हवस से भरी हुई मेरी फॅमिली

पहले, मैं आपका परिचय कहानी के पत्रों से करा दूं।

इस कहानी के सभी पात्र, मेरे ही परिवार के है।

सबसे पहले मेरे पिता – मिस्टर विश्वास, उम्र 46

मेरी सौतेली माँ – कविता, उम्र 30

मैं वीरेन, उम्र 24

मेरी पत्नी – माही, उम्र 22

मेरा छोटा भाई – हितेश, 22 और उसकी वाइफ – यामिनी, 21 साल

हम एक अच्छे परिवार से हैं और हमारा गारमेंट्स एक्सपोर्ट का बिज़्नेस है।

5 साल पहले, जब मेरी सग़ी माँ का देहांत हो गया.! तब, पापा ने तलाक़शुदा कविता से शादी कर ली.!

उस वक़्त, कविता की उम्र 25 साल थी।

लगभग 1 साल पहले, मेरी और कुछ महीने पहले, मेरे छोटे भाई हितेश की शादी हो गई।

मेरे पापा की उम्र, इस वक़्त 46 साल है और वो अपने ज़माने के बहुत बड़े एथलीट थे। इसलिए, बहुत फिट थे। उनकी लम्बाई लगभग 6 फीट और बदन एकदम गठा और कसरती था।

कविता की लम्बाई, 5 फीट 4 इंच के लगभग। भरा हुआ बदन, बड़े बड़े बूब्स और बहुत गहरी और सेक्सी नेवेल थी। वो हमेशा, बहुत डीप गले का बैकलेस ब्लाउज पहनती थीं और साड़ी को अपनी गहरी नाभि से 3 इंच नीचे बाँधती थी। उसकी आँखों में हमेशा, एक अजीब सी कामुकता नज़र आती थीं और हाँ!! भाव से हमेशा, वासना झलकती थी।

मैंने सुना था की उसकी पहली शादी, उसके पति के दोस्तों से नाजायज़ संभन्ध के कारण टूटी। पहली शादी टूटने के बाद, वो कई मर्दों से दूसरी शादी के लिए मिली और वो जिस से भी मिलती थी पहली या दूसरी मुलाकात में ही, उसका लण्ड ले लेती थी।

कुल मिला कर, मेरे पापा से शादी करने से पहले कविता कई लण्ड का अनुभव ले चुकी थी।

अब आता हूँ अपने पर, मैं एक 5 फीट 11 इंच की लम्बाई और 24 साल का शादीशुदा मर्द है और अपने पापा की तरह ही, एकदम फिट आदमी हूँ।

माही, मेरी बीवी की उम्र 22 साल और लम्बाई 5 फीट 6 इंच थी। उसका बदन, बिल्कुल तराशा हुआ था। हर चीज़ सही तरह से बनी हुई। ना बिल्कुल ज़्यादा, ना थोडा सा कम। उसके भी बड़े, गोल और भरे हुए बूब्स थे।

और कहानिया   पत्नी और साली के एक साथ थ्रीसम चुदाई

वो भी कविता की तरह ही साड़ी पहनती थी, पर उसका तरीका कुछ अलग था। वो अक्सर छोटा ब्लाउज और नेट की साड़ी ही पहनती थी। साड़ी के अंदर, उसके बड़े बड़े बूब्स छोटे बिकनी ब्लाउज से बाहर निकलने को बेकरार रहते थे। उसकी भी आँखों में एक नशा और प्यास, देखी जा सकती थी।

सच तो ये है की मुझे उसकी भी तमन्ना, बहुत सारे लण्ड लेने की लगती है पर लगता है की उसे ज़यादा मर्दों से चुदने का मौका नहीं मिला।

अब, मेरा छोटा भाई हितेश। उसकी लम्बाई 5 फीट 9 इंच थी और वो एक फिटनेस फ्रीक बॉडी बिल्डर था। वो बिल्कुल शेप में था और उसकी एक एक मसल, उभरी हुई थी।

इधर, यामिनी की लम्बाई 5 फीट 7 इंच और उम्र 21 साल थी। बदन उसका भी बिल्कुल फिट था पर उसके बूब्स, उसके बदन के हिसाब से ज़्यादा बड़े थे।

लेकिन, वो कविता और माही की तरह साड़ी नहीं पहनती थी। उसको शॉर्ट स्कर्ट्स, डीप नेक टॉप, जीन्स, शर्ट और छोटे छोटे और वेस्टर्न कपड़े पहनने का शोक था। उसके बूब्स की तरह ही उसकी गाण्ड, काफ़ी भरी हुई है.! इसलिए, शॉर्ट्स और स्कर्ट्स में बहुत कामुक लगती है.!

सुना है की कॉलेज के दिनों में 4 लड़कों के ग्रूप में अकेली लड़की थी और चारों मिल के उसे चोदते थे।

तीनों औरतों मैं एक चीज़ कामन थी, बदन दिखाने वाले कपड़े पहनने का शोक और लण्ड की भूख।

हमारा परिवार, आपस में काफ़ी ओपन है और हम सभी ऑफीस जाते हैं और मिल कर, अपना “गारमेंट्स मॅन्यूफॅक्चरिंग और एक्सपोर्ट्स” का बिज़्नेस देखते हैं।

मैं और मेरा छोटा भाई हितेश, कविता को कभी माँ नहीं बुलाते।

हम उसको, उसके पहले नाम यानी की कविता कह के ही बुलाते हैं।

यामिनी की कातिल जवानी

सिर्फ़ पापा को छोड़ कर, हम सभी एक दूसरे को नाम से ही बुलाते हैं।

कविता पापा को विश्वास कह के बुलाती है और बाकी हम सब, पापा को पापा ही बुलाते हैं।

हमारे घर में कविता, माही या यामिनी को किसी भी तरह के कपड़े अपनी मर्ज़ी से पहनने की पूरी आज़ादी है।

आज कल, गारमेंट्स मॅन्यूफॅक्चरिंग का ऑफ सीज़न चल रहा था.! इसलिए, मैंने और माही ने 2 हफ्ते के लिए, ऊटी छुट्टी मानने जाने का प्लान बनाया.! जिस दिन हम ऊटी के लिए निकले, उसके अगले दिन हितेश को भी 3 हफ्ते के लिए काम से मॉरिशस जाना पड़ा.!

और कहानिया   नमिता बुआ की चुत मरने का मज़ा

हमारे और हितेश के जाने के बाद, कविता को खबर मिली की उसकी माँ जो की अमेरिका में रहती हैं, बहुत बीमार हैं और उनको कभी भी कुछ भी हो सकता है।

अब यहाँ पे बिज़्नेस था और यामिनी 2 हफ्ते के लिए, अकेली हो जाती.! इसलिए, कविता ने अकेले जाने का फ़ैसला किया और 2 हफ्ते के लिए, पापा और यामिनी, यहाँ अकेले रह गए।

आज कल, ऑफ सीज़न था.! इसलिए, सिर्फ़ पापा ही ऑफीस जाते थे और यामिनी घर पे रहती थी.!

कविता के जाने के अगले दिन सुबह पापा के ऑफीस जाने के बाद, यामिनी उनका बेड ठीक कर रही थी की तभी यामिनी को गद्दे के नीचे से एक सी डी मिली।

पापा शायद ग़लती से भूल गए थे।

यामिनी ने डिसाइड किया की वो सी डी चला के, देखेगी।

उसने, वो सी डी पापा के कमरे में ही होम थियेटर सिस्टम पे चलाई और जैसे ही सी डी शुरू हुई, उसने होम थियेटर की 52 इंच की स्क्रीन पे जो देखा तो बस देखती ही रह गई।

उसे सी डी की स्क्रीन पर पापा और कविता पूरे नंगे थे और पापा अपने 9 इंच के मोटे लण्ड से नंगी कविता को अलग अलग पोज़िशन्स में चोद रहे थे.! शायद, ये सी डी पापा और कविता ने खुद ही शूट की थी.!

थोड़ी देर देखने के बाद, यामिनी की चूत गीली हो गई और उसे ने वीडियो बंद कर के सी डी वहीं रख दी, जहाँ उसे मिली थी.!

सी डी देखने के बाद, यामिनी के मन में पापा का लण्ड लेने की भूख जग गई।

उसने सोचा की 2 हफ्ते तक वो पापा के साथ अकेली है, पापा को सिड्यूस करने का इसे से अच्छा मौका नहीं मिलेगा।

पापा जब वापस आए तो वो उनको अजीब सी भूखी नज़रों से देखने लगी और उनको सिड्यूस करने के बारे में सोचने लगी।

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares