दीदी का गांड की तरफ से चूत में लंड घुसेड़ दिया रात में

रात को मिली अंतर्वासना भड़क गई थी। मेरा लंड खड़ा हो गया था वह शांत होने का नाम ही नहीं ले रहा था। इन सब की वजह था मेरी बहन का मचलती जवानी, मेरी बहन 2 साल बाद आई है विदेश से पढ़ कर। 2 साल बाद है वह इतनी बदल गई मैं आपको बता नहीं सकता। वह इतनी खूबसूरत और हॉट हो गई मुझे खुद भी विश्वास नहीं हो रहा था कि मेरी बहन इतनी हॉट और सेक्सी हो जाएगी विदेश जाकर। आज मैं अपनी बहन की कहानी आपको नॉनवेज story.com के माध्यम से आप सभी दोस्तों को सुनाने जा रहा हूं।

मेरा नाम सक्षम है मेरी बहन का नाम निहारिका। नेहा मेरे से 2 साल बड़ी है इसलिए मैं उसको नेहा दी कहता हूं। उनका घर का नाम नेहा है। 12th करने के बाद नेहा दीदी कनाडा चली गई थी पढ़ने के लिए 2 साल का कोर्स था और वहीं पर वह रह रहे थे। जब उनका कोर्स खत्म हुआ तो वापस आ गई। हम लोग वीडियो कॉल से ही उससे बात करते थे। जब वह यहां आई मैं उनको एयरपोर्ट पर लेने गया था। एयरपोर्ट पर देखते ही मेरा माथा ठनक गया। इतनी हॉट और खूबसूरत आपको तो पता है। 12 क्लास तक लड़कियां वैसे नहीं दिखती है और जब कॉलेज में जाती है तो वही लड़की गदरा जाती है। अंग अंग खड़े हो जाते हैं। हॉट और सेक्सी हो जाती है।

नेहा दीदी जब चल रही थी तो उनकी गांड ऐसे हिल रही थी की क्या बताऊँ। मैं तो उनके चूतड़ देखकर कायल हो गया। और जब वो बेग उठाने के लिए झुकी थी तो उनकी बड़ी बड़ी चूचियों गोरी सी मुझे घायल ही कर दिया था जैसे ही उनके टॉप के ऊपर से उनकी चूचियों दिखी मैं तो पागल हो गया था। मुझे तो ऐसा लग रहा था कि काश वह मुझे एयरपोर्ट पर ही अपने चोटियों को छूने के लिए दे देते। पूरे रास्ते में उनके गोरे गोरे गाल और लाल लाल होंठ को ही निहार रहा था। पापा उनसे बात कर रहे थे और मैं चुपचाप उनके शरीर के हर एक अंग को देख रहा था।

मेरा लंड धीरे-धीरे खड़ा होने लगा था। मेरा देखने का नजरिया बिल्कुल बदल गया था अपनी बहन को। क्या बताऊं दोस्तों मेरे अंदर समय क्या चल रहा था। मैं तो यहां तक यह सोच लिया था कि काश वह मेरी बहन मैं आज गर्लफ्रेंड का प्रपोज कर देता। भले ही उसे उम्र में छोटा हूं पर मेरा दिल उस पर आ गया। फिर मैं सोचने लगा कि यह कहीं गलत तो नहीं सोच रहा हूं मैं। कोई भाई अपने बहन के साथ ऐसा नहीं सोचता है और ना करता है। फिर मुझे लगा कि नहीं नहीं मैं सही हूं ऐसे कई सारी कहानियां न पर लिखी रहती है जहां पर मैंने भी पढ़ा है एक भाई बहन में प्यार का ही रिश्ता नहीं बल्कि सेक्स का रिश्ता भी हो सकता है।

और कहानिया   ठरकी चची की रसीली चुत

घर पहुंचा मम्मी घर पर थी नेहा दीदी का अच्छे से स्वागत की। फिर हम लोग साथ बैठकर खाना खाए काफी देर तक बैठकर बात किए। बहुत अच्छा लग रहा था नेहा दीदी को अपने पास अपने परिवार के पास देख कर। पापा मम्मी बहुत ही ज्यादा खुश थे। दीदी का स्टाइल एकदम चेंज हो गया था कपड़े उसके एकदम चेंज हो गए थे एकदम हॉट और सेक्सी लग रही थी। नाईट ड्रेस जो पहनी वह तो गजब का था उनकी दोनों चूचियां आधी आधी दिख रही थी। उन्होंने जो स्कर्ट पहना हुआ था वह थोड़ा ऊंचा था इस वजह से उनके गोल-गोल मोटे-मोटे पैर दिखाई दे रही थी।

यह सब देखकर तो मेरा मन और भी ज्यादा खराब हो गया। जब सोने की बारी आई तो पापा बोले कि नेहा कहां सोएगी। पता नहीं मुझे उस समय क्या हुआ मैंने कह दिया आज नेहा दीदी मेरे बेड पर सोएगी 6 फुट का बेड है साइड में सो जाएंगे हम दोनों। मम्मी कुछ नहीं बोली नेहा दीदी बोली हां हां क्यों नहीं मैं सक्षम के बेड पर ही सो जाऊंगी कोई दिक्कत नहीं। ऐसे भी मुझे भी बहुत काम करना है लैपटॉप पर तो यह सो जाएगा मैं काम करूंगी जब मेरी नींद लग जाएगी तो मैं सो जाऊंगी। हम दोनों सोने के लिए चले गए पापा मम्मी अपने कमरे में चले गए। मैं मोबाइल पर इसी वेबसाइट को ओपन करके कहानी पढ़ रहा था नेहा दीदी अपने लैपटॉप पर कुछ काम कर रही थी।

फिर वह बोले कि मुझे नींद आ रही है मैं थक गई हूं। इस वजह से आज मैं जल्दी सो जाती हूं और कल सुबह उठकर अपना काम निपटा लूंगी। मैंने कहा ठीक है दीदी आप भी सो जाओ मैं भी सो जाता हूं। वह तो तुरंत सो गई , पर मुझे नींद नहीं आ रही थी उनकी चौड़ी गांड और मोटी मोटी जांग हैं देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया। क्योंकि वह अपने गांड को मेरे तरफ करके सो गई थी। मुझे लगा कर मुठ मार लेता हूं। पर मैंने प्लान बना लिया कि आज मैं अपनी बहन को चोद कर ही दम लूंगा।

उसको पहले सोने दिया फिर मैं अपना लैंड निकाला उसके गांड पर सटाने लगा। मैं और भी ज्यादा कामुक हो गया। मैंने उनके स्कर्ट को ऊपर कर दिया और पेंटी को धीरे से नीचे खींच लिया। फिर अपना लंड उनके चूत पर लगाया और होले होले से हिलाने लगा। मैंने सोचा के अंदर नहीं घुसआऊंगा सटा कर ही काम चला लेता हूं बाद में मुट्ठ मार लूंगा। पर मेरे से रहा नहीं गया दोस्तों मैंने जोर से धक्का लगा दिया और मेरा पूरा लंड मेरी बहन के गांड के बगल से होता हुआ उनके चूत के अंदर प्रवेश कर गया।

और कहानिया   मॅ बनी मेरी रखैल

गांड के तरफ से धक्का मारा था पूरा लंड अंदर जाते देर नहीं लगा। दीदी एकदम से जाग गई उन्होंने मेरे लंड को निकाला नहीं बस उन्होंने इतना पूछा क्या कर रहे हो तुम आजकल लगता है अंग्रेजी मूवी देख रहे हो। मैंने कहा दीदी आप इतनी खूबसूरत हो गई हो इस वजह से मैं अपने आप को बर्दाश्त नहीं कर पाया सॉरी। दीदी बोली आज मैं तुम्हें माफ कर रही हूं कल से माफ नहीं करूंगी कल से यह काम मत करना। जब तूने मेरी चूत के अंदर अपना लंड घुसा ही दिया तू आज हर तू चोद ले।

हरी झंडी मिल गई थी दोस्तों मैंने उनका टॉप तुरंत उतार दिया ब्रा का हुक खोल दिया बड़ी-बड़ी चूचियां हाथ में ले लिया। वह सीधी हो गई। मैं उनके ऊपर लेट गया। उनके दोनों बड़ी बड़ी चूचियों को पकड़ कर मसलने लगा उन्होंने अपने टांग फैला दिए। मैं तुरंत नीचे जाकर उनके चूत को चाटने लगा। दीदी मेरे बाल को पकड़कर अपने चूत में लगी। मैं भी उनके जिस्म को सहलता हुआ निप्पल को अपने मुँह में ले लिया था और चूसने लगा था। दीदी अब और भी ज्यादा कामुक हो गई थी।

उन्होंने मुझे फिर से चूत चाटने को कहा मैं फिर से चूत को चाटने लगा। अब उनकी चूत काफी गीली हो गयी थी। नमकीन पानी निकल रहा था। अब मेरे से रहा नहीं चूत चाटते चाटते मैंने अपना लंड चूत पर लगाया और जोर से धक्का दे दिया। जैसे ही पूरा लंड नेहा दीदी की चूत में गया नेहा दीदी के मुंह से आवाज निकलने लगा आहा आहा आहा। वह काफी ज्यादा कामुक हो गई थी। वह गांड घुमा घुमा कर मेरे लंड को अपने चूत के अंदर लेने लगे। मैं जोर-जोर से अपना लंड उनकी चूत में घुसाने लगा था। उन्होंने मुझे लेटने के लिए कहा मैं लेट गया फिर वह मेरे ऊपर चढ़ गई मेरा लंड पकड़ कर अपने चूत के छेद पर लगा कर बैठ गई। पूरा लंड अंदर घुस गया।

अब उछल उछल कर चुदवाने लगे। उनके दोनों चूचियां फुटबॉल की तरह हिल रही थी। मैं बार-बार उनके दोनों चुचियों को दबोच लेता और निप्पल को अपनी उंगलियों से रगड़ देता। वह मेरे होंठ पर किस करते हैं मैं उनको बाहों में भर लेता नीचे से मैं धक्के दे रहा था। ऊपर से वह जोर जोर से धक्के दे रहे थे। करीब 45 मिनट के चुदाई के बाद हम दोनों शांत हो गए मेरा पूरा माल उनके चूत के अंदर ही रह गया। हम दोनों एक दूसरे को पकड़ कर सो गए।

उस दिन के बाद से रोजाना हम दोनों सेक्स करते हैं। पर हां पहले दिन हमने बिना कंडोम के किया था और कंडोम लगाकर करते हैं क्योंकि प्रिकॉशन बहुत जरूरी है। मैं दूसरी कहानी चल रही नॉनवेज story.com पर लिखने वाला हूं तब तक के लिए आपका शुक्रिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.