गर्ल्स हॉस्टल के हसीन नज़ारे

दोस्तो, आज आपको एक और कहानी सुनाता हूँ। मेरी एक गर्लफ्रेंड थी जो गर्ल्स हॉस्टल में रहती थी, कई बार उसने मुझे अपने हॉस्टल में होने वाली अजीब ओ गरीब बातें बताई, जो सुनने में बड़ी रोचक थी।
मैं अक्सर उसके हॉस्टल के किस्से बड़ी दिलचस्पी लेकर सुनता था। अब उन्हीं में से एक किस्से को सेक्स के गरम मसाले में लपेट कर और रोमांच के तेल में तल कर आपको पेश कर रहा हूँ, मज़े लीजिये।

दोस्तो मेरा नाम स्वाति है, खूबसूरत 23 साल की लड़की हूँ और मैं नागपुर में पढ़ती हूँ।
हमारे शहर में कोई बड़ा कॉलेज नहीं था तो मैं शहर के एक गर्ल्स कॉलेज में एड्मिशन लिया और रहने के लिए कॉलेज के ही हॉस्टल में भी एड्मिशन ले लिया।

पहले दो तीन दिन तो ठीक ठाक गुजरे, चौथे दिन हमारे कॉलेज की कुछ सीनियर लड़कियाँ हमारी क्लास में आई, सबसे इंटरो की।
उसके बाद उनमें से जो सबसे ज़्यादा लंबी चौड़ी थी, वो बोली- लुक गर्ल्स, यह कोई रैगिंग नहीं है, हल्का फुल्का सेक्सी हंसी मज़ाक है, अगर इसे खेल की तरह से लोगी, तो मज़ा करोगी, अगर अकड़ोगी तो तुम्हारी अकड़ निकालने के हमारे पास बहुत से और तरीके भी हैं। तो एक एक कर के सामने आओ, और तुम में क्या खूबी है, हमें बताओ, और शरमाना नहीं, लड़कियों का कॉलेज है, इधर कोई भी लड़का या मर्द नहीं आएगा, चलो।

उसके बाद उसकी साथी लड़कियों ने हमारी क्लास की लड़कियों का उत्पीड़न शुरू किया। किसी को सेक्सी डांस, किसी को गलियाँ, किसी को सेक्स एक्सपिरियन्स के बारे में पूछा गया, मतलब ढंग की बात तो पूछी ही नहीं।
कुछ उदाहरण देखिये जो जो सवाल उन्होंने हमसे पूछे:

‘अगर कोई लड़का तुम से दोस्ती करना चाहे तो क्या तुम उसे सेक्स करने दोगी?’
‘तुम्हारे ब्रा का साइज़ क्या है?’
‘क्या कभी किसी मर्द को नंगा देखा है?’
‘क्या अपने घर में तुमने अपने किसी बड़े को सेक्स करते देखा या सुना है?’
‘सेक्सी पोल डांस करके दिखाओ!’
‘यह लड़की नहीं लड़का है, इसे अपने प्यार के जाल में फंसाओ और वो भी सिर्फ एक मिनट में!’

और कहानिया   मस्ती से मजबूरी तक

मतलब यह कि हमें खूब जलील किया गया। कुछ लड़कियों ने तो उनका खूब साथ दिया, एक दो ने मना भी कर दिया, मना करने वाली लड़कियों को बाद देखने की धमकी भी मिली, जिनमें से एक मैं भी थी क्योंकि हम सब तो अभी अभी स्कूल पास करके आई थी और हमें उनकी बातें बहुत ही अश्लील लगी।

मुझे पूछा- सेक्स के बारे में तुम क्या जानती हो?
मैंने गुस्से में उलट कर कह दिया- मैं आप जैसी बदतमीज़ नहीं हूँ।
मेरी इस बात से वो सब लड़कियाँ गुस्सा हो गई। अभी वो मेरी और खिंचाई करना ही चाहती थी कि तभी एक प्रोफेसर अंदर आ गई और वो लड़कियाँ मुझे घूर के बाहर निकल गई।

कॉलेज खत्म हुआ तो हम अपने हॉस्टल में चली गई। रात का खाना खाकर जब मैं और मेरी रूम पार्टनर अपने कमरे में लेटी थी, तभी वो दोपहर वाली हमारी सीनियर्स हमारे कमरे में आ गई।
‘क्यों भाई लड़कियों, क्या हाल चाल है, कोई तकलीफ तो नहीं है यहाँ पे?’
मैंने कहा- जी नहीं दीदी, सब ठीक है।
तो वो बोली- देख छममक छल्लो, मैंने तेरी कोई दीदी वीदी नहीं हूँ, और अब बड़ा दीदी दीदी कर रही है, दोपहर को तो बहुत अकड़ रही थी।
मैंने मौके के नजाकत को समझते हुए झट से सॉरी कह दी, मगर वो बोली- देख, माफ तो तुझे नहीं करेंगे, तू तो अकड़ू है न, तेरी अकड़ ही तोड़ेंगी, चल अब जो हम कहेंगी, वो करके दिखा दे तो शायद तेरी सज़ा थोड़ी कम हो जाए।

मैंने अपनी रूम मेट की तरफ देखा, मगर वो भी मेरी क्या मदद कर सकती थी, तो मैंने मन बना लिया कि देखते हैं जो भी मुझसे करवाएँगे वो सब करूंगी।

‘यह लोअर बहुत बढ़िया पहन रखा है, कौन सी कम्पनी का है, दिखा तो ज़रा?’ उसने पूछा।
मैं उसे लोअर दिखाने उसके पास गई तो वो कड़क कर बोली- अरे मदरचोद… इधर किधर चली आ रही है, इसे उतार के दिखा!
मुझे तो बड़ी शर्म सी आई, मगर यहाँ न तो कोई मुझे देखने वाला था और न ही कोई बचाने वाला, सो मैंने अपना लोअर उतार कर उसे दिया तो उसने उस पर एडीडास का लोगो देखा और देख कर उसे दूर फेंक दिया।
‘ये जो टीशर्ट पहन रखी है, कौन सी कंपनी की है?’ उसने पूछा तो मैंने वो भी उतार कर उसे दे दी।

और कहानिया   रात भर दीदी की चुदाई

अब मैं सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी।
वो बोली- साली तुझे तो बहुत शौक चढ़ा है नंगी होने का?
मगर मैं ढीठ की तरह खड़ी रही, फिर वो मेरी रूम मेट से बोली- तुझे क्या निमंत्रण भेजना पड़ेगा, उठ कर यहाँ आ और इसकी तरह अपने कपड़े उतार!
वो भी मेरे पास आकर खड़ी हो गई और बोली- दीदी, मैंने ब्रा और पेंटी नहीं पहनी है।
तो हमारी सीनियर बोली- कोई बात नहीं, इसकी भी उतरवा देते हैं! चल री अपनी ब्रा पेंटी भी उतार दे।
उसने कहा, मैंने अपनी ब्रा पेंटी और मेरी सहेली ने अपने कपड़े उतार दिये।

हम दोनों बिल्कुल नंगी खड़ी थी, तब पहले तो हमे नंगी हालत में ही मोबाइल पे गाना लगा कर डांस करने को कहा, जब हमने डांस किया तो सेक्सी डांस करने को कहा, डांस के दौरान हमे गंदी गंदी बातें कही गई।

फिर डांस रोक दिया गया और वो उठ कर हमारे पास आई, और हम दोनों के बदन के सभी नाज़ुक हिस्सों पर हाथ फेर कर बोली- साली के हाथ पाँव देख, बहुत करारे हैं।
जो दूसरी हमारी सीनियर थी, वो भी आई और उसने भी हम दोनों लड़कियों के बूब्स पे, कमर पे, हिप्स पे हाथ फेर के देखा।
उसके बाद हमारी सीनियर ने हमसे पूछा- अब दोनों बताओ, आज तक क्या कुछ किया है?
हम दोनों चुप!
‘अरे बोलो न, तुम दोनों का कोई यार है क्या?’
हम दोनों ने ना में सिर हिलाया।
‘कमाल है, साली अच्छी ख़ासी सुंदर हो, सेक्सी हो, तो बहनचोद किसी लड़के ने तुमको लाइन नहीं मारी?’ उसने पूछा।
मैंने कहा- जी लाइन तो मारी एक दो ने मगर मैंने उनको भाव नहीं दिया।

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published.