हॉट लेडी सेक्स कहानी

तो दोस्तों कैसे हो आप सब, उम्मीद है अच्छे ही होंगे। आज हम फिर से लौटे है एक और मज़ाएदार कहानी के साथ जिसमे मैं आपको सुनाने जा रहा हु हॉट लेडी सेक्स कहानी जिसमे मेरे पड़ोस में रहने वाली चुदक्कड़ किस्म की भाभी मुझसे चुदी। बात है जब मैं लॉकडाउन की वजह से कॉलेज नहीं जा पा रहा था। मैं अपना ज्यादातर समय घर पर ही बीतता था हलाकि कभी कभी अपने दोस्तों के साथ घूमने चला जाता था। तभी मुझे एक ऐसा तरीका मिला मेरी छुट्टियों का भरपूर फायदा उठाने का जिसने मुझे कई बार बहुत ज्यादा मज़े दिए।

हमारा मोहल्ला बहुत बड़ा है जिसके वजह से घर थोड़े आस पास है। तभी मेने एक बार रात मैं छत पर घूमते हुए मेरे पड़ोस की एक भाभी को देखा। वो बाथरूम में नाहा रही थी लेकिन जब वो बहार निकली तो पूरी तरह से नंगी थी यह तक की उसने अपने बदन को ढकने के लिए टोलिया भी नहीं लपेटा था। वो बाथरूम से बहार निकली और सीधा कमरे में चली गयी लेकिन उसने तब भी न तो पर्दा लगाया और न ही डरवाजा बंद करा। फिर उसने एक टोलिया लिया लेकिन उस से अपने भीगे हुए जिस्म को पोछा और फिर टोलिया रख दिया।

अब वो एक बड़े शीशे के सामने खड़ी होकर अपने आप को देख रही थी और अपने स्तनों पर एक क्रीम लगाने लगी। वो जिस तरीके से क्रीम लगा रही थी उसे देख कर मेरे अंदर की हवस जागने लगी और मेरा मोटा और सख्त लंड खड़ा होने लगा। वो पूरी तरह से नंगी थी और अपने सेक्सी और मुलायम जिस्म को अपने हाथो से मसल रही थी। कुछ देर तक वो ऐसे ही करती रही तभी उसकी नज़र किसी तरीके से मुझ पर पद गयी। उसने तुरंत ही दरवाज़ा बंद कर दिया और जब उसने मुझे देखा तो मैं भी चौक गया था और एक दम से छुपने लगा।

उस रात मुझे नींद नहीं आयी क्योकि मुझे डर लग रहा था की कही वो मेरे घरवालो से मेरी शिकायत करने न आ जाये। अगर यह बात मेरे घरवालों को पता चलती तो मेरी बहुत बदनामी होती और बस यही सोचते हुए मुझे पूरी रात नींद नहीं आयी। अगली सुबह सब कुछ बिलकुल नार्मल ही बीत रहा था। मैं उठा नहाया और अपने मोहल्ले के दोस्तों के पास चला गया। तभी मैंने एक दोस्त से उस भाभी के बारे में पूछा तो उसने मुझे उसके बारे में कुछ ख़ास बाते बताई। उसने कहा की वो घर पर अकेली रहती है क्योकि उनके पति की नौकरी शहर से बहार है।

वो पिछले चार महीने से यह अकेली ही रह रही थी जिसमे बीच में कई बार उनके घर उनसे मिलने कुछ लड़के आते थे। हर बाद कोई न कोई नया हट्टा कट्टा लड़का उनसे मिलने आया करता था। यह बात सुनने के बाद मेरे दिमाग में बस यही ख्याल आया की वो अपनी हवस की प्यास बुझाने के लिए लड़को को घर पर बुलाती होगी और उन्हें पैसे देकर उनसे चुदती होगी। लेकिन तभी एक लड़के ने बताया की वो सभी उनके बॉयफ्रैंड्स थे लेकिंग पिछले एक महीने से कोई भी लड़का उनसे मिलने नहीं आया।

और कहानिया   कैसे दोस्त ने मेरी बेहेन की सील थोड़ी भाग 2

तभी वो भाभी अपनी घर से बहार निकली और सबसे पहले उनकी नज़र में मैं ही आया। मेने उन्हें देखा और आंखे घुमा ली वो मेरे पास आयी और मुझे उनके साथ आने को कहा। मैं भी बिना कुछ सोचे समझे उनके पीछे चला गया और जब मैं उनके घर के अंदर घुसा तो उन्होंने दरवाज़ा बंद कर दिया। उन्होंने मुझे बैठने को बोला और मैं वह सोफे पर बैठ गया। उन्होंने मैक्सी पहन रखी थी जिसमे उसके बड़े स्तन और खड़े निप्पल साफ़ साफ़ दिख रहे थे। वो मेरे पास आके बैठ गयी और मुझसे पूछा की मैंने क्या देखा। यह सुन कर मैं थोड़ा सा घबरा गया तो उसने मेरा हाथ पकड़ा और फिर से पूछा।

अब मेरे दिल की धड़कन और ज्यादा बढ़ गयी थी और मैं बस अपनी फीलिंग्स को कंट्रोल नहीं कर पा रहा था। वो मेरी आँखों में एक टक घूर रही थी जो मुझे और ज्यादा बेकाबू कर रहा था। उसने मेरा हाथ पकड़ा हुआ था और तभी उसने मुझे खींचा और मेरे होठो पर ज़ोर से चुम लिया। मैं हैरान था लेकिन मैंने भी उसे पकड़ा और दुबारा से उसे चुम लिया। अब वो पूरी तरह से मुझसे चुदने के लिए तैयार थी और मैं भी अब उसे चोदने के लिए एक पल नहीं रुक सकता था। उसने मेरी शर्ट के बटन खोलना शुरू कर दिया और मैंने उसकी मैक्सी के हुक खोल दिए।

उसके स्तन अब मुझे नंगे दिख रहे थे जो मुझे और ज्यादा मदहोश कर रहे थे। अब वो खड़ी हुयी और मुझे एक बहुत ही गन्दा इशारा करते हुए बैडरूम की तरह जाने लगी। मैं भी उसके पीछे जाने लगा और अंदर जाते ही मैंने अपने सारे कपडे उतार दिए। फिर मैंने उसे पकड़ा और बहुत देर तक उसके होठो पर चूमा। फिर मैंने उसकी मैक्सी उतार दी और उसे पूरी तरह से नंगा कर दिया। इतना खूबसूरत और मुलायम जिस्म मैंने पहले कभी नहीं देखा था और न ही इतनी हॉट लड़की को पहले कभी चौदा था। वो मुझे हर तरीके से चुदना चाहती थी और मैं भी उसके साथ अपनी साड़ी हदे पार करना चाहता था।

मैंने उसे गॉड में उठाया और पलंग पर पटक दिया फिर मैं उसके ऊपर चढ़ गया और उसे चूमने लगा। साथ ही मैंने उसके बूब्स को भी दबाया और काफी देर तक चूसा। फिर उसने मुझे अपनी नीचे लेटाया और मेरी गर्म और बड़े लंड को अपने मुँह में रख कर अच्छे से चूसने लगी। मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और उसकी हवस भरे इशारे और जिस्म मुझे पागल बना रहे थे। वो बहुत ही गंदे आँखों से मुझे देख रही थी और मेरा लंड चूस रही थी। मैं भी उसे देख रहा था और उसके स्तन दबा रहा था। फिर मैंने उसे ऊपर खींचा और अपने ऊपर बिलकुल चिपका के लिटा लिया और उसे चूमने लगा। फिर मैंने अपने लंड को पकड़ा और उस पर थूक लगाया। थोड़ी देर तक मैं अपने लंड को उसकी चुत पर मसल रहा था और फिर मैंने उसे एक ज़ोर के झटके से उसकी चुत के अंदर डाल दिया।

और कहानिया   ककोल्ड पति ने बीवी को छुड़वाया गैरों से

वो चिल्ला गयी और जैसे ही मैंने उसे चोदना शुरू किया उसकी चींख की आवाज़े बढ़ने लगी। हलाकि वो पहले भी कई लड़को से चुद चुकी थी लेकिन इतना बड़ा लंड उसे पहले कभी नहीं मिला था। वो मेरे बड़े लंड का बहुत मज़ा ले रही थी जिससे उसे बहुत ज्यादा दर्द भी हो रहा था। मैंने उस से पूछा भी था की अगर उसे दर्द हो रहा है तो मैं रुक जाता हु। लेकिन उसने मुझे और ज़ोर से चोदने के लिए कहा। उसके बाद मैंने अपनी रफ़्तार और ज्यादा बढ़ा दी और उसकी चुत का भोसड़ा बना दिया। उसकी चुत का पानी अगले बीस मिनट में निकल गया था और उसे चरमसुख का एहसास हो गया था। हलाकि मैं अभी भी उसे चोद रहा था क्योकि मेरा लंड अभी तक शांत नहीं हुआ था।

वो भी मेरे शैतान और हवस से भरे लंड को शांत करने के लिए सब कुछ कर रही थी। तभी उसने मुझे चूमना शुरू कर दिया और मेरे हाथो को अपने स्तनों पर रख दिया। नीचे से वो अपनी कमर बहुत ही प्यार से हिला रही थी क्योकि मेरा लंड उसकी चुत में था। वो बहुत ज़ोर से अपनी कमर हिलाने लगी और ऊपर से पूरी तरह सी मुझसे चिपक गयी थी। उसका नंगा जिस्म जब मेरे नंगे बदन से लगा तो मुझे बहुत मज़ा आया और एक नया एहसास हुआ। अगले बीस मिनट तक मैंने उसे दबा की चौदा और फिर अपने लंड को उसके मुँह में डाल दिया। उसने मुझे एक बहुत ही सेक्सी ब्लोजॉब दी जिसके बाद मेरा सारा वीर्य उसके मुँह में ही झड़ गया। उसने तुरंत वो वीर्य अपने मुँह से बहार निकल दिया और बाथरूम की तरह भागी। वो मुँह धो कर बहार आयी और मुझे चूमने लगी। उस दिन के बाद से हम दोनों हर बार सेक्स करने लगे जब हमे मौका मिला। तो दोस्तों जुड़े रहिये हमारे साथ और भी मज़ेदार कहानियाँ सुनने के लिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.