नेहा की जवानी लंड की दीवानी

कैसे हो मेरे प्यासी कामसीँ रसभरी चुतवाली आंटी भाभी और लॅडीस फ्रेंड्स. मैं योगु आपके सामने मेरी एक कहानी बताने जा रहा हू. मैं मुंबई की एक मंक कंपनी मैं जॉब कर रहा हू.

मेरी आगे 28 साल है. मैं सेक्सी हॅंडसम जवान लड़का हू. आज कल रोज 3-4 बार हिलता हू. मेरा लंड 6.7″+ का है. मैं बेल्गौम कोल्हापुर पुणे से बिलॉंग करता हू. अभी मुंबई मैं एक मंक कंपनी मैं जॉब जाय्न किया है.

ये स्टोरी मेरी और मेरे एक पहचान वाली भाभी की है. वो मेरे कज़िन की फ्रेंड है. हमारी पहचान ऐसेही एक शादी के फंक्षन मैं हुई थी. हमारी पहचान थी तो हमेशा हमारी बाते होती रहती थी फंक्षन मैं मिलने पर.

वैसे आपको बताना चाहूँगा. मुझे मेच्यूर लॅडीस बहुत पसंद है. ख़ासकर आंटी भाभी भरे बदन वाली लॅडीस. मेरे से उमर मैं बड़ी, पता नही बुत हा बहुत लीके करता हू. ऐसे लॅडीस का नेचर.

वैसे भाभी के बारे मैं बताना चाहूँगा. उनका नामे नेहा है. उनका फिगर बहुत सेक्सी है. 36 32 38 के आस पास. वो हमेशा सारी पहनती है. उनके बाल बहुत सिल्की और लूंबे है. उनकी गदराई भारी हुई गांद का तो हारकोई दीवाना है. बड़े आड बूब्स दिल करता है हमेशा चूस्ता राहु. और वो अपनी फॅमिली के साथ मुंबई मैं रहती थी.

वैसे मैने भी अभी अभी कंपनी चेंज की थी. और मैं मुंबई मैं रह रहा था. अचानक मुझे मार्केट मैं घूमते हुए नहाज़ी देख गयी. मैं उनको देख रहा था तभी उनकी नज़र मुझपर पड़ी.

उन्होने मेरे पास आकर पूछने लगी. मुंबई मैं कब आए यहा क्या काम है. कहा रह रहे हो वग़ैरा वग़ैरा. सो मैं बताया की अभी अभी नयी कंपनी जाय्न की है और पास मैं ही फ्लॅट मैं रह रहा हू.

सो वो बहुत खुश हुई और हमने मोबाइल नंबर लेलीए एकदुसरे के. वैसे आज वो बहुत मस्त लग रही थी मस्त डीप नेक वाला ब्लाउस. उसकी सारी के नीचे उसका गोरा गोरा तोड़ा भरा हुआ पेट. और उसकी गहरी नाभि मेरा तो लंड सलामी देने लगा.

और कहानिया   दुसरो के बीवी को चोदने का मज़ा अलग है

फिर उसने मुझे कभी घर आने का बोलकर वो चली गयी. वैसे उस दिन से हमारी व्हातसपप पर छतिंग शुरू हो गयी. कभी कभी हम देर रात तक गुपशुप करते रहते. और कभी उसका मान हुआ तो वो कॉल करके बाते करती.

उसका यह प्यार से बात करना नोक झोक करते मुझसे हर एक बात शेर करना. मुझे मानो उससे प्राय होने लगा. क्या दिलकश अदाए थी. उसकी मीठी मीठी बाते मैं तो उसपर पूरा फिदा हो गया.

कभी कभी वो नये नये ड्रेस या सारी पहनने पर. अपनी फोटो मुझे भेजकर देखती. और पूछती कैसे लग रही हू. ये मुझपर कैसे लग रहा है वग़ैरा. मैं उसकी कातिल अड़ाओ को देखकर उसको बोलता. काश आप जैसे मेरी कोई गर्ल फ्रेंड होती. इतनी खूबसूरत हो आप की आपके पति से मुझे जेलस फील होता है.

वैसे वो आगे मैं मुझसे 6-7 साल बड़ी थी. मैं दिल ही दिल में उनको प्यार करने लगा था. मैं हमेशा उनकी तारीफ करता. वो एक बहुत मस्त मेच्यूर औरत है. मैं मेरे दिल की बात खुलकर नही बता पा रहा था. क्यूकी आगे गॅप था हमारे बीच और वो एक शादी शुदा औरत थी.

ऐसेही उसने एक दिन मुझे उनके घर बुलाया. उनके पति से मिलवाया. और बहुत आछा दिन बिता उनके साथ. मुझे सॅटर्डे सनडे को हॉलिडे रहता है. सो अब मैं और वो काफ़ी हद तक खुल कर बाते करते.

उसने एक दिन मुझे उसके घर पर खाने के लिए इन्वाइट किया. जब मैं फ्राइडे को ऑफीस से उनके घर गया. तब देखा की आज वो घर पर अकेली है. उसके घरवाले गाओं मैं किसी फंक्षन के लिए गये थे. और कुछ दिन बाद आने वेल थे.

उसने मेरा आचेसे वेलकम किया और मुझे अंदर लेके डोर बंद करके किचन मैं पानी लाने चली गयी. आज उन्होने एक मस्त सिल्की ट्रॅन्स्परेंट गाउन पहना था. उसका गोरा गोरा भरा हुआ बदन. देखकर मेरा लंड हरकत करने लग गया.

और कहानिया   लेडी बॉस को रंडी बनके चोदा

वैसे मेरे मान मैं संकोच था की उसकी आगे मेरे से काफ़ी बड़ी है. मगर फिर भी मैं उनको अंदर ही अंदर प्यार करने लगा था. मगर उनसे बोलने मैं, मान मैं एक दर भी था.

बुत हमारी बाते शुरू हुई और इसी बीच उसने अक्चा खाना बनाकर हम खाने लगे. उनका जब खाना परोसते झुकने पर गहरी बूब्स की घाटी दिखती. मैं तो बहुत जाड़ा एक्शिटेड हो जाता.

अब उनको भी सयद पता लगा. मगर मैं ऐसे बिहेव करता की सब नॉर्मल हो गया. अब हम खाना खाकर टीवी देखते बेड पर लेते रहे. उनकी कामसीँ बदन की माहेक मेरे नाक मैं जाकर. मुझमैई एक अलग सा एक्शितमेंट पैदा करने लगी थी.

उनकी बदन की नशीली खुश्बू मुझे बेकाबू करने लगी. मैं मेरे लंड को बार बार अड्जस्ट कर रहा था. अब उनके मस्त चिकने पैरो पर मैं हल्केसे मेरे पैर घिसते. मसलते टीवी देखते ऐसा बिहेव करने लगा. अंजान बनके अब मैं उनके बदन को सात कर लेता रहा.

अब वो भी बिना बोले सब महसूस करते टीवी देखने का नाटक कर रही थी. मैने हल्केसे उसके बड़े बड़े बूब्स को हाथ से सहलाने लगा. पैरो पर पैर घिसते उसकी गाउन को उपर उठाते. पैर सहलाते उसके बड़े बड़े बूब्स को मसलाना शुरू किया.

वो बस मेरी हरकत से आहे भरते टीवी देखने का नाटक कर रही थी. मैने उसके गले पर मस्त किस करना शुरू किया. अब मैं उसकी भारी हुई गदराई नंगी जाँघो पर जंघे घिसते. उसके गालो पर उसके नेक पर किस करते लोवे बाइट्स करते उसके बदन पर बदन रगड़ने लगा.

अब वो भी मेरे लिप्स पर अपने जीभ घूमते मेरे मूह मैं जीभ डालकर स्मूच करने लगी. अहहा हह ऑश मुहह यहह. मैं कचा कच उसकी बड़े बड़े बूब्स को सहलाते तो कभी निपल को उंगलियों के बीच मसलते. उसके मूह मैं जीभ डालकर उसकी जीभ चूस रहा था.

Pages: 1 2