लोखड़ौन में मिल गयी कुंवारी चूत

हेलो दोस्तों मेरा नाम प्रतिक है. मेरी उम्र २५ साल है और हाइट ६.२ फट की है. वैसे तो मैं ंप का हूँ लेकिन अपने जॉब के सिलसिले में दिल्ली में रह रहा हूँ. यह मेरी पहली कहानी है उम्मीद करता हूँ की आपको पसंद आएगी.कहानी पिछले साल की है जब लोखड़ौन पहली बार लगा था. मैं अपनी गर्लफ्रेंड के साथ लाइव-इन में रहता हु. लोखड़ौन से पहले होली में वो अपने घर गयी थी जिसके बाद लोखड़ौन लग गया और मैं यहाँ अकेला रह गया.मैं जिस बिल्डिंग में रहता हु वो ६ फ्लोर्स का है. मैं सबसे ऊपर रहता हूँ और मेरे के सामने ही खुली हुई छत है. ऐसे तो बहुत काम समय ही कोई ऊपर आता है लेकिन लोखड़ौन लगने के बाद सबका बहार जाना बंद हो गया.तो लोग शाम के समय छत पर आ जाया करते थे. मोस्टली फैमिलीज़ ही रहती हैं इस बिल्डिंग में. लेकिन कुछ फ्लैट्स में बैचलर्स भी रहते हैं. मैं ऐसे भी ज़्यादा किसी से इंटरकशन करता नहीं हु क्यूंकि मेरी पर्सनालिटी इंट्रोवर्ट टाइप की है.मैं शाम को छत की एंट्रेंस वाली गेट खोल देता था और अपने ऑफिस का काम करते रहता था अपने रूम में. जिन्हे भी आना होता था शाम को १-२ घंटे क लिए आते और फिर चले जाते थे. मैं भी सबके जाने के बाद गेट बंद कर देता था.एक दिन जब मैं छुट्टी में था तो शाम को जब थोड़ा अँधेरा होने लगा था तो मैं गेट लगाने गया तो देखा की सारे लोग तो चले गए हैं शिवाय एक लड़की के.मैं मैं ही मैं कोसने लगा ककी जैसा मैंने पहले ही बताया की मैं इंट्रोवर्ट टाइप का हु तो मुझे प्राइवेसी के साथ रहना ज़्यादा पसंद है. इसलिए जब सब लोग चले जाते थे नीचे मैं तब ही अपने कमरे से बहार निकल कर छत पर घुमा करता था.तो इसलिए मैं वापस अपने कमरे में आ गया. कुछ देर के बाद मैं वापस छत पे गया तो देखा की वो लड़की अभी भी छत पर वाक कर रही है. फिर मैंने सोचा की कब तक वेट करूँगा मैं भी छत पर टहलने लगा.कुछ देर बाद वो लड़की अचानक से मुझसे पूछती है “क्या आपके पास सिगरेट है?”मैंने कहा “जी है.” और फिर उस लड़की को सिगरेट लेकर दी और एक खुद क लिए भी ले ली. उसने अपनी सिगरेट जलाई और पीने लगी. मैंने भी अपनी सिगरेट जला ली और पीने लगा. तभी वो फिर बोलती है “मेरा नाम शिवानी है. मैं आपसे २ फ्लोर नीचे रहती हु. आपका क्या नाम है?

और कहानिया   सौतेला बाप का लुंड मेरे अंदर

मैंने कहा “जी प्रतिक. और आप मुझे सिर्फ प्रतिक बोल सकती हैं ये आप नहीं.”“ठीक है लेकिन फिर तुम भी मुझे शिवानी ही बुलाओगे.”मैंने हस्ते हुए कहा “ठीक है. और तुम किसके साथ रहती हो यहाँ?”“मैं अपनी एक फ्रेंड के साथ रहती हु लेकिन वो होली में अपने घर गयी और उधर ही फास गयी इस लोखड़ौन में.”“अच्छा मैं भी अपनी गर्लफ्रेंड के साथ रहता हु यहाँ पे. और वो भी होली में घर गयी थी अपने और फिर लोखड़ौन स्टार्ट हो गया.”वो फिर थोड़े चिढ़ाते हुए तरीके से बोली “अच्छा लाइव-इन में रहते हो बड़े फॉरवर्ड हो यार तुम तो! करते क्या हो पढाई?”“जी नहीं जॉब करता हु. पिछले साल ही मैंने अपनी बी टेक कम्पलीट की है. और तुम क्या करती हो?”“तुम तो सीनियर निकले मेरे से. मैं अभी सेकंड ईयर में ही हूँ. बी टेक कर रही हूँ मैकेनिकल ब्रांच.”“वाओ यार मतलब तुम उन रेयर स्पीशीज में से हो जो लड़कियां मैकेनिकल ब्रांच में होती हैं. तुम्हे तो अटेंशन मिलने की आदत हो गयी होगी.” मैंने उसकी टांग खींचते हुए कहा.“क्या यार कभी कभी तो मैं इतनी परेशान हो जाती हु की क्या बताऊँ. मेरे अलावा बस २ और लड़की है मेरी क्लास में. तुम्हारा कौन सा ब्रांच था?”“मेरा तो कस ब्रांच था.”इस तरह हमारी बातें चालू हो गयी. उसने मुझे बताया की वो पंजाब से है और वो अपने माँ-बाप की इकलौती संतान है. मैंने भी उसे अपने बारे में बताया की मैं ंप से हु और पिछले पांच सालों से दिल्ली में हु.मैंने उसे अपनी गर्लफ्रेंड शरबानी के बारे में भी बताया की कैसे हमारी लव स्टोरी स्टार्ट हुई. और मेरी फॅमिली में मेरे अलावा मेरे मम्मी-पापा और मेरी एक छोटी बेहेन है.बात करते-करते कब समय बिट गया पता ही नहीं लगा. फिर उसने कहा की रात ज़्यादा हो गयी है तो वो जा रही है अपने रूम. मैंने भी गुड नाईट बोलै और पूछा की क्या वो कल रात को पार्टी करेगी यहाँ ऊपर. उसने हाँ कहा.तो मैंने बोलै की ठीक है फिर कल सबके जाने के बाद ८ बजे तुम ऊपर आना फिर हम पार्टी करेंगे.

और कहानिया   कामसीँ वर्जिन छूट की चुदाई का मज़ा

अगली शाम को सबके जाने के बाद वो ऊपर आयी. मैंने छत पर टेबल और चेयर्स लगा दी. फ्रेंच फ्राइज और चिप्स मैंने पहले ही मंगवा लिए थे.मेरे पास दारु की स्टॉक हमेशा रहती है और लउकीली मैंने होली से पहले ही अपनी दारु की शॉपिंग कर ली थी जो अगले ३-४ महीने तक आराम से चल जाती. मैंने उससे पूछा की वो क्या पीना पसंद करेगी बियर व्हिस्की रम वोडका या वाइन. उसने कहा की कुछ बचा भी है. मैंने भी मज़ाक में कहा की है न गईं.फिर उसने कहा की जो भी मैं पियूँगा वो भी वही पीयेगी.तो मैं २ बियर की पिंट ले आया और ढक्कन खोलते हुए उसे एक बोतल दे दी. उसने कहा की उसकी फवौरीते लिकर बियर ही है. मैंने कहा की मेरी भी. फिर हम वही बैठ कर पिने लगे और बातें करने लगे.बातों बातों में हमनें ७ पायंट्स लहैं कर दी बियर की. उसके बाद मैं रम और कोक मिक्स करके ले आया. और हमनें २-२ गिलास उसकी भी पि ली. अब हम काफी ज़्यादा नशे में आ गए थे. फिर मैंने उससे कहा की चलो डांस करते हैं और हम नशे में झूमने लगे.तब मैंने पहली बार उसे ध्यान से देखा. उसकी हाइट लगभग ५ फ़ीट की थी और उसकी फिगर ३२ २६ ३२ की होगी. अपनी छोटी हाइट की वजह से वो काफी क्यूट लगती थी. और फिगर तो उसका सेक्सी था ही. नशे की वजह से मेरा आकर्षण उसके प्रति और बढ़ गयी.वो भी ऐसे झूम रही थी जैसे की बिलकुल भी होश में न हो. फिर हम दोनों मेरे रूम में आ गए और दोनों एक साथ डांस करने लगे. धीरे धीरे हम काफी करीब हो गए और हमारे डांस स्टेप्स भी काफी कामुक से हो गए थे.मैंने उसकी कमर पर हाथ रखा हुआ था और वो अपनी चुतरों को मेरे लुंड के ऊपर घिष रही थी. इससे मैं काफी ज़्यादा उत्तेजित हो गया था. और मैंने अपने होंठ उसके कंधो पर रख दिए. इससे वो मेरे तरफ घूम गयी और मुझे किश करने लगी. मैं भी उसके होंठों को चूमने लगा. अब मेरे हाथ उसके बूब्स पर आ गए थे और मैं उन्हें मसल रहा था.

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published.