मेरी माँ का विदेशी लुंड से सेटिंग करवाया

हाय दोस्तो, हम दोनों, निशा और विराट फिर से आप लोगों के लिए एक कहानी लेकर तैयार हैं.

विराट की जुबानी:

आप सब मेरी मॉम निशा को तो जानते ही हैं, क्या माल हैं. उनकी उम्र 42 साल है और फिगर 36-34-36 का है. उनका एकदम सफेद और गुदगुदा शरीर इतना मस्त है कि आप भी देखोगे तो मुठ मार लोगे.

इस बार हमारी इस सेक्स कहानी में एक और लेडी जुड़ गई है. ये मेरी नेट फ्रेंड है और इसका नाम पायल है. पायल की उम्र 36 साल है. वो एक शादीशुदा लेडी है. वो शहर में रहती है. मैं उसे दीदी भी बोलता हूं और उसे चोदता भी हूँ. पायल एक बहुत ही हॉट और सेक्सी माल है. उसका फिगर 34-30-36 का है. वो दिखने में थोड़ी सांवली जरूर है … पर बड़ी कातिल आइटम है.

मैं हमेशा से अपनी माँ के नाम की मुठ मारता आया हूँ और मुझे हमेशा से उसे चोदने की लालसा रही है. अपनी मॉम को अपने सपनों में सोच कर मैं हमेशा इंटरनेट में माँ को चोदने वाली कहानी ही पढ़ना पसंद करता था और उनको चोदने का प्लान बनाता रहता था.

ऐसे ही एक दिन मैं अपनी मॉम को याद करता हुआ लंड हिला रहा था और नेट सर्फ कर रहा था. नेट की सर्फिंग के दौरान ही मुझे एक लेडी मिली और मैंने उसे अपने मॉम को चोदने के सपने के बारे में बताया. उसे मेरा ख्याल बहुत पसंद आया.

उसने मुझसे बोला- अपनी माँ को दिखाओ.

मैंने मॉम की फोटो उसको दिखाई. उसके साथ मेरी इस कामना को लेकर काफी कुछ बातचीत हुई. फिर हम दोनों ने प्लान बनाया. मैं माँ को लेकर उसके शहर गया जोकि बहुत दूर था.

मेरी मॉम निशा घूमने की शौकीन हैं, तो में और वो कुछ देर तक बातचीत करने के बाद जाने को राजी हो गए. हम दोनों ने अपनी सब तैयारी की और चल दिए. मैंने उन्हें फ्लाइट में ले गया, इससे वो खुश हो गईं.

एयरोड्रम से हम दोनों मेरी इसी फ्रेंड पायल के यहां आ पहुंचे. मैंने मॉम को बताया कि पायल मेरे दोस्त की बहन है और मॉम के सामने मैंने पायल को दीदी कह कर ही सम्बोधित किया. मेरी मॉम ने उसे मेरी बहन ही समझ लिया.

और कहानिया   एक चूत तीन लौड़े बहुत नाइंसाफी है रे

पायल के घर में हमने पानी पिया, जो कि प्लान का हिस्सा था. पायल ने उसमें पहले से सेक्स बढ़ाने वाली दवा मिला दी थी, जिससे तुरंत ही चुत में खुजली होने लगती थी.

मेरी मॉम ने पानी पी लिया था और कुछ ही देर उस पानी ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया था.

इसके बाद मैं और पायल अपने प्लान को लेकर आगे बढ़े.

मैं वहाँ से अपनी मॉम निशा को बोलकर निकल गया कि मैं अपने काम से शहर में जा रहा हूँ और शाम तक आऊंगा. आने के बाद हम सब थोड़ा घूमने जाएंगे. तब तक आप दीदी के साथ होटल चली जाना और मैं सीधे वहीं आ जाऊंगा.

होटल में रुकने की बात मेरी मॉम और पायल को मालूम थी और उस होटल की बुकिंग वगैरह पहले से ही हो चुकी थी.

मेरे निकलने के बाद ही वो दोनों भी एक टैक्सी में होटल के लिए निकल गए. ये होटल पायल दीदी के घर से ज्यादा दूर नहीं था. मैं भी वहाँ पहुंच चुका था, लेकिन ये बात सिर्फ पायल दीदी को मालूम थी, मेरी मॉम को नहीं मालूम था.

ये होटल बहुत महंगा और बढ़िया था. जब वे दोनों उधर पहुंचीं, तो मैं उन्हें दूर से देख रहा था.

दीदी ने होटल के रिशेप्शन पर जाकर बुकिंग की बात बताई. कुछ देर बाद मैंने देखा कि वे दोनों रूम में जाने लगी थीं.

इसके बाद पायल ने मुझे जो बताया उसको लिख रहा हूँ.

रूम में पहुंच कर, पायल दीदी ने माँ को कहा- आप चेंज कर लो.
माँ ने कहा- हां … पायल … प्लीज़ तुम मेरी थोड़ी हेल्प करो. मेरा ब्लाउज जरा टाइट है और ब्रा भी एकदम कस सी रही है.

दीदी ने उनके ब्लाउज को खींच कर उतार दिया. अब मॉम सिर्फ पैंटी में रह गई थीं.

मेरी मॉम ने ध्यान दिया कि उनका सामान रिसेप्शन से ऊपर नहीं आया है. उन्होंने ये बात पायल से कही. पर मॉम के सामान को मैंने ही रुकवा दिया था. ये बात दीदी को मालूम थी.

दीदी बोलीं- ओके आप रुको, मैं देख कर आती हूँ. आप जब तक यहीं रेस्ट करो.

और कहानिया   किरायदार आंटी से मेरे फर्स्ट चुदाई हुई

ये कह कर पायल दीदी कमरे से निकल गईं. इसके 5 मिनट बाद हमने एक विदेशी कॉलबॉय को इशारा किया. वो एक वेटर की ड्रेस पहन कर पहले से ही तैयार था. ये विदेशी लड़के इधर कॉलबॉय का काम करते हैं. तो मैंने उसे सामान लेकर कमरे में भेज दिया. रूम की चाबी तो पायल के पास थी.

वो कमरे में घुसने लगा. उसके दरवाजा खोलते ही हम दोनों जल्दी से अन्दर जाकर परदे के पीछे छिप गए.

हम दोनों ने देखा कि माँ बेड पर आंखें मूंदे अपने एक हाथ से निप्पल को सहला रही थीं और अपने एक हाथ से चुत में उंगली डाल रही थीं.

इस समय उनकी धीमी धीमी सिस्कारियां निकल रही थीं- ऊफ़्फ़ … अअहहह …

मॉम की मादक आवाजें पूरे कमरे में गूंज रही थीं. उन्हें इस वक्त कोई होश ही नहीं था कि कमरे के अन्दर वेटर आ गया है और उससे अपनी ये सब हरकतें छुपाना हैं.

दो मिनट बाद उनको होश आया. वो विदेशी लड़का उनकी मस्त जवानी को एकटक घूर रहा था. वो दोनों कुछ पल तक एक दूसरे को देखते रहे. इसके बाद मॉम को होश आया, पर चुदास बढ़ाने वाली दवा का असर और सेक्स की भूख अब तक बहुत बढ़ चुकी थी.

मैं जानता था कि मेरी माँ को किसी फॉरेनर से चुदने की इच्छा है और अब इस मौके पर मेरी मॉम किसी भी हालत में नहीं रुक सकती थीं.

तभी मॉम ने उसकी तरफ मुस्कुरा कर नशीली निगाहों से देखा. वेटर ने बिना टाइम गंवाए अपने कपड़े उतार दिए और सीधे माँ के शरीर को खाने के लिए उनके ऊपर चढ़ गया. वो मेरी माँ के भूरे भूरे कड़क निप्पलों को अपने मुँह में लेकर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा. मेरी मॉम ने उसके सर को अपने मम्मों पर दबा लिया.

अब मेरी मॉम की मादक सिसकारियों की आवाज़ और तेज़ होने लगी थी ‘अअह … ऊम्म्म … अअहह..’

फिर उस लड़के ने मेरी माँ की गर्दन को चूमना शुरू कर दिया. मेरी माँ ने भी उसे कसकर पकड़ लिया और उसके शरीर का पूरा भार अपने ऊपर ले लिया.

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares