बिना पति के औरत की प्यास भुजाइ

आज मैं आपको अपनी सच्ची सेक्स कहानी सुनाने जा रहा हूँ.

मेरी उम्र 27 साल है. मैं अमृतसर शहर में एक कॉलेज में क्लर्क की नौकरी करता हूँ. वहां पर तैनात सभी कर्मियों को मुझसे काम पड़ता रहता है. इसी लिए मेरे पास सबका मोबाइल नंबर होता था.

मेरी इस कहानी की अदाकारा का नाम रंजीत कौर (बदला हुआ नाम) है. वो मेरे से उम्र में ग्यारह साल बड़ी हैं. जब उन्होंने कॉलेज ज्वाइन किया था, तब तक उनका डाइवोर्स हो चुका था. वो किसी से ज्यादा बात नहीं करती थीं. पहले मैंने भी उन पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया था.

मैं नौकरी के साथ साथ पढ़ाई भी करता हूँ. इसलिए मैं खाली समय में कॉलेज की लाइब्रेरी में पढ़ाई कर लेता था. एक बार रंजीत कौर भी वहीं पर थीं. उधर ही मेरी उनसे थोड़ी बहुत बातचीत हुई, जिससे मेरी उनसे कुछ जान पहचान हो गई थी.

फिर हम दोनों कॉलेज की कैंटीन में बैठकर बातें करने लगे और चाय पीने लगे. उनसे बात करके पता चला कि उनकी एक 7 साल की बेटी भी है. वो बेटी रंजीत कौर की माँ के साथ ही रहती है. उनके पिता जी की भी मौत हो चुकी थी.

मुझे उनकी इस तरह की जानकारी होने पर उन पर बहुत तरस आया. उनसे बात करके मुझे ये अहसास हुआ कि उन्होंने अपनी शादी के बाद कभी सुख नहीं मिला था. उनके पति ने भी उनको ज्यादा प्यार नहीं दिया था. मैंने मन में सोचा कि जवानी में ही अगर किसी लड़की का पति उसको छोड़ दे तो वो शारीरिक रूप से बहुत प्यासी रही होगी.

खैर … उनसे बात करके मुझे भी अच्छा लगा और उन्होंने भी मुझसे प्रसन्न होकर मेरा नंबर ले लिया. वो बहुत धार्मिक किस्म की महिला थीं.

कुछ ही दिनों में मेरी उनसे फोन पर मैसेज के माध्यम से शुरूआती बातचीत हो गई. वो मुझे व्हाट्सप्प पर रोज गुडमॉर्निंग या साधारण जानकारी या शिक्षा से सम्बन्धित मैसेज करती थीं.
इसी तरह हमारी थोड़ी थोड़ी बात होनी शुरू हो गयी.
धीरे धीरे मैं उनसे खुलने लगा और उनको मजाक वाले मैसेज भेजने लगा. वो भी हंसने वाला स्माइली भेज देती थीं.

सर्दियों के दिन थे. मैंने एक दिन काले रंग का डीप गले वाले वार्मर में अपनी तस्वीर निकाल कर अपनी व्हाट्सप्प प्रोफाइल पर लगा दी. मैं उसमें काफी सेक्सी लग रहा था. मेरे दोस्तों ने भी मेरी इस फोटो की काफी तारीफ की थी. रंजीत ने भी तारीफ की, पर साथ में ही उन्होंने मेरी इस फोटो को हटा देने को कहा.

और कहानिया   दोस्त ने दिया गिफ्ट

मैं थोड़ा हैरान था कि ये ऐसा क्यों कह रही हैं. जब मैंने पूछा तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया. मैंने भी इग्नोर कर दिया.

अगले दिन वो मुझको फिर लाइब्रेरी मैं मिलीं. उस समय लाइब्रेरी में और कोई नहीं था. चूंकि सभी बच्चे जा चुके थे. इस वक्त मैं लाइब्रेरी के उस कोने में बैठा था, जहां बहुत काम लोग आते थे. वो लाइब्रेरी का लवर पॉइंट कहा जाता था. जहां कॉलेज के लड़के लड़कियां आकर चूमा-चाटी कर लेते थे और हाथ से एक दूसरे को मसल देते थे.

मैंने उनको मेरे पास बैठने का ऑफर किया. हमारी नार्मल सी बात हुई.
उन्होंने मुझसे पूछा- तुम यहां क्यों बैठे हो … यहां इतनी रोशनी भी नहीं आती.
मैंने कहा- मुझे अकेले में पढ़ाई करना ज्यादा अच्छा लगता है.
उन्होंने कहा- अगर किसी ने हमें यहां अकेले बात करते देख लिया, तो ऐसी वैसी बातें होने लगेंगी.
मैंने कहा- मुझे कोई डर नहीं.

वह मेरी बात काटते हुए बोलीं- वैसे भी अभी कल की ही बात है कि …
वो इतना कह कर चुप हो गईं.

मैंने उनकी आंखों में देखते हुए पूछा- क्यों कल क्या हुआ था?
मेरे जोर देने पर उन्होंने बताया कि कल यहां एक कपल पकड़ा गया था. उन्होंने पास ही वहां पर लड़की की जीन की पड़ी हुई बेल्ट दिखाई और थोड़ा शर्मा गयी.
हम दोनों हंस पड़े.

मैंने कहा- चलो … फिर कैंटीन चल कर बात करते हैं.

बातों ही बातों मैं मैंने उनसे पूछा कि कल आपको क्या हो गया था. आपने मेरी वो फोटो हटा देने को क्यों कहा था?
वो हंसने लगीं और कहने लगीं- वो …
बस इतना कह कर वो चुप हो गईं. उन्होंने कुछ नहीं बताया.

मैंने थोड़ा नाराज हो जाने वाला चेहरा बना लिया.
वो कहने लगीं- व्हाट्सप्प पर बताऊँगी … अभी मैं लेट हो रही हूँ.
इसके बाद हम दोनों अपने अपने घर चले गए.

और कहानिया   पड़ोसन की नाज़ुक चुत का भोसड़ा बनादी 2

रात को वो थोड़ा लेट ऑनलाइन हुईं. मैंने बात करनी शुरू की और फिर से अपना सवाल दोहराया.

वो थोड़ी देर के लिए चुप कर गईं. फिर उन्होंने कुछ देर बाद बताया कि वो फोटो बहुत सुन्दर थी, इसलिए कहा था.
मैंने कहा- मतलब?
उन्होंने कहा- तुम उसमें कुछ ज्यादा ही सेक्सी लग रहे थे.

मैं अपनी तारीफ सुनकर ज्यादा ही खुश हो गया. मेरा लंड इतने में ही खड़ा हो गया. मैंने मन में सोचा कि अगर थोड़ी मेहनत और की जाए, तो ये सैट हो सकती हैं और मुझसे चुदवा भी सकती हैं.

उस दिन हमारी नार्मल से कुछ ज्यादा देर बात हुई.

अब मैं कभी कभी डबल मीनिंग वाले मैसेज भी भेजने लगा. वो मुझको शैतान कह देती थीं और स्माइल करने वाला स्माइली भेज देती थीं.

एक दिन अमृतसर में बहुत बारिश हुई. हमारे घर में थोड़ा थोड़ा पानी भर गया था. उस दिन मैंने बारिश में रेन कोट पहन कर पानी की बाल्टियों से पानी को बाहर निकाला और साथ साथ बारिश में नहाने का मजा भी लेने लगा. जब मैं वापिस आया, तो मैंने शर्ट उतार कर अपनी एक फोटो खींची और रात को रंजीत को सेंड कर दी.

मैंने उनसे पूछा- ये कैसी है?
उन्होंने मुझे बदमाश कह दिया और जवाब दिया- सुपर हॉट.
साथ में एक दिल वाला स्माइली भी भेज दिया.

उस रात हमने देर रात तक बात की. बातों ही बातों में उन्होंने मुझसे कहा- साहिल, मुझे कुछ कुछ फील हो रहा है.
मैंने भी उनको कहा- हां मुझे भी वही फीलिंग आ रही है.
उन्होंने पूछा- कौन सी?
मैंने कहा- लव वाली.

उन्होंने चुप साध लिया. मैंने अगले ही मैसेज में आई लव यू का मैसेज कर दिया.

मैं इसको भेजने के साथ में डर भी रहा था. क्योंकि एक तो वो मुझसे उम्र में काफी बड़ी थीं … और दूसरा मेरे ही कॉलेज में जॉब भी करती थीं. अगर गुस्सा कर जातीं और किसी से बात शेयर कर देतीं, तो मेरी बड़ी बदनामी हो जाती.

पर जितना मैं सोच रहा था, हुआ उससे उल्टा. उनका भी पॉजिटिव रिस्पांस आया. उन्होंने भी ‘आई लव यू टू..’ का मैसेज भेज दिया.

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares