परीक्षा देने के बहाने होटल में अपने भाई से चुदी

Hotel Me Sex story, Exam me Chudai, Bhai Bahan Sex kahani : नॉनवेज story.com के साथियों को मेरा नमस्कार।  मेरा नाम पिंकी है मैं 22 साल की हूं, मैं हॉट और सेक्सी लड़की हूं आज मैं आपको अपनी सेक्स कहानी इस वेबसाइट पर लिख रही हो।  मैं इस वेबसाइट की बहुत बड़ी फैन हूं आज से ही नहीं 2017 से ही इस वेबसाइट की सेक्स कहानियां पढ़ती हूँ। जब मैं कॉलेज जाने लगी तब से ही मेरे अंदर सेक्स की भावना जागृत होने लगे क्योंकि उस समय तक मेरा शरीर की अंग विकसित हो चुके थे।  मेरी चूचियां बड़ी बड़ी हो गई थी मेरी गांड की उभार बाहर की तरफ निकल गई थी। सच पूछें तो उस समय लड़कों की लाइन लगा देती।  कितने लड़के मुझे लाइन देते थे और मुझसे दोस्ती करना चाहते थे पर मैं सब से दोस्ती करना नहीं चाहती थी।

उस समय मोहित ने मुझे सम्मोहित कर दिया मैं उसे पसंद करने लगे वही मुझे पसंद करने लगा पर मोहित कोई और नहीं मेरे रिश्तेदार ही था। मेरे बड़े चाचा का बेटा  यानी कि मेरा चचेरा भाई।  भाई  चाहे अपना हो  या चचेरा भाई हो या गांव का भाई हो या अपने रिश्तेदार का कोई भाई हो।  अगर वह सही है आप को बदनाम करने की नहीं सोच रखा है और आप से सेक्स संबंध बनाना चाहता है  तब  सच तो यह है ये बड़ा सेफ है चुदाई  का रिस्ता। आप आराम से चुद सकते हो। कोई आपको ना तो रोकने वाला ना टोकने वाला। आप भाई भाई कह कर मजे लेते रहो लोग समझेंगे की भाई बहन में प्यार ज्यादा हो गया है या भाई अपने बहन को ज्यादा मानता है और बहन भी भाई को बहुत प्यार करती है।

शायद आप लोग भी मेरी बातों से सहमत होंगे। उसमें मैं सेक्स करना चाहती थी पर डरती थी करूं क्या पर जब से मोहित मेरी जिंदगी में आया जब उसने मुझे प्रपोज किया कि बहन तुम बहुत सुंदर लगती हो बहुत हॉट लगती हो बहुत सेक्सी लगती हो और मैं तुमसे एक बार सेक्स करना चाहता हूं जैसा कि मोहित ने मुझे दशहरे के मेले में कहा था।  उस दिन के बाद मैं थोड़ा उससे बात करना तो ज्यादा कर दी पर उसको मैंने कहा कि मुझे थोड़ा टाइम चाहिए मुझे सोचना है मुझे समझना है यह सब करना मेरे लिए ठीक होगा कि नहीं।

और कहानिया   काजल दीदी को सुहागरात का ट्रेनिंग दिया और कसी हुई बूर में लंड घुसाया

फिर मैं नॉनवेज story.com पर कई सारे कहानियां पड़ी जहां पर बहन भाई की सेक्स कहानियां थी उस पर भी चचेरे भाई के साथ कई लड़कियों ने सेक्स किया था तो मुझे लगा कि मैं भी कर सकती हूं तो मैंने उसको जाकर बोली कि तुम मुझे बहला फुसला तो नहीं रहे हो मुझे बदनाम तो नहीं करोगे।  क्योंकि लड़की अगर एक बार बदनाम हो जाए तो उस पर एक दाग लग जाता है और किसी लड़की पर दाग लग ना सही बात नहीं है।  जब तक आप पकड़े नहीं गए तब तक आप सुशील कन्या जब आप पकड़े गए तो आप सबसे बड़ी रंडी है।  शायद यह बात आपको भी पता है दोस्तों मुझे तो लग रहा था मैं बात आगे बढ़ाओ कि नहीं।

मोहित ने मंदिर में जाकर  मेरे सामने ही कसम खाया कि मैं यह बात किसी को नहीं बताऊंगा और तुम्हें कभी बदनाम नहीं करूंगा।  तब मैंने उसको हां बोली और सबसे बड़ी बात यह थी दोस्तों मेरे चाचा का घर मेरे घर से थोड़ा दूरी पर था और मेरे घरवाले और मेरे चाचा के घर से भी ज्यादा अच्छे नहीं थे।  हम भाई-बहन तो बातचीत कर लेते थे हमारे मम्मी पापा और चाचा और चाची के साथ बातचीत नहीं था इस वजह से घर भी ज्यादा आना जाना नहीं था।  पर मोहित और मैं दोनों एक ही क्लास में पढ़ते थे हम दोनों ने प्लान बनाया।  एसएससी का फॉर्म भरेंगे और परीक्षा देने लखनऊ जाएंगे और लखनऊ में होटल बुक करेंगे तुम घर में बोलना कि तुम सहेली के साथ गई है मैं 1 दिन पहले ही चला जाऊंगा और हम दोनों एक ही होटल में रुकेंगे परीक्षा देंगे और रात में चुदाई  करेंगे।

हम लोगों ने भी किया दोनों ने फार्म भरा सेंटर लखनऊ भरा और एक दिन पहले ही हम लोग लखनऊ के लिए निकल गए जब परीक्षा का एडमिट कार्ड डाउनलोड की और तारीख पता चला था।  दोस्तों वह रात मेरी जिंदगी का बहुत ही हसीन रहता है उस दिन मैं वर्जिन  से चुदक्कड़  लड़की बन गई थी।  हम दोनों शाम के करीब 5:00 बजे ही लखनऊ पहुंच गए थे।  हम दोनों ने एक होटल का कमरा लिया और घर में बताया कि मैं अपने सहेली रूपा के साथ हूं तो घर वाले ने कुछ कहा नहीं उन्हें लगा सही है बेटा जो भी करना सही से करना परीक्षा अच्छे से देना।  पर मैं परीक्षा देना तो मेरा बहाना था असली बात तो चुदाई  करवाना था।

और कहानिया   पापा ने मेरे अंगों को छूकर गर्म किया फिर चोद दिया

जैसे ही हम दोनों कमरे में प्रवेश की ऐसा एहसास हुआ कि एक नई जिंदगी जीने जा रही हूँ।  क्योंकि ऐसा पहले कभी हुआ नहीं था।  जब मैं किसी लड़के के साथ एक कमरे में बंद अकेली रहूंगी।  मुझे घबराहट होने लगी थी और मोहित जी घबरा रहा था उसकी सांसे तेज तेज चल रही थी और मेरी धड़कन धड़क रही थी।  पर दोनों एक दूसरे के करीब आ गए एक दूसरे की आंखों में देखा और हम दोनों अपने अपने हाथों को आगे फैला दिया बाहों को फैला दिया हम दोनों एक दूसरे के बाहों में समा गए।

बाहों में आते ही अंदर की चिंगारियां निधि वासना और उसकी वासना भड़क उठी।  मेरी चूचियां टाइट होने लगी थी।  और मोहित का लंड खड़ा होने लगा था। मोहित मुझे चूमने लगा मेरे होंठ को किस करने लगा मेरे बदन को सहलाने लगा मेरे बालों को खोलने लगा। वह मेरे जिस्म पर हाथ फेरने लगा जिससे मैं पागल होने लगी मेरी चूत  गीली होने लगी।  मैं मदहोश होने लगी मैं होश खोने लगी।  अंगड़ाइयां लेने लगी मेरे आंख बंद होने लगे खुद ही अपने हाथों से अपनी चुचियों को दबाने लगी।  मोहित ने अपने कपड़े उतार दे उसका गठीला बदन देखकर मैं तो और भी ज्यादा पागल होने लगी।

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published.