यार अच्छा लड़का हैं वो इसीलिए बोल रही हूँ!

चाचा की लड़की : अच्छा लड़का हैं इसीलिए पसंद आया या मोटा है इसीलिये पसंद आया!

सोना : छि यार मैं जा रही तुम ऐसी बात करोगे तो!

चाचा की लड़की ने उसका हाथ पकड़ लिया और जाने नही दिया और कहा उसका हम तीनों में से किसी मैं घुस गया न फट जाएगी हमारी वो!

दरसल मेरे लन्ड का साइज उतना बड़ा नही हैं ये सिर्फ 6 इंच से थोड़ा बड़ा है और मोटा भी ठीक हैं!

फिर वो हँसने लगे मै बाहर खड़ा सब सुन रहा था मन था अंदर जाकर सबको डांट मारू!

पर सोना की गलती नही थी वो चाचा की लड़कियों की वजह से ये सब हुआ!

और कहानिया   कुंवारी लड़की की चुदाई

मैं वंहा से चला गया और मैंने ठान ली आज इनसे बात करूंगा ताकि इनको सबक सिखाओ!

मैंने रात को सब खाना खा रहे थे तो कुछ जोक मारे ओर ऐसे करते करते सब हँसने खेलने ओर बाते करने लगे!

धीरे धीरे हम काफी खुल गए और साथ में सोने उठने बैठने लगे!

एक दिन चाचा की लड़कियों ने फिरसे वो सब प्लान बनाया और इस बार मेरी वीडियो बना ली!

मैंने उन्हें वो वीडियो देखते हुए रँगे हाथ पकड़ लिया और कहा अब ये वीडियो में तुम्हारे पापा के पास जा जाऊ?

सब घबरा गए और मना करने लगे, सोना भी घबरा गई तो मैंने कहा रात को सब मुझे मेरे कमरे में मिलना!

सबने खाना खाया और सब चुप थे क्योंकि उनकी वाट लगने वाली थी!

रात को सब सो गए हम बच्चे लोग लेट सोते थे इसीलिए आधीरात सब मेरे कमरे में सॉरी बोलने आये!

मैंने उन्हें डांट मारी ओर बोला अपनी सजा सोचलो खुद ही 5 मिनट हैं!

उन्होंने कमरा बन्द किया और सबने अपने कपड़े उतार लिए मैंने कहा ये क्या कर रहे हो?

उन्होंने कहा तुम भी हमारा वीडियो बनालो हिसाब बराबर हो जाएगा पर किसी को कुछ मत कहना!

सोना ब्रा में थी और बाकी दोनो चाचा की लड़कियो ने ब्रा भी उतार ली!

उनके बूब्स भी मस्त थे पर वो दोनों मुझे पसंद नही थी, मैंने उन्हें डांट दिया कि कपड़े पहनो ओर दोबारा ये सब न हो!

वो दोनों तो चली गई पर सोना वही खड़ी थी ब्रा मैं मुह लटका कर!

मैंने उसे पूछा तुम्हे क्या हुआ वो रोने लगी कि भइया माफ करदो मैं आपको अच्छा मानती हूँ!

आपकी नजरो में अच्छा बनना था और आज भूरी बन गयी आप जो सजा देना चाहा दे सकते हो!

मैंने उसे समझाया ओर कपड़े पहनने को कहा वो रो  रही थी तो मन उसे अपने कमरे में सोने को कहा!

वो अकेली डर रही थी तो मेरे साथ बिस्तर पर सो गई!

मैंने उसे गले से लगा रखा था ताकि वो चुप हो जाए और कुछ देर बाद वो शांत हुई!

फिर मैंने उसे कहा इन दोनों के चक्कर में मत रहो अब कोई भी बात हो बस आकर सच बोल देना!

उसने कहा जी अगली बार से सब बता दूंगी!

मैंने कहा मैं भी तुम्हे सच बताता हूँ, सोना ने कहा क्या?

मैंने कहा उस दिन मैं सोया नही थी तुम सबकी बात सुनी और दूसरे दिन जब तुम मेरे उसके बारे में बात कर रहे थे तब भी मैंने सारी बात सुनी!

वो हैरान हो गयी कि भइया आप कितने गंदे हो वो मेरे उसके बारे में बात कर रहे थे आप सुन रहे थे!

मैंने कहा अच्छा मैं गंदा हूँ और तुम सब मुझे बाथरूम में नंगा वीडियो बनाकर बोल रहे थे कि बहुत मोटा हैं वो सब सही हैं!

हम दोनों हँसने लगे वो थोड़ा बहुत शर्मा रही थी!

तो मैंने कहा क्या तुमने भी मेरी वीडियो देखी?

सोना : हा देखी थी!

मैंने कहा क्या देखा?

सोना : सबकुछ!

कमरे में अंधेरा था हम एक दूसरे के काफी पास थे इतना कि एक दूसरे की सांस एक दूसरे के चेहरे को छू रही थी!

मैंने कहा क्या सब कुछ?

उसने कहा पूरा नंगा देखा!

मैंने कहा क्या तुम जो बोल रहे थे वो सच हैं?

सोना : क्या सच हैं मैं समझी नही!

मैंने कहा यही की बहुत बड़ा और मोटा हैं मेरा!

सोना थोड़ी देर चुप रही फिर गहरी सांस ली और बोली हा बड़ा है!

मैंने कहा और वो तुम्हारे बारे में बात कर रहे थे वो सच हैं?

उसने कहा हा वो भी सच हैं !

मैंने कहा सही मे बड़े हैं या हवा भरी है?

वो हँसने लगी उसने कहा हवा नही भरी!

वो हम दोनों चुप रहे गहरी सांस ली और मैंने हिम्मत करके बोला कि क्या मैं छूकर देख सकता हूँ? आगे पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published.