दोस्ती और प्यार के बीच इशू दीदी

हेलो दोस्तो मुझे इंडियन सेक्स स्टोरीस पसंद है, मेरे नाम राजा है और मई कानपुर का रहने वाला हूँ, मेरी उमर 27 साल है और मेरे घर मे मेरे दाद मों और मैं रहता हूँ, मेरी बहें की शादी हो चुकी है और उसकी उमर 31 साल है.

ये कहानी मेरी और मेरी बहें की है, कहते है कभी कभी लाइफ मे हम जो सोचते है वो सच हो जाता है और कभी कभी वो अच्छा भी होता है और कभी बुरा, मेरे समझ मे नही आ रहा रहा है की जो मेरे साथ हो रहा है वो अच्छा है की बुरा लकिन मैं हमेश से अच्छा सोचता था और जब आज वो सब कुछ हो रहा है तो मेरे समझा मई नही आ रहा है, होप की आप मेरे कुछ मदात कर सकें,

करीब दो साल पहले मैं फ्सी मे लिव छत केरता था स्ट्रेंजर लोगो के साथ और उनके साथ मैं अपनी दिल की बाद यानी मेरे बहें की बात केरता था, मुझे वहाँ पेर कानपुर का ही लड़का मिला जो की कानपुर मे रेल बेज़ार साइड मे रहता था उसका मोबाइल रेपनिंग की शॉप है और मैं घूमती मे रहता हूँ.

उसका नाम कल्लू था उसकी उमर 36 साल की थी, हम लोग डेली नेट पेर बाद करते और हमेश वो मेरी बहें इशू के लिए गंदी से गंदी बात केरता था, कल्लू को इशू को छोड़ने की बहुत इच्छा थी, इस लिया वो मुझसे हेर तरह की बात करता रहता था.

इस तरह हम लोगो को बात केरते हुए करीब 6 महीने हो चुके था, एक दिन कल्लू ने मुझे मिलने के लिया कहा और मिल कर एक दूसरे के साथ फीलिंग शेर करने के लिए भी, उस समय मुझे तोड़ा दर्र लग रहा था लकिन इन 6 महीनो मे हम लोग ने लगभग डेली बात की थी और सेम सिटी होने के कारण ईज़ी भी था मिलना.

तो मैने इस वजह से उस हन कह दी और प्लान बनाया मिलने का, हम लोग पहली बार ज़् स्क़रे मे कॉफी शॉप मे मिलने का प्लान बनाया, ये 12/1/12 के दिन था जिस दिन हम लोग पहली बार मिले जब कल्लू कॅफé पहुँचा और उस देखा वो एक दूं गंदा और बहुत कला आदमी था, उसने मुझसे पुचछा मेरा नाम राजा है तो मैने कहा हन.

और कहानिया   मेरी दीदी के सात चुदाई का सुख पाया फिर से

तो वो खुश हो कर मेरे पास बेत गया और फिणाली आज मिल ही गये हम लोगो वहाँ करीब 2 घंटे तक बैठे रहे और काफ़ी देर तक यहाँ वहाँ की बातें केरते रहे, उससे बात केरके अच्छा लगा फिर उसने मुझे चलने के लिया कहा उसके साथ, वो मुझे अपनी कार मेराइल बेज़ार की साइड ले गया जहाँ पेर उसका घर था.

वो कानपुर मे अकेला रहता था और उसकी फॅमिली और बाकछे उसके गाओं मे रहते थे और उसका घर जाड़ा बड़ा नही था 1 रूम नीचे और दो रूम उपेर बने हुए थे, फिर कल्लू ने मुझे ड्रिंक के लिया कहा पहले तो मैने माना किया लकिन जाड़ा ज़िद्द केरने और हमारी दोस्ती की स्टार्टिंग के बात करने लगा और मैं उसके साथ ड्रिंक करने लगा और इशू के बड़े मे बात हो रही थी, की वो क्या करती है क्या पसंद है और ना पसंद है.

कुछ देर यहाँ वहाँ की बात होती रही और उसके बाद उसने किसी को फोन किया और कुछ देर मे 2 लड़कियाँ वहाँ पेर आ गयइ और वहाँ पेर बेत गई और कल्लू ने मुझे उन्हे इंट्रो करवाया और कहा की देख इन मे से कों सी इशू की तरह लगती है.

मुझे शरम आ रही थी मैने पहले ये सब नही किया था, लेकिन मुझे देख कर वो दोनो लड़कियाँ हासणे लगी और कहने लगी क्यों शरमाता है राजा मैं तेरी बहें हूँ और बता मुझ मे और तेरी बहें मे क्या फराक है.

कल्लू ने भी कहाँ शर्मा मत यहाँ मेरे भाई मज़े लेले आज ज़िंदगी के, उन दोनो मे से एक लड़की का नाम रोहिणी था बंगालिन थी वो लेकिन उसका कढ़ कटती लघ्हबग इशू की तरह था, मैने धीरे से उसकी तरफ इशारा किया और कल्लू ने उसे मेरी गोध मे बीत दिया.

उसके बेत ते ही मेरे टन बदन मे आग लग गई और फिर कल्लू ने कहा राजा तूँ इससे उपेर ले जा अपने साथ और मज़े कर, मई उठा और रोहिणी को उपेर वेल कमरे मे ले गया, ये मेरे ज़िंदगी का पहला मोकका था जब मैं किसी लड़की के साथ अकेले रूम मे था और सच बतुन दोस्तों मेरे से कंट्रोल भी नही हो रहा था.

और कहानिया   कैसे दोस्त ने मेरी बेहेन की सील थोड़ी भाग 1

शायद ये बात रोहिणी साँझ गई थी और उसने मुझे गले लगा लिया और मुझे किस करने लगी, मैं भी उसके साथ सिमट गया और फिर धीरे धीरे हम दोनो एक दूसरे को चाट ते हुए एक दूसरे को नंगा कर रहे थे, मैने रोहिणी का कुर्ता उतार दिया और उसकी सलवार भी, वो सिर्फ़ मेरे सामने ब्रा और पनटी मे खड़ी थी.

फिर रोहिणी ने मुहे गले लगाया और मुझे धीरे से कहा राजा तेरी बहें भी नंगी मेरी तरह लगती होगी, आज मुझे अपनी बहें साँझ और अपने आर्मन पूरे कर जो तुझे अच्छा लगे और मुझे इशू बुला, मेरे टन बदन मे आग लग गई और फिर जैसे ही उसने मुझे च्छुआ मेरा पानी निकल गया.

वो हसनैई लगी मुझे शरम आ गई, उसने फिर मुझे बड़े प्यार से पलंग पेर बेताया और कहा राजा इसमे शरमाने की कोई बात नही है पहली बार ऐसे होता है और फिर तेरी बहें इशू है भी तो बहुत सेक्सी है ना, कहते हुए वो पलंग के नीचे मेरे गुटोनो के पास बेत गई और मेरा उंड़र वेर उतार दिया और कापरे से मेरे लंड को सॉफ किया और उसके साथ खेलने लगी और कहलते खेलते कहती है राजा तेरी बहें सच मे बहुत लकी है उसके इतने दीवाने है और उसका सब से बड़ा दीवान तू है.

फिर मेरे लंड को उसने अपने मूह मे ले लिया और मानो मेरे ज़िस्म मे 440 वॉल्ट का झटका लग गया और मेरा लंड फिर से ख़ाता था, रोहिणी ने करीब 10 मीं तक मेरे लंड को बहुत अच्छे से चूसा पूरा अंदर बाहर ले कर और फिर पूछती है केसा लगा मेरे राजा, मैने धीरे से कहा मज़ा आ गया.

मैने उसे कहा रोहिणी मैं तुम्हे पूरा नंगा देखना चाहता हूँ, उसने कहा मुझे रोहिणी नही इशू बोलो पहले इशू दीदी, मैने उस कहा इशू दीदी मैं तुम्हे नंगा देखना चाहता हूँ, वो मछली की तरह मटकती हुई पलंग पेर आ कर लेट गई और मुझे अपनी बाहों मे भर लिया और कहा मैं तेरी बहें हूँ और आज तू मुझे नंगा कर अपने हातों से और मेरे ज़िस्म के मज़े ले.

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares