दीदी की जबरदस्त चुदाई

अन्तर्वासना चुदाई के फैंस मुझे बेहेन भाई की चुदाई कहानियां बहुत अच्छी लगती हैं. में सीधेअपना पहला स्टोरी दीदी की जबरदस्त चुदाई पेश कर रहा हु. कोई गलती हो जाए तोह माफ़ कर देना. ये एक सच्ची अन्तर्वासना चुदाई कहानी है.

जो मेरे और मरे बेहेन की बिच में हुआ है. अब में आप लोगो को अपनी बेहेन के बारे में बताता हु.उसका नाम स्विटी है & वो स्टडीस में बहुत अच्छी थी और वो २० साल की है रंग ज्यादा गोरा और साफ़ है. फिगर किसी को भी पागल बना सकते हैं.

सबसे अट्रैक्टिव चीज जो उसके अंदर है वो है उसकीअदाएँ और उसका फिगर. उसका फिगर ३४ २६ ३७. है. बूब्स बहुत बड़े नहीं पर काफी सख्त और गोल हैं.

जब उसकी मटकती हुयी गांड को कोई भी देख ले तो उसका लुंड भी सुर कर के खड़ा हो जाये और में १८ साल का लड़का लुंड ८” का.तो कहानी पर आते हैं तोह दोस्तों सब अपने लुंड को सम्भालो & देसी सब गर्ल्स अपने छूट में ऊँगली डालके बैठो.जब स्विटी १ साल बाद बेंगलोरे से आयी थी.

तब उसको देककर मेरा लुंड अपना औकात में आज्ञा था. उसके बूब्स & गांड का साइज जैसे दुगना हो गया था. लेकिन मेने अपना आप को क्रटरल करके रखा कुकी.

तब में सिर्फ उसको अपना बेहेन मंटा था. वो आते ही सबको हुग किआ मुझे भी किआ कुछ देर हमने बाते की तोड़ी देर बाद वो अपने रूम में गए फ्रेश होक भर आयी हमने एक साथ डिनर किआ रात को जब मेने नेट करने के लिए उसका लैपटॉप लिए.

तोह मैं उसकका पिछ देकने लगा तभी मुझे एक फोल्डर नज़र आया फोल्डर का नाम था मिफव.वविदेओस ओपन किआ तोह में चौक गया वह लगभग २०० पोर्न वीडियोस और बहुत सारे नंगे पिछ थे.

रात के १२ बजरी थे और ये सब देककर मेरा लुंड खरा हो गया. मेने वो वीडियोस देखि & मुठ मारी और सू गया. सुबह उठा तोह ९ बजरी थे में जल्दी से फरह होक जाके ब्रेकफास्ट करने लगा.

तभी दीदी अपने रूम से बहार आयी. में उसको देकता ही रह गया शार्ट स्कर्ट और एक टाइट टी-सहित एकदम बम लगरही थी. फिर उसने माँ को बोलै की वो अपने पुराने दोस्तों से मिलने जारही है में भी बर्कफ्स्ट करके सलग चला गया.रत को फिर से दीदी के लैपटॉप में पोर्न देककर मुट्ठी मारी और सो गया.

और कहानिया   मेरी स्टूडेंट कीर्ति की चुदाई

ऐसेही १ हफ्ता चला गया. दीदी रोज सुबह अपने दोस्तों से मिलने जाती थी. तोह मेने प्लान बना कर एकदिन जल्दी सलग से आज्ञा और मेने दीदी ले सामान चेक करने लगा. तभी मुझे उसके सामान में से एक नकली लुंड यानि एक डिलडो मिला और मुझे बहुत गुस्सा आया की वो बेंगलोरे में पड़ने गयी है या मज़ा लूटने तबसे मेने सोच लिए की अब में उसके सारे राज खोलूंगा.

नेक्स्ट डे संडे था तोह माँ-डैड सुबह ही मां के घर गुमने चले गए थे दीदी को बोलै की में दोस्त के घर जारहा हु शाम को ही आऊंगा आप दरवाजा अंदर से ही लॉक कर दीजिए और में चला गया दोस्त के घर जाके देखा वो अपने डैड को लेकर घर से बहार आरहा था

तो मेने पूछा की कहा जारहे हो तोह उसने बोलै की उसके डैड बीमार है वो उनको लेकर डॉक्टर के पास जारहा है तोह मेने उसको जाने दिए और में भी घर चला आया घर आते समय मेने देखा की हमारे घर के सामने एक बाइक बंद है तो मुझे कुछ शक हुआ की कोई अंदर दीदी के साथ है तोह मेने पीछे के रस्ते से घर के अंदर गया तो मेने देखा की दीदी का एक दोस्त जिसका नाम रणबीर है

वो दीदी के रूम पे नंगा लेता हुआ था में दरवाजे के पास चुप कर देकने लगा तभी दीदी बाथरूम से बहार आयी और वो भी पूरी नंगी थी ये सब देककर मेरा लुंड महाराज खरे हो गए मेने अपना एक हाथ अपने लुंड पे रक्के हिलने लगा मेने पहली बार किसी लड़की को अपने आखो के सामने नंगा देखा था

के बड़े बड़े बूब्स और रसीले छूट को देकने लगा आके रणबीर के पास बैत गयी मेरी नज़र उसके छूट प् पड़ी एक बी भल नहीं था छूट में मन कररहा था की अभी जाके चेतना सुरु करदु रणबीर बोलै-स्विटी १ साल बाद तेरे घर पे आके तुझे छोड़ रहा हु तेरे बिना बहुत तारपा हु १ साल में दीदी बोली-में भी यार में बहुत बर्फ बनाया लेकिन कोई भी मुझे सटिस्फी नहीं क्र सका की खुजली इतनी बढ़ गए थी की मेने एक डिलडो से ही खुद को रोज़ सटिस्फी किआ

बोलकर दीदी ने रणबीर का लुंड अपने हाथो से हिलने लगी और बोली राहुल को नहीं आया अज्ज?तोह रणबीर बोलै-वो अपने नानी के घर गया है रहता तोह हम दोनों मिलकर तेरी छूट और गांड मरते.तोह रंडी दीदी बोली- साल की थी जब से तुम दोनों से छुड़वा रही हु लेकिनफिर भी ये जालिम छूट और गांड की खुजली ही नहीं काम होती.

और कहानिया   लंड की प्यासी कामुकता लड़की की मस्त चुदाई

ये सुनकर मुझे गुस्सा चारा में सोचने लगा की रंडी दीदी अपने दोस्तों से पिचले ५ सालो से छुड़वा रही है. अब में उसको अपनी बेहेन नहीं बल्कि एक प्यासी रंडी की नजरो से डेक रहा था. अब दीदी ने रणबीर की मोटा लुंड अपनी मुँह में ले लिए और बड़े मज़े लेकर चूस रही थी रणबीर भी रंडी दीदी की बूब्स के साथ खेल रहा था

कुछ देर बाद दीदी बिस्तर पर लेट गयी अब्ब रणबीर रंडी दीदी की छूट चाट ने लगा. और दीदी जोर से सिसकारी ले रही थी…आआह्ह्ह्हह्ह्ह्हह चाटूवूओ….मेरिइइइइइ…..छुटटटटटट……कूऊऊऊ..औरतेज़ाहहहहहहहह मंत विषत ऐसे ही दीदी की छूट छत्ता रहा फिर रणबीर उठा और दीदी ने अपने टांगो को फैला दिए और रणबीर ने अपना लुंड रंडी दीदी के छूट ने गुस्सा दिए.

फिर जोर से दक्का मारा दीदी के मुँह से बेचैन सिसकरियों की अवाज़ाए आने लगी aaaaaaahhhhhhhhhhaaaaaa अछ्छा लार रहा है. छोड़ो मुझे छोड़ो aaaaaaaaaaaaaahhhhhhhhhhhh विशाल जोर जोरसे दक्का लगा रहा था १० मंत बाद दीदी ुटके गॉधी बन गए.अब्ब रणबीर दीदी की गांड में लुंड गुसा रहा था दीदी फिरसे aaaaaaaahhhhhhhhhhhh uuuuuuuuuuuuiiiiiiiiiiii अअअअअ मममममममम करने लगी.

फिर रणबीर का सायद होने वाला था तो खड़ा हो गया. और लुंड दीदी के मुँह में दे दाल दिए. दीदी mmmmmmmmmmmmmm करके लुंड को चूस रही थी. तभी रणबीर का स्पर्म निकल गया दीदी ने सारा स्पर्म पी लिए और लुंड को चूस कर पूरा साज कर दिए रंडी दीदी अभी तक झरि नहीं थी.

अब्ब रणबीर ने दीदी की नकली लुंड को बैग से निकला और दीदी की छूट में अंदर बहार केने लगा अब्ब दीदी पागलो की तरह aaaaaaahhhhhhhhhhhhhhhh अह्ह्ह्हह्हआआअह्ह्ह्हह्ह्ह्हह्ह्ह्ह करने लगी तेज़ी से पिचकारी छोड़ने लगी इतने में मेरा भी दो बार हो चूका था फिर दोनों कुछ देर बिस्तर पे लेट रहे फिर रणबीर उठा और कपडे पेहेन्ने लगा फिर दीदी को बोलै की अगली बार कब करेंगे तोह दीदी ने बोलै की चांस मिलेगा तोह में फ़ोन करके बता दूंगी रणबीर हस्ते हुए रूम के बहार आने लगा और में जल्दी से अपने रूम में जेक सो गया….