बेहन की सहेली ने कह के लेली

दोस्तो मे राज आज आपके लिए एक सूपर सेक्सी स्टोरी लाया हू जिसे पढ़ कर आप मूठ या अपनी गफ़ को छोड़ेंगे. हन तो मेरे बारे मे तो आप जानते ही हैं आंड घर का भी.

पापा एक कंपनी मे जॉब करते हैं और मम्मी हाउसवाइफ हैं. बुत वो मॅरीड तो ल्गती ही नही है क्यूकी इतने अच्छे से खुद को मेनटेन किया हुआ है उन्होने की आज भी बाय्स उन्हे पटना चाहे. वो हैं भी मॉडर्न आंड उनका नाम है शूमन.

यह कहानी है मेरी छ्होटी बेहन दिया की जो की 20 साल की है और ग्रॅजुयेशन कंप्लीट कर रही है. उसका फिगर है 34-30-38 जिसमे उसकी गांद सूपर सेक्सी है.

दोस्तो ये कहानी पार्ट्स मे हो सकती है आंड लंबी तो आप आराम से सब कॅरक्टर और स्टोरी लाइन के साथ पढ़ते रहिए. दिया को आक्टिंग का कीढ़ा था और वो एक आक्ट्रेस बनना चाहती थी. और यही नही उसे एक जुनून था आक्टिंग का और पापा को चोरकेर ह्यूम पता था क्यूकी पापा स्ट्रिक्ट.

डेली ही वो कोई ना कोई आक्टिंग करती रहती थी और सोशियल मीडीया पर भी पोस्ट करती रहती थी. और मेरे दोस्त भी उसके देवने थे बुत ख़ास मेरे दो ही दोस्त थे.

मेने दिया के बारे मे ग़लत नही सोचा था कभी बुत हम टीन दोस्त थे मई पवन और विकी. उन दोनो ने बेहन की चुदाई की स्टोरी पढ़वा कर कहीं ना किन मेरे मॅन मे दिया को छोड़ने का ख़याल ला दिया बुत ये बात उन्हे पता नही थी.

विकी की गफ़ थी प्रिया जिसे हम जानते थे और हम भी उससे आस आ फ्रेंड बात कर लेते थे. तो दोस्तो एक बार जब हुँने ड्रिंक करी हुई थी तो मेने नशे मे उन दोनो को अपने मॅन की बात बताई की मई दिया को छोड़ना चाहता हू. और वो भी बहोट गंदे गंदे कम्‍मन्त कर रहे थे दिया पर.

फिर अगले दिन जब हम मिले तो पवन ने कहा कल जो कहा था वो सच मे करें तो?

मे -होगा कैसे?

पवन – मेरे पास एक प्लान है.

और कहानिया   मेरी ख़ूबसूरत और सेक्सी बेहेन रेखा

मे – हन बता.

विकी – छोड़ूँगा मई भी.

मे – भोसदिके तू प्रिया की छूट दिलवा दे फिर.

विकी – अगर तू अपनी बेहन चुड़वाएगा तो प्रिया को छोड़ लेना.

पवन -तो ठीक है अब हम दिया और प्रिया दोनो को छोड़ेंगे.

मे -पर ये होगा कैसे?

पवन -देख तेरी बेहन की छूट मे है आक्टिंग की आग और उसी आग मे वो हुमारे लंड लेगी.

मे -मतलब?

पवन – फेक आक्टिंग चान्स देने के बहाने और उसे पता भी ना चले बस उसे फसाना है.

विकी-और वो फासेगी कैसे?

पवन – उसे फ़साएगी तेरी गफ़.

मे -कैसे?

पवन – बस देखते जेया.

फिर हुँने प्रिया को मिलने बुलाया और पवन ने उससे कहा की प्रिया एक हेल्प चाहये.

प्रिया – हन बताओ?

पवन – मे दिया से बहोट प्यार करता हू और तुम बस एक आक्टिंग करके उसे कॉंटॅक्ट करवा दो.

प्रिया -हन बिल्कुल बुत आक्टिंग क्या करनी है और राज को ऐतराज़ नही?

मे – दोस्त है ये और मेरी बेहन किसी अंजान की जघा दोस्त से हो वो अच्छा है.

प्रिया – ओक मुझे करना क्या होगा?

पवन – देख इसकी बेहन को आक्ट्रेस बनना है और मेरे जान पचान मे एक हैं जो शॉर्ट फिल्म्स बनाते हैं. सो तुम उससे सोशियल मीडीया पर सेक्रेटरी बनकर कॉंटॅक्ट करो और बात आयेज बाधाओ और उससे मिलकर सेट करो सब.

प्रिया -ठीक है मे आज उसे म्स्ग कर दूँगी और कल मिलने बुला लूँगी फिर आयेज तुम जानो.

और फिर प्रिया चली गयी.

मे – ट्री कोन्से जाने वाले हैं बे?

पवन – उसे सच बताते तो वो कभी ना करती.

मे -तो अब करना क्या है?

पवन – एक खाली घर और कॅमरा वगेरह चाहये और एक करेगा हीरो की आक्टिंग और एक कॅमरमन और स्टाफ टाइप बस.

मे – हम टीन ही हैं और ये सब कैसे अरेंज होगा?

पवन – घर मेरा दूसरा वाला खाली है और कॅमरा मे किराए पर ले अवँगा.

मे – ह्म ये तो हो गया और हीरो वगेरह?

पवन – हीरो मे बनूंगा.

विकी – तू क्यू बे?

और कहानिया   अपनी बीवी की बहन के सात अफेयर

पवन – प्लान मेरा घर मेरा कॅमरा मे लओन और फ्ले मजे भी मे ना लूँ..

विकी -चल ठीक है तू बन जेया और ये बता राज तो सामने आ नही सकता तो हम दो क्या क्या करेंगे?

पवन – आटिफ़ और देव भाई आएँगे मेने उन्हे सब बता दिया.

मे – बहनचोड़ मेरी बेहन रंडी नही है!

पवन – भोसदिके टीन लंड लेगी तो दो और ले लेगी तो क्या हो जाएगा आंड छोड़ना है तो बोल व्रना ख़तम कर.

मे – चल ठीक है पर वो राएटा नही फैलाए.

आटिफ़ भाई तो पवन के यहा ड्राइवर हैं जो 28 साल के हैं और देव भाई 30 साल के जो पवन के पापा के ऑफीस मे काम करते हैं. फिर रात को प्रिया म्स्ग करके दिया से मीटिंग फिक्स करती है. मेरी बेहन बहोट खुश और मम्मी और मुझे बता रही की क्ल एक सेक्रेटरी से मीटिंग है शॉर्ट फिल्म को लेकर.

मम्मी – कंग्रॅजुलेशन्स बेटा.

अगले दिन प्रिया मिलती है और वो उसे फसा लेती है आंड नंबर दे देती है की ये डाइरेक्टर का नंबर है और कल मिल लेना.

फिर प्रिया हुंसे मिलकर ह्यूम सब बताती है की उसने नंबर दे दिया है आंड दिया क्ल आएगी. वाहा दिया बहोट खुश थी और यहा हम आंड अब हम 5 पवन के उस घर पर ही थे.

विकी – अब सब सेट करके बता क्या क्या कैसे करना है?

पवन -हन सुनो आटिफ़ भाई हैं डाइरेक्टर और देव भाई कॅमरमन बनेंगे. मे हीरो हू और विकी को आक्टर है आंड राज तू पीछे के रूम से सब देखते रहना जब तक दिया जाल मे ना फ़ासस जसयए.

फिर वो आटिफ़ भाई को अच्छे से ट्रेन करता है आंड इतने ही कॉल आती है उस नंबर पर दिया की.

आटिफ़ – लो.

दिया -लो सिर माइसेल्फ दिया.

आटिफ़ – हू’स दिया?

दिया -आपकी सेक्रेटरी ने आज बात की थी शॉर्ट फिल्म के लिए.

आटिफ़ – श हन तो तुम कल इस अड्रेस्स पर आ जाओ आडिशन के लिए.

दिया – थॅंक योउ सिर.

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published.