किटी पार्टी के माज़े

मेरा नाम मीनल है और में इंडियन सेक्स स्टोईएस काफ़ी साल से पढ़ती हूँ. ई थिंक डिफरेंट मूड्स में आप को मान चाही स्टोरी मिल जाती है. वैसे मेरी शादी को 5 साल हो गये है. और असूसुअल मेरी पति ऑफीस और टूर्स में बिज़ी रहते है. मेरी बहुत सारी सहेलिया है पार कुछ काफ़ी करीब है, आप समाज ही गये होनजे…..वॉट ई मीन…हम लोग एक दूसरे के घर किटी पार्टी ऑर्गनाइज़ करती है वैसे फाइ टाइम पास के लिए कुछ तो चाहिए…एवेरी 15 डेज़ तुर्न बाइ तुर्न सभी के घर जाते है. फिर खाना, पीना और मौज मस्ती…..और आब तो साब इतने खुल चुके है की सभी अपने सीक्रेट्स बताने में कोई जीजक नही होती… नॉटी बातें करने का मज़ा ही कुछ और होता है..
एक बार हमेशा की तरह मेरे घर पे किटी ऑर्गनाइज़ की.. मैने अपनी काम वाली बाई को हेल्प करने के लिया बुलाया था लेकिन किसी कारण वो नही आए और उसने अपनी छ्होटी बेटी कमला को भीज दिया. जो अभी सिर्फ़ 18 साल की होजी ..और उसकी मा की जगह पे वो कभी कभी घर का काम करने आती थी…. किटी पार्टी में मेरी सारे सहेलिया आगेई और हम सब ने बहुत एंजाय किया , लेकिन मेरी साब्से करीबी दोस्त श्रेया का ध्यान पता नही क्यों बार बार कमला पे जा रहा था.. में समाज गये थी उसका क्या इरादा है. इस लिए पार्टी ख़तम होने के बाद मैने सीध्या श्रेया से पूछ ही लिया..”क्या तो उस कमला को छोड़ ना चाहती है” और श्रेया ने तुरंत हा करदी . मैने कहा तोड़ा सबर कर कुछ जुगाड़ करती हू.., और श्रेया को अपने बेड रूम में भेजा …जब कमला मूज़े किचन मैं हाथ बता रही थी तब मैने उसे कहा मेरा एक काम करेगी ? हो सके तो श्रेया के सार में तोड़ा तेल डाल कर मसाज कर्दे ुआसे बहुत सिर दर्द हो रहा है..
कमला मेरी बात कभी माना नही करती. वो मेरे बेडरूम में तेल लेकर गये और श्रेया को कहा बीबीजी सार में दर्द हो रहा है चलो में आप को मालिश कर देते हू. श्रेया को बस यही चाहिए था..मालिश करते करते श्रेया ने कमला से कहा मेरी पीठ(बॅक) में काफ़ी दीनो से बहुत दर्द हो रहा है, तू इतनी आची मालिश करती है ज़रा वाहा पे भी कर्दे. कमला तैयार हो गये ..श्रेया ने उसके सामने ही अपना टॉप और ब्रा निकल दिया.. कमला देख कर थोड़ी शर्मा गई लेकिन जब श्रेया उल्टी सू गयी तो आचे से मालिश करना लगी… उस वक़्त में एक वोड्का सब के लिए बनके ले आए और कहा के बात है. जाम के मालिश हो रही है.. फिर कमला को भी वोड्का पीने के लिए फोर्स किया और उसे पसंद भी बहुत आए..आब कमला को तोड़ा नाशा होने लगा था. श्रेया ने कहा अपनी मालिश तो पूरी करले और कमला के पास अपने बूब्स की मालिश करवा दी..जिस से कमला थोड़ी गरम हो चूक थी.

और कहानिया   बड़े माम्मे वाली पडोसी भाभी

फिर धीरी धीरी मैने कमला के पारो पर हाथ फेरना शुरू कर दिया और वो मदहोश होने लगी थी. मैने और श्रेया ने महॉल और गरम करने की लिए नॉटी बातें शुरू कर दी थी..तभी श्रेया ने कमला से पूछा क्या तुम्हारा कोई बॉय फ्रेंड है.? तो कमला बोली एक लड़का पसंद है लेकिन…. हम समाज गयी थी की आब वो खुल रही है.. इस लिया मैने भी अपना टॉप निकल दिया और ऐसा ही बातें करना लगी…
फिर श्रेया धीरे धीरे कमला के नज़दीक होती गयी और उसकी स्कर्ट में हाथ डाल दिया . कमला को मज़ा आ रहा था इस लिए वो कुछ नही बोली धीरे धीरे श्रेया ने अपना पूरा हाथ कमला की पनटी में डाल दिया ..आब कोई फॉरमॅलिटी नही बची थी.. हम तीनो काफ़ी गरम हो चुकी थी..श्रेया और कमला किस्सिंग करने लगी थी. और में भाई कमला के कपड़े उत्तरने लगी थी.. स्लोली मैने कमला के पूरे बदान को चूमना चालू किया और उसके बूब्स दबाने लगी. कमला के मूह से आ की आवाज़ निकल ने लगी तभी श्रेया ने उस की छूट में अपनी उंगली डाल दी थी ..
आब कमला को हम ने पूरा नंगा लिटा दिया और श्रेया उस की छूट को चाट ने लगी . में बूब्स की बादें सोकिं हू इश्स लिए कमला के बूब्स मूउः में लेने लगी. कमला की तड़प के से हमे पता चल गया की वो कितना मज़्ज़ा ले रही है. श्रेया को उसकी छूट इतनी पसंद आगाई थी.. मूज़े भी अपनी छूट चटवाने का मान किया और में कमला की मूह के उपर जका बैठ गयी. और की सार पकड़ कर अपनी छूट में डाल दिया और कमला भी उसे जो ज़ोर से चाट ने लगी..मारा सारा पानी निकल कर उसके मूह में डाल दिया.
आब श्रेया से रहा नही गया और अपने पर्स में से डिल्डो निकल कर ले आए .(वो जबही मेरे घर आती है डिल्डो ज़रूर लाती है आप समजगा ये क्यू..) श्रेया ने डिल्डो बाँध कर कमला की छूट में घुसा दिया .. मूज़े पता था कमला ज़ोर से चीखे गे. इसलिए मैने पेल्हे से ही कमला का सार अपनी गूडी में ले लिया था और जब वो छिला ने जा रही थी उसका मूउः दबा दिया. फॉर श्रेया ने धीरे धीरे डिल्डो अंदर डालना सुरू किया और कमला को भी छोड़ने में मज़्ज़ा आने लगा. में पीछे से उसके बूब्स मासगे कर रही थी. बस आब कमला का पानी निकल ने वाला था और श्रेया ने ज़ोर ज़ोर से छोड़ना चल कर दिया … कमला की तड़प बहू बढ़ने लगी थी.और उसे देख कर हम दोनो की उसे ज़ोर ज़ोर से छोड़ रही थी. कमला को छोड़ने के बाद अभी श्रेया का मान नही भरा था और उसके प्यास भुजा ने के लिए मैने अपनी छूट भी उसे डेडी. हम तीनो बहुत तक चुके थे और एक दूसरे के साथ लिपट कर सो गये…..

और कहानिया   अंजलि की चुदाई कॉल बॉय के सात

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares