जन्मदिन पे बेहेन की चुदाई

मेरे प्यारे दोस्तों आज मैं आपको अपनी ज़िंदगी का खूबसूरत तोहफा जो मुझे मेरे जन्मदिन पे मिला वो थी अपनी ही बहन की चुदाई, आज मैं आपसे शेयर कर रहा हु, ये मेरा कोई मनगढंत कहानी नहीं है, ये मेरी ज़िंदगी की खूबसूरत रात की एक गुदगुदाती सी याद है जो मेरे साथ कल ही मेरे साथ हुआ है, मैं चाहता हु की आप भी मेरी इस अनुभव में शामिल हो, इसलिए आपका बहुत बहुत स्वागत है|

मेरा नाम रोहन है मैं दिल्ली में रहता ही, मेरे साथ मेरी माँ और मेरी बड़ी बहन जो की 24 साल की है मैं अपने बहन से एक साल छोटा हु, मेरे पापा अमरीका में रहते है, मम्मी अभी 15 दिन पहले ही अमेरिका गयी है पापा के पास तो घर में मैं और मेरी बहन सोनाली ही रह रहे है. मेरी बहन बड़ी हु खूबसूरत लड़की है, उसका बूब की साइज मस्त है ना ज्यादा बड़ा और ना जयादा छोटा, मैं ऐसे ही बूब को पसंद करता हु, मेरी बहन अक्सर जीन्स और टॉप पहनती है, बाल उनके बड़े बड़े है, काफी गोरी और होठ बिना लिपस्टिक के ही पिंक है, ऐसा लगता है की गाल को अगर कास के चूस ले तो खून निकल जाये, इतनी कोमल है मेरी बहन |

मैं अक्सर रात में जब सोता था तो सोचते रहता था की कैसे अपनी बहन की चुदाई करू, कैसे वो अपनी बूब को टच करने दे, कैसे वो मुझे अपना दूध पिलाये यही सब सोचते रहता था मेरे दिमाग में एक आईडिया आया की क्यों ना मैं अपने जन्मदिन पे ही उनसे कह दू की मैं आपसे बहुत प्यार करता हु, इंतज़ार खत्म हुआ, और मेरा जनदिन आ गया, दीदी ने कहा की रोहन आज तुम्हारा बर्थडे है तुम अपने दोस्त को भी घर पे ही बुला लो, हमलोग मिल के पार्टी करेंगे, मैं तैयार हो गया, वो बोली बता तुम्हे क्या गिफ्ट चाहिए, मैं जा रही हु मॉल ले के आउंगी, तो मैंने कह दिया दीदी आपसे आज मैं मांग लूंगा अगर आप मुझे गिफ्ट देना चाहती हो तो दीदी बोली ठीक है, बर्थडे के बाद चलेंगे जो तुम्हे चाहिए ले लेना, मैंने कहा ओके.

और कहानिया   घरवाली और बाहरवाली भाग 2

शाम को करीब ७ बजे मेरे दोस्त आ गए और मैंने केक काटा, सबने मेरे मेरे लिए गिफ्ट लाया और फिर मैंने होटल से खाना मंगवाया, मेरे दोस्त डिनर कर के चले गए दीदी बोली चल रोहन मुझे अच्छा नहीं लग रहा है क्यों की मैं अभी तक तुमको गिफ्ट नहीं दिया, तो मैंने कहा मैं आज मांग लूंगा पर आपको देना पड़ेगा, तो दीदी बोली हां हां क्यों नहीं तुम मेरा प्यारा भाई है, अभी माँ पापा यहाँ नहीं है तो मैं ही तुम्हारा ख्याल रखूंगी, तुम बेहिचक मागो, मैंने कहा अगर आपने मन कर दिया तो, तो दीदी बोली नहीं यार मैं नहीं मन करुँगी, तो मैंने कहा आपको प्रोमिस करना पडेगा, हां चल प्रोमिस जो मांगेगा वो मैं दूंगी, पर बजट के बाहर मत मांग लेना, नहीं आपके पास है, आप दे सकती है, तो चल ठीक है मैं तुम्हे दूंगी तू मांग |

तो मैंने कहा ठीक है दीदी अगर आप मुझे कुछ देना चाह रही हो तो आप मुझे अपना बूब दिखा दो, दीदी गुस्से से लाल हो गयी और बोली बद्तमीज तुम्हारी ये हिम्मत कैसे हुई अपने बहन से ये बात कहते हुए तुम्हे शर्म नहीं आयी, एक बार भी नहीं सोचा की मैं क्या सोचूंगी, खरबदर तो ऐसी बात कभी की तो….. मैंने कहा “पहले ही मैंने कह दिया था की अगर आप दोगे तभी हां करो” ठीक है नहीं देना है तो….. दीदी बोली पता है अगर ये बात मैंने पापा को फ़ोन कर के बता दिया तो तुम्हारा क्या हाल होगा, हां हां पता है अगर आपने ऐसा किया तो मैं घर छोड़कर चला जाऊंगा, अगर आपको नहीं देना था तो प्रोमिस क्यों किया, फिर उनका गुस्सा शांत हो गया, बोली भाई ये गलत बात है, मैंने कहा कोई गलत बात नहीं है, मैं थोड़े ना कुछ कर रहा हु, एक बार देखने ही मांग रहा हु आपका क्या जायेगा, पर मेरा जन्मदिन का बेस्ट तोहफा होगा, दीदी चुप हो गयी मैंने कहा, दिखाओ ना प्लीज दीदी ने अपना टॉप ऊपर कर दिया और ब्रा से बहार निकाल के अपना आँख बंद कर ली.

और कहानिया   मेरे मस्त दीदी की चुदाई

मैंने कहा दीदी आप बहुत ही सुन्दर हो, क्या गजब का बूब है आपका, क्या मैं छूकर देखू तो बोली देख रोहन बस दिखा दिया अब तुम छूने की बात कर रहे हो , ये गलत है, मैंने कहा कुछ भी गलत नहीं है दीदी किसी को कुछ भी पता नहीं चलेगा, दीदी बोली चल ठीक है छू ले, और वो आँख बंद कर ली, मैंने चुने की बजाय उसपे किश कर लिया वो सिहर गयी और बोली ये गलत है मैंने कहा कुछ भी गलत नहीं है, अभी मैंने छुआ कहा, बोली चल जल्दी छू ले, मैंने एक हाथ से एक को और दूसरे हाथ से दूसरे को पकड़ा और हल्का हल्का दबाना सुरु कर दिया, दीदी सिहरने लगी, और अपने होठ को दांत से दबाने लगी, उनका बूब बड़ा ही कोमल और पिंक कलर का निप्पल था, मैंने तो देखते ही रह गया.

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares