ड्राइवर से चुदाई भाग 1

मैने जब तुमसे लंड को बाहर निकालने को कहा था, अगर तुम रुक जाते और अपना लंड बाहर निकाल लेते तो मैं ये मज़ा कभी भी नहीं ले पाती.” थोड़ी देर बाद मैं उनके उपर से हट गया. उन्होने एक कपड़ा उठा कर अपनी चूत को साफ किया तो उस पर कुछ खून के धब्बे भी लग गये. उन धब्बों को देख कर वो और खुश हो गयी और बोली, “ये धब्बे तो किसी कुँवारी चूत की पहली बार की चुदाई के निशान जैसे ही हैं. मेरी चूत भी तो तुम्हारे लंड के लिए कुँवारी चूत जैसी ही थी.”
20 मिनिट बाद वो ज्योति मेरा लंड फिर से चूसने लगी. मैं समझ गया की वो मुझसे दोबारा चुड़वाना चाहती हैं. मैने उसकी चुचियों को मसलना शुरू कर दिया और वो मेरा लंड चूसने लगी. 5 मिनिट में ही मेरा लंड पूरी तरह से फिर तय्यार हो गया.वो बेड पर ही डॉगी स्टाइल में हो गयी और बोली, “रामू, पीच्चे से आकर चोदो मुझे. खूब ज़ोर ज़ोर से चोदना. मुझे अगर तकलीफ़ होने लगे तो तुम उसकी परवाह मत करना.” मैं उनके पीच्चे आ गया. मैने उनकी गोरी और चिकनी चूत को फैला कर अपने लंड के सुपादे को बीच में रखा और एक जोरदार धक्का मारा. उनकी चीख निकल गयी. मेरा आधा लंड उनकी चूत में घुस चुका था. मैने बिना रुके तेज़ी के साथ उनको चोदना शुरू कर दिया. वो चीखती रही और मैं अपना लंड उनकी चूत में घुसता रहा. ज्योति को बहुत दर्द हो रहा था लेकिन इस बार उसने मुझसे एक बार भी अपना लंड बाहर निकालने को या रुकने को नहीं कहा बस केवल चीखती रही. मैने छोड़ना जारी रखा. कुच्छ ही धक्कों के बाद मेरा पूरा लंड उनकी चूत में घुस गया. मैं अपना आधे से ज़्यादा लंड बाहर निकल कर पूरे ताक़त के साथ वापस उनकी चूत में गहराई तक घुसा देता था. फ़च-फ़च की आवाज़ें रूम में गूँज रही थी. वो आवाज़ सुनकर मुझे और जोश आने लगा और मैने और बहुत ही तेज़ी से साथ उनके चूत की धुनाई शुरू कर दी.

और कहानिया   किस्मत हो तो ऐसा - बीवी और सहेली की सात में चुदाई

थोड़ी देर बाद उन्हें भी मज़ा आने लगा. वो अपने चूतड़ को आयेज पीच्चे कर के मेरा साथ दे रही थी. इस बार मैने उनको लगभग 30 मिनिट तक चोदा और वो मेरे झड़ने के पहले ही 4 बार झाड़ चुकी थी. लंड का पानी पूरी तरह निकल जाने के बाद मैने अपना लंड बाहर निकल लिया. वो पलट कर मेरे लंड के पास आई और अपनी जीभ से उसे चाट चाट कर साफ करने लगी. ज्योति की चुदाई दूसरे दिन भी जारी रही. मैने उन्हें 48 घंटों में 8 बार चोडा. वो मेरी चुदाई से बहुत सन्तुस्त थी. 2 दिन बाद हम वापस आ गये.

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *