दीवाली की रात आंटी जी ने चूसा

मेरा नाम राहुल है. मे रहता हू.एज 23 है. मूज़े सेक्स स्टोरीस पढ़ने का बहुत शौक है. ये कहानी मेरे लाइफ घाटी हुई है. और दीवाली आ रही थी. उसी वक़्त मेरी रिलेटिव की आंटी उनके बेटे के साथ आई थी . उनका बेटा मेरे से दो साल से छोटा था. इसलिए ह्म दोनो काफ़ी अकचे से खेलते थे. मेरी आंटी स्कूल मे टीचर है. वो बहुत सिंपल लगती थी लेकिन उसकी गांद भरे हुवे थे और चुचिया भी बड़े भरे हुवे थे. मई छोटा होने के कारण अन बहुत बार मीठी मारता था. और वो भी मूज़े अपने बहो मे लेती थी. ऐसे ही दो तीन दिन बीट गये. अब वो घर वापिस जानेवाली थी. लेकिन उनका बेटा घर वापिस जाने के लिए माना क्र रा था. मेरे आंटी के हज़्बेंड देल्ही मे जॉब के लिए कई साल घर से दूर ही रहते थे. अब तो मेरी आंटी बेटे की वजह वापिस नही जा पति थी. इसलिए उन्होने मूज़े उनके साथ घर चलने को कहा. दीवाली की सुत्टियो की वजह से मैने भी हन क्र लिया. वो ब्लॉक मे रहती थी. अब हम तीनो आंटी,मई और उनका बेटा घर वापिस आए थे.

बहुत दिन से घर बंद होने के वजह घर मे बहुत कचरा जमा हुआ था. आंटी ने कहा की, ” राहुल तुम दोनो बेड पर ही बैठो, मई थोड़ी देर मी ही सफाई क्र लेती हू” मैने उनके बतो मे हा मिला दिया. उनका घर काफ़ी ब्डा था. ट्रॅवेलिंग की थकान की वजह से उनका बेटा घर पे आते ही बेड पे सो गया. अब आंटी सारी मे थी. और वो कपड़े चेंज करने के लिए उनके बेड रूम मे गाउन लेके जेया रही थी. थोड़ी देर बाद उन्होने ज़ोर से मूज़े आवाज़ दी. मई भाग के उनके कमरे मे चला गया देखा तो आंटी ने टवल लपेट के खड़ी थी और ज़ोर से चिल्लाई” राहुल, वो देख चुहहा है” वो आधी नंगी खड़ी थी और भाग के मेरे पीछे आके खड़ी हो गयी . मेरा तो लंड खड़ा हो गया था. और भागते वक़्त उनका टवल भी फिस्ल गया था. और मैने उसे पूरा नंगा देख लिया था. अब वो चूहे के दर से मेरे पीछे खड़ी थी.
मैने रूम की विंडो ओपन करके चूहे को भगा दिया. अब आंटी काफ़ी रिलॅक्स हो गयी और मैने आंटी से देखा तो वो पूरा पसीने से भीगी हुई थी. उनका टवल शॉर्ट होने की वजह से वो अपने गेंड और चुचियो को ठीक से छिपा नही सकी. मई उन्हे एक बार देख लिया और हॉल मे आके बैठ गया. कुछ ही वक़्त आंटी गाउन पहें के आ गयी . अब वो मूज़े नज़रे नही मिला ती. उन्होने सफ़ैंकरना सुरू किया था. जैसे ही वो सफाई करने नीचे ज़ुक जाती तो आंटी के चुचिया नज़र आ रहे थे. उनके चुचियो के देख के मई समाज गया की उन्होने ब्रा नही पहनी थी. मेरा लंड बहुत उत्तेजित हो गया था. अब वो पीछे मूड जाती तो उनकी गांद की छेड़ भी दिखती . मेरा कंट्रोल नही रा , मई तुरंत बातरूम मे जाके मूठ मार रा था. मेरे लंड को सहलाते सहलाते मैने ज्ब उपर देखा तो आंटी की अंडरवेर और ब्रा थी.

और कहानिया   पातियो की एक्सचेंज भाग 1

मैने एक हाथ मे आंटी की ब्रा लेके मेरे लंड पे रगड़ रा था.और दूसरे हाथ मे उनके अंडरवेर को पकड़ के स्मेल ले रा था. और मैने काफ़ी वक़्त मूठ मार ली. मैने उनकी अंडरवेर और ब्रा पहेले जैसे ही रख के बाहर आ गया. और देखा तो आंटी अब नीचे बैठ के लादी पोछा क्र र्ही थी. मई बेड पे जाके उनके बेटे के साथ सो गया. थोड़ी देर ह्म सोक उठ गये तो घर पूरा सॉफ हुआ था और अब घर काफ़ी अक्चा लग रा था. हम दोनो मीन्स मई और आंटी का बेटा जैसे उठ गये आंटी ह्मारे पास आई और हम दोनो बहो मे लेके कहा,”नास्टा हो गया है, पहले खा लेना, बाद मे तूमे जो खेलना है खेलो” हम दोनो तुरंत नाश्ता क्र लिए और क्रिकेट खेलने लगे अब रात हो चुकी थी. नींद आ रही थी . ह्म ज़्ब खाना ख़ाके सो गये. आंटी हॉल के सोफा प्र सो गयी और मई और आंटी का बेटा बेडरूम मे सो गये.

मई गहरी नींद मे था . रात के करीब 2 ब्जे होगे. मूज़े नींद मे कुछ अजीब ही फील हो रा था. मेरा लंड खड़ा हुआ सा लग रहा था और किसी ने मेरे लंड को पकड़ा हुआ सा लग रा था. मेरी नींद खुल गयी और मैने धीरे ही आँख खोल के देखा तो आंटी मेरा लंड मूह मे लेके हल्के से चुछ रही थी. मई तो जन्नत मे जेया रहा था. आंटी अब ज़ोर से मेरे लंड को चुछ के आयेज पीछे क्रती थी. मई बहुत उत्तेजित हो रा था. लेकिन मैने आँखे नही खोली. आंटी को लग रा था की मई नींद मे हू प्र मई तो जन्नत मे जेया रा था. मैने धीरे ही देखा तो आंटी पूरी नंगी थी लेकिन मई उनको पूरा नही देख पता. अब तो आंटी को नंगे देख ते मेरा कंट्रोल सूट गया. और आंटी ने ज़ोर ज़ोर से लंड को चुचना सुरू किया.’और मई आंटी के मूह मे ही झाड़ गया. मैने धीरे से देखा तो आंटी मेरा पूरा स्पर्म पी लिया.
अब वो मेरे लंड को किस करते उठ गयी. और पीछे मूड के चली गयइ. मैने आंटी के गांद को देख लिया ..लेकिन उनके छूट के दर्शन नही हुवे. और मैने आयेज क्या किया ये मैने अगली स्टोरी मे ब्टौँगा. अगर कोई औरत लड़किया छुड़वाना या फ्लर्ट क्रना चाहती हो तो मूज़े ज़रूर रिप्लाइ क्रना

और कहानिया   शालू की मुलायम चुत को चूसा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares