एक चोटीसी गांड मरौ सेक्स कहानी

सुबह का वक़्त है. चलते है गोपी और आहें के बेडरूम मे. गोपी और आहें नंगे ही एक दूसरे को लिपटे सो रहे है. लगता है दोनो ने रात को खूब चुदाई की थी. चलते है फ्लॅशबॅक मे.
कल रात 11 बजे गोपी और आहें बेडरूम मे आए. गोपी तुरंत ही बातरूम मे कपड़े चेंज करने चली गयी. वो बाहर आई तब उसने एक ट्रॅन्स्परेंट गाउन पहने हुआ था. आहें उसे देखकर तुरंत उसके पास गया ओर उसे अपनी बाहो मे जकड़कर किस करने लगा. गोपी आहें के इस वॉर से सहें गयी. प्र फिर भी उसने आहें को किस मे साथ दिया. 5 मीं तक किस करने के बाद आहें ने गोपी को उठा कर बेड पे लिटा दिया. और खुद उसके पास लेटकर फॉर से किस करने लगा. किस करते वक़्त उसने अपने हाथ से गोपी के रिघ्त बूब को पकड़ा और ज़ोर से दबाने लगा.

गोपी के होंठ आहें के होंठ से जुड़े होने के कारण वो मोन नई कर पाई. फिर भी वो म्‍म्म्ममममम करने लगी. फिर आहें ने किस तोड़कर गोपी का गाउन खींच कर निकल दिया. गोपी रात को ब्रा पनटी नही पहनती थी. इसलिए गाउन खींचते ही उसके वाइट बूब्स के दर्शन आहें को हो गये. फिर आहें ने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए और गोपी के बूब्स दबाने लगा. बूब्स दबाते दबाते उसने अपनी एक उंगली गोपी की गुलाबी छूट मे दल दी. इस से गोपी की हालत खराब हो गयी. बूब्स दबाना छ्चोड़ कर आहें ने नीचे की और आकर गोपी की छूट चाटना शुरू किया. आहें ने गोपी की क्लिट को जीभ से टटोलना शुरू किया जिससे गोपी चिल्ला उठी. ये आवाज़ सारे मोदीभावन मे गूँज उठी.

गोपी: आआहह आहेंजी.. आराम से… आआहह एम्म्म हमम्म्म अया… आराम से छातिए मेरी छूट… मे कही नही जा रही हू…
आहें गोपी को छूट छत रहा था. करीब 5 मीं ही हुए थे की गोपी बोली.
गोपी: आहें ज्जई.. मुझे भी कुछ दीजिए ना… आअहह म्‍म्म्ममाआ आआहह
ये सुनकर आहें ने अपना 9 इंच लंबा लंड गोपी के मूह के सामने धार दिया. और दोनो 69 पोज़िशन मे आ गये. गोपी झट से उसे चूमने लगी. थोड़ी ही देर मे गोपी ने पूरा लंड अपने मूह मे ले लिया. गोपी अहरम का लंड मूह मे ले कर अपनी जीभ से उस ले लंड को गुदगुदी कर रही थी. जिससे आहें मे भी छूट चाटने की रफ़्तार बढ़ा दी.

और कहानिया   मारवाड़ी की ख़ूबसूरत बेटी का चुत में मेरा लुंड

गोपी: आआहह आहेंजी… मईए झाआढ़नईए वालिइीई हुउऊ… आआहह और ज़ोर से छातिए.. आआआअह्ह्ह्ह मे तो गयी….
और इसी के साथ गोपी झाड़ गयी. फॉर भी उसने लंड चूसना चालू रखा और आहें के लंड को पूरा गीला कर दिया. फिर गोपी और आहें खड़े हुए और आहें मे गोपी को बेड पे लिटाकर उसके दोनो पैर चौड़े कर दिए. जिससे गोपी की छूट कुछ हद तक खुल गयी.
आहें: अरे वाह मेरी जान. तेरी छूट तो एकद्ूम क्लीन है…
गोपी: हा आहें जी आज सुबह ही परिधि ने मेरी छूट शेव कर दी है..
और वो शर्मा जाती है. परिधि का नाम सुनकर तो आहें का लंड भी फूंकर मरने लगा. दर असल आहें भी परिधि को छोड़ना चाहता था. पर उसे कभी मोका नही मिला.
आहें: अरे वाह गोपी तुम लोग तो अपना सब कुछ शेर करती हो. ( और मान मे सोचने लगता है.. आपमे पति को भी शेर करो ना!!!!)

गोपी: ऐसा नही है आहेंजी.. वैसे पारी और मे ओपन माइंडेड है.. और अगर छूट शेव करते वक्त रेज़र की ब्लेड लग गयी तो?? इसलिए मे और पारी एक दूसरे की छूट शेव करते है… ( वैसे गोपी और पारी लेज़्बीयन भी करते है.. आज सुबह ही दोनो ने किचन मे किस कर के चालू कर दिया था.. प्र कोकिला ने आवाज़ दी तो दोनो अल्ग हो गयी. फिर दोनो ने परिधि के बेडरूम मे लेज़्बीयन सेक्स किया था.. और एकदुसरे की छूट शेव भी की थी.)
अब आहें अपना लंड गोपी की छूट के मूह प्र रख क्र एक धकका देता है.. जिस से आहें के लंड का टोपा गोपी की छूट मे घुस जाता है.. जिससे गोपी कराह उठती है.
गोपी: सस्स्शह आअहह एम्म्म सस्स्स्स्शह ….
फॉर आहें एक जोरदार धकका मार के अपना पूरा का पूरा लंड गोपी की छूट मे धकेल देता है.. और धक्के मरने लगता है..
गोपी: आआहह आहेंजी…. मेरी छूट… आआहह आआआहह म्‍म्म्ममम सस्शह
आहें: आअहह गोपी ले मेरा लंड…ले…. आअहह
15 मीं छोड़ने के बाद गोपी एकबार फिर झाड़ जाती है.. गोपी के झड़ने के साथ ही आहें अपने धक्को की स्पीड बढ़ा देता है… लगता है वो भी झड़ने वाला है.. और 3 मीं छोड़ने के बाद आहें भी अपना लंड बाहर निकल कर तुरंत ही गोपी के पेट प्र झाड़ जाता है.. उसकी कुछ पिचकारी गोपी के बूब्स तक भी पह्ोची थी..

और कहानिया   दिल्ली में सेक्सी आंटी से कमुक्त

5 मीं सुसताने के बाद आहें अपना लंड गोपी के मूह मे डाल देता है.. गोपी कुछ ही देर मे लंड चूस कर खड़ा कर देती है.. फिर आहें गोपी को डॉगी स्टाइल मे कर के गोपी की गांद मे उंगली डाल देता है.. वो गोपी की छूट मे उंगली डाल ता था और उसकी छूट ले पानी से ही गांद को अची तरह लूब्रिकेट कर दी. फिर अपना लंड गोपी की गांद के छेड़ प्र रख कर एक ही धक्के मे पूरा का पूरा डाल दिया.. जिससे गोपी की गांद फॅट गयी. और वो ज़ोर से चिल्लई..
गोपी: आआअहह माआअ आआआअहह
उसकी आँखो से आँसू निकालने लगे थे….
आहें कुछ देर रुकने के बाद एक धक्का फिर से मरता है.. और धीरे धीरे धक्के लगाना शुरू करता है.. अब गोपी दर्द भी गायब हो गया था और वो भी मज़े ले रही थी.
गोपी: आअहह आहेंजी आआअहह म्‍म्म्ममम ज़ोर से… अया आपने तो मेरी गाआंदड़ड़ ही फ़ाआद डाली.. आअहह एम्म्म …
आहें अब तेज़ी से धक्के लगाने लगा… और छोड़ने के बाद गोपी की छूट ने भी पानी छ्चोड़ दिया.
आहें: गोपी मे भी ज्झड़ने वॉला हू… खा झाड़ू??? आआहह
गोपी: आहेंजी मेरी गांद मे ही झाड़ जाओ … आअहह सस्शह म्‍म्म्ममममम आआअहह
आहें एक दो धक्को के बाद गोपींकी गांद मे ही झाड़ जाता है… जिससे गोपी की गांद कम से पूरी भर गयी थी… और कम उसकी गांद के छेड़ से बाहर आ र्राहा था.. उसके बाद दोनो किस करने लगे… और कुछ देर किस करने के बाद दोनो उठ कर बातरूम मे जेया कर नहा लिए.. अब तक 1 बाज चुका था… तो दोनो कपड़े पहने बिना ही सो गये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares