दोस्त ने दिया गिफ्ट

सभी मित्रो को मेरा नमस्कार.. अन्तर्वासना, हिंदी सेक्स स्टोरी, मस्तराम और कामुकता के दुनिया में आपका स्वागत है.. ये मेरी पहली हिंदी सेक्स कहानी है ! यदि कुछ गलती हो जाये तो क्षमा करें! मैं पहले अपने बारे में बता देता हूं ! मेरा नाम बिट्टू है! मेरी आयु 26 वर्ष है!मैं उत्तराखण्ड से हूँ! मैं एक छोटी सी कम्पनी में जॉब करता हूं ! मेरा कद 5.7 है ! मेरे लन्ड का साइज करीब 6 इंच है और साधारण दिखने वाला लड़का हूँ.

बात है आज से करीब 5 वर्ष पहले की जब मैं कॉलेज मे हुआ करता था ! उस समय दिन -रात मौज मस्ती में गुजर रहे थे ! खाया पीया -घूमे बहुत ऐश की ! कई मित्र भी बने जो बहुत गहरे मित्र थे ! हम एक दूसरे पर जान छिड़कते थे ! ऐसा मेरा एक मित्र था सुमित ! सोमरस का शौकीन पर एक नम्बर का जुगाड़ू ! बहुत दिनों से मैं सुमित को कह रहा था ! यार अपना गुप्त पुर्जा (लन्ड) प्रयोग किये कई दिन हो गए हैं !कुछ जुगाड़ करवा यार वो बोला देखते हैं !

ऐसे ही कई महीने गुजर गए! सर्दियां आ गयी ! हम सब मित्र मिलकर पास ही मे रहने वाले एक मित्र की भाई की शादी में गए ! सबने खूब खाया पिया मस्ती की! और अपने अपने रूम पर आराम फरमाया ! रात के 11 बजे करीब सुमित का फोन आया एक झगड़ा हो गया है ! मैं जल्दी से हाफ पैंट पहन कर भागा सुमित का रूम मुझे मात्र 5 घर दूर था! और वो जिस रूम मे रहता था ! उस रूम का दरवाजा बाहर गली मे खुलता था ! बाहर आके मैं ने देखा वहां तो कोई झगड़ा नही हो रहा था !

वो गेट पर खड़ा मुस्कुरा रहा था ! और हंसते हुए बोला आजा टैक्सी(जुगाड़) बुला रखी है !तेरे लिए बजा ले! एक बार को तो मुझे बहुत गुस्सा आया पर लन्ड के आगे कहाँ दिमाग चलता है ! अब कमरे मे अंधेरा था ! किराये का कमरा अगर मकानमालिक को पता चल जाता तो मुसीबत हो जाती ! तो मैं चुपचाप कम्बल मे घुस गया ! वो जुगाड़ नंगी कम्बल मे लेती हुई थी ! मैंने उसके चुचो पर हाथ फेरा तो मोटी मौसम्मी जैसी उसकी चूची पकड़कर मजा आ गया ! धीरे धीरे मैं उसे रगड़ने लगा और उसने भी जोश में आकर मेरा लोडा मुँह मे भर लिया और पूरा 6 इंच गले तक उतार लिया !

और कहानिया   मकान मालिक की बीवी और बेटी की ज़ोरदार चुदाई

इतनी जबरदस्त चुसाई के कारण मैं 2 मिनट भी न टिक सका और उसके मुंह में ही सनखलित हो गया और वो मेरा पूरा माल पी गयी और चाट कर मेरा लौड़ा साफ किया! अब मै महीनों से सेक्स से वंचित था तो मात्र 3 मिनट की देरी से मेरा लौड़ा फिर फ़नफनाने लगा ! और मेरे लौड़े पर उसने अपने हाथों से निरोध चढ़ाया और मस्ती में अपनी चूत पर मेरे लौड़े को लगा दिया !

मैं ने धक्का मारा पूरा 6 इंच उसकी चूत मे उतार दिया ! और रेलगाड़ी चलने लगी चुदाई धीरे धीरे रफ़्तार पकड़ रही थी ! करीब 15 मिनट बाद मैं झड़ गया ! पर उसने शायद कोई गोली ली हुई थी ! वो झड़ ही नही रही थी ! खैर फिर मेरा दोस्त उसकी पिलाई करने लगा ! 10 मिनट मे मेरे दोस्त का काम तमाम हो गया !मैं फिर से उस जुगाड़ के पास पहुँचा और वो मुझे देख कर बोली इतनी जल्दी तू फिर तैयार हो गया ! और मैं हँसने लगा !अब मेरे दोस्त को नींद आ रही थी , सिंगल बेड था! अब वो बोला तुम नीचे गद्दा डाल लो और मुझे सोने दो !अब मैंने उस जुगाड़ की नीचे लेटा कर चूची चुसनी शुरू कर दी !

करीब 30 मिनट बाद वो बोली क्यों तड़पा रहे हो करो न ? अब फिर से उसकी चुदाई शुरू हो चुकी थी, क्योंकि मैं 2 बार झड़ चुका था तो अब जल्दी तो झड़ने वाला मैं था नही ! अब धीरे धीरे फिर से घमासान चुदाई होने लगी ! कमरे में पीछे इन्वर्टर रखा था !धक्के इतने जबरदस्त हो चले थे ! की वो पीछे को सरकने लगी और सरकते सरकते उसका सिर इन्वर्टर से जा टकराया और हम दोनों हँसने लगे ! इसी तरह मैंने पूरी रात मस्ती से चुदाई की और उसके साथ 4 बार सेक्स किया !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares