ड्राइवर से चुदाई भाग 3

मेरा केवल सुपाड़ा ही घुस पाया की वो चिल्लाने लगी और अपना सर इधर उधर पटकने लगी. मिनी ने अपने होठ उसके होठ पर रख दिए. अब उसके मूह से केवल गू गू की आवाज़ें निकल रही थी. मैने एक झटका और दिया तो काजोल अपने सर के बाल नोचने लगी. मेरा लंड अब उसकी चूत में 2″ तक घुस चुका था. मिनी ने अपनी जीभ उसके मूह में घुसा दिया. मूह में मिनी की जीभ होने की वजह से कुछ बोल नहीं पा रही थी. मिनी ने कहा, “रामू ज़रा आराम से डालो अपना लंड. इसकी चूत अभी बहुत छ्होटी है. मैने तो काई लड़कों से चुडवाया था लेकिन इसकी चूत अभी तक एक दम कोरी है.” मैने कहा, “ठीक है. मैने एक धक्का और लगाया तो मेरा लंड काजोल की चूत में 4″ तक घुस गया. मैने और ज़्यादा लंड घुसाए बिना उसको धीरे धीरे चोदने लगा.

उसकी चूत ने मेरे लंड को एक दम जाकड़ रखा था और मेरा लंड अभी भी उसकी चूत में केवल 4″ तक ही अंदर बाहर आ जा रहा था. कुच्छ देर बाद जब वो तोड़ा शांत हुई तो मैने एक धक्का और लगा दिया और मेरा लंड उसकी चूत में 5″ तक घुस गया. वो फिर अपना हाथ पताकने लगी और सर को इधर उधर मारने लगी. कुच्छ देर तक धीरे धीरे चोदने के बाद वो फिर कुछ शांत हुई और उसे तोड़ा मज़ा भी आने लगा. मैने फिर दो ज़ोरदार धक्के मार दिए तो मेरा लंड उसकी चूत में 7” तक घुस गया और वो चीखने लगी. उसने मिनी को धकेल दिया था. मैने उसे चिल्लाता हुआ देख कर लगातार 2-3 ज़ोरदार धक्के लगा दिए और मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया. वो बहुत ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी और मुझे हटाने की कोशिश करने लगी. मैने उसकी कमर को पकड़ कर ज़ोर से सता लिया जिससे मेरा लंड उसकी चूत से बाहर ना निकाल पाए.

मैने अपना होठ उसके होठ पर रख दिया और उसे चूमने लगा. कुच्छ देर तक चूमने के बाद वो शांत हो गयी. मैने उसके शांत होते ही अपने लंड को धीरे धीरे अंदर बाहर करना शुरू कर दिया. मेरा पूरा लंड काजोल की चूत में धीरे धीरे अंदर बाहर हो रहा था. अब वो बिल्कुल शांत हो चुकी थी और चुदाई का मज़ा ले रही थी. मैने अपनी स्पीड तोड़ा बढ़ा दी तो वो फिर चिल्लाई. थोड़ी देर बाद वो फिर शांत हो गयी और उसे मज़ा आने लगा. अब वो अपना चूतड़ उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी. लगभग 20 मिनिट तक चोदने के बाद मैं उसकी चूत में ही झाड़ गया. इस बीच वो भी 4 बार झाड़ चुकी थी. मैने अपना लंड बाहर निकाल कर मिनी के मूह में दे दिया. मिनी मेरा लंड चूसने लगी और मैं काजोल की चूत को चाटने लगा.

और कहानिया   टंगे खोल के चची की चुदाई

मैने लगभग 15 मिनिट तक ही काजोल की चूत छाती थी की वो बोली, “रामू, प्ल्ज़ एक बार और चोद दो मुझे. मुझे दर्द की वजह से पूरा मज़ा नहीं आया.” मैने कहा, “ठीक है, अभी चोद देता हूँ.” मिनी मेरा लंड चूस ही रही थी. कुच्छ ही देर बाद मेरा लंड फिर तय्यार हो गया. काजोल अभी तक लेटी थी. मैं उसके पैरों को फैला कर उसके बीच आ गया. अब उसकी चूत मूह खोले मेरे सामने थी. मैने काजोल के पैरों को पकड़ कर उसके कंधे के पास ले गया. अब वो एक दम दोहरी हो गयी और उसकी चूत और उपर उठ गयी. मैने उस्खि चूत के बीच अपने लंड के सूपदे को रखा और कहा, “काजोल, एक बार में अंदर लॉगी.” वो बोली, “दर्द होगा.”

मैने कहा बहुत तोड़ा सा होगा फिर मज़ा भी बहुत आएगा.” वो बोली, “ठीक है दल दो अपने लंड को एक ही झटके से मेरी चूत में.” मेरा लंड मिनी के चूसने की वजह से एक दम गीला था. मैने पूरी ताक़त लगा कर एक ज़ोरदार धक्के के साथ अपना पूरा लंड उसकी चूत में घुसेड दिया. वो चिल्लाने लगी. मैं रुक गया. कुच्छ देर में जब वो शांत हुई तब मैने धीरे धीरे धक्का लगाना शुरू कर दिया. मैं जब धक्का लगा कर उसकी चूत में लंड को डालता तो उसके पैरों को दबा देता था जिस से उसकी चूत और उपरर उठ जाती थी और मेरा लंड उसकी चूत में एक दम गहराई तक घुस जाता था. मैं उसे इसी तरह चोद्ता रहा. मेरा पसीना उसके मूह पर ताप ताप गिर रहा था. वो भी पसीने से एक दम तार हो गयी थी. लगभग 40 मिनिट तक मैने उसको चोदा और फिर मेरे लंड से पानी निकालने लगा. इस बीच वो अब तक 4 बार झाड़ चुकी थी.

लंड का पूरा पानी निकाल जाने के बाद में थोड़ी देर तक उसके उपर ही लेटा रहा उसके बाद हट गया. वो बोली, “रामू, इस बार चुड़वाने में खूब मज़ा आया. तुम मुझको ऐसा ही मज़ा देते रहना. खूब चोदना मुझे.”
हम बेड पर ही सो गये. मेरे एक तरफ मिनी थी और दूसरी तरफ काजोल. सुबह हुई तो जैसे ही मैं उठा तो तुरंत ही काजोल भी उठ गयी. उसने फिर मुझसे चोदने को कहा. मैं उसे ज़मीन पर डॉगी स्टाइल में चोदने लगा. थोड़ी ही देर में मिनी भी उठ गयी और बोली, “वा री काजोल, तू तो चुड़वाने में बहुत तेज निकली. सुबह होते ही फिर से चुड़वाने लगी.” काजोल बोली, “दीदी, मुझे रामू से चुड़वाने में बहुत मज़ा आया था. मैं और मज़ा लेना चाहती हूँ. मैं चाहती हूँ की रामू मम्मी पापा के आने तक मुझे खूब चोदे.” मिनी ने कहा, “अगर केवल तू ही चुद्वाति रहेगी तो मैं कैसे मज़ा लूँगी.” काजोल बोली, “हम दोनो मिल कर रामू से खूब चुडवाएँगे. मैने उन दोनो को 4 दिन में काजोल को 20 बार और मिनी को 8 बार चोदा.

और कहानिया   आंटी और उनकी बेटी की चुदाई

4 दिन बाद मेम साहब का फोन आया की कुछ वजह से वो 10 दिन बाद आएँगी. अगले 10 दिन तक मिनी और काजोल की चुदाई जारी रही. 10 दीनो में काजोल ने मुझसे लगभग 40 बार चुडवाया और मिनी ने 10 बार चुडवाया और 4 बार गांद भी मराई. मैं काजोल की भी गांद मारना चाहता था लेकिन काजोल ने गांद मरने से इनकार कर दिया. वो बोली की अगली बार जब मम्मी पापा बाहर जाएँगे तो मैं गांद भी मारा लूँगी. वो केवल मिनी को गांद मराते हुए देखती रहती थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares