डेलिवरी बॉय के साथ बीएफ ने मुझे शेर किया

हेलो दोस्तो, मेरा नाम रीमा है. मे 23 साल की हू. मेरी फिगर 34-32-36 है. मे दिखने मे फेर हू और थोड़ी चब्बी होने के वजह से सॉफ्ट बॉडी है मेरी.

छ्होटी उमरा मे ही पॉर्न और दोस्तो की वजह से मे सेक्स मे इंट्रेस्टेड हो गयी थी. मे पिछले 2 साल से जॉब की वजह से मेरी फॅमिली और होमटाउन से दूर रह रही हू. स्टार्ट मे तो मे प्ग मे गर्ल्स के साथ रहती थी पर फिर 6 मंत एक एक्स ब्फ के साथ रही और पिछले 1 साल से करेंट ब्फ के साथ.

वैसे तो मे बिंदास टाइप की लड़की हू, मेने कई डेरिंग काम किए है सेक्स के लिए जैसे की पार्क, थियेटर, चेंज रूम, कार ऐसी जगह पर माकेऔट या सेक्स किया है. पर अभी मे आपको जो कहानी बताने जेया रही हू वो मेरी अब तक की सबसे डेरिंग कहानी है.

मे और मेरा बाय्फ्रेंड अपनी सेक्स लाइफ मे बहोट ही आक्टिव और इनोवेटिव है. हुँने बातरूम सेक्स, कार सेक्स, पब्लिक प्लेस सेक्स, सेक्स टाय्स, ब्दसम सब कुछ ट्राइ किया हुया है.

एक बार उसने मुझे अपनी एक फॅंटेसी बताई की वो मुझे किसी स्ट्रेंजर के साथ सेक्स करते हुए देखना चाहता है. पहले तो मे खुद सर्प्राइज़ हो गयी लेकिन फिर उसने मुझे कई पोर्नस दिखाई, रियल कपल्स जिन्होने ये सब किया हुया हो उनकी स्टोरीस दिखाई ऑनलाइन साइट्स मे. तो ये सब से मुझे भी इंट्रेस्टिंग लगा तो हुँने ट्राइ करने का सोचा. लेकिन मेने कहा था मेरे ब्फ से की मे सिर्फ़ मूह महि लूँगी फर्स्ट ट्राइ मे.

मेरे ब्फ का ही आइडिया था की फुड डेलिवरी करवाते है और उसी डेलिवरी बॉय के साथ मे सेक्स करूँगी हुमारे घर के हाल मे. मेरे ब्फ ने मेरा सेक्स देखने के लिए हाल मे कॅमरा लगवाया और बेडरूम मे बेताके देखने का फिक्स किया.

हुँने एक आचे से महँगे रेस्टोरेंट से फुड डेलिवर करवाया और कोई अप का उसे नही किया, डाइरेक्ट ही कॉल करके करवाया ताकि आचे से रेस्टोरेंट का कोई यंग लड़का आए तो सेक्स मे मज़ा भी आए. उसे सिड्यूस करने के लिए मेने सिर्फ़ गाउन ही पहनी वो भी ट्रॅन्स्परेंट थी और मेने अंदर कुछ ना पहना.

और कहानिया   ये क्या होरहा है भाग 3

ये चीज़ नयी और अजीब थी तो मेने रेडी होने के लिए 3-4 विस्की शॉट्स पिए थे. ताकि थोड़ी टिप्सी हो जौ तो ये कर साकु मे और जेसे ही ऑर्डर किया हुँने थ्रीसम का पॉर्न देखना शुरू कर दिया.

अब मे ये देखके थोड़ी हॉर्नी हो गयी थी, मेरी छूट गीली और निपल्स हार्ड हो गये थे. निपल्स ईज़िली किसी को भी दिख जाए मेरे गाउन से ऐसी हालत थी मेरी. 20 मीं के बाद घर की बेल बाजी, मेरा ब्फ अंदर चला गया रूम मे और मेने डोर ओपन किया.

मेने सामने 35 साल के आसपास का एक बंदा देखा, आवरेज बॉडी और 5’8 की हाइट का. वो मुझे ऐसे गाउन मे देखते ही रह गया, उसने उपर से लेके नीचे तक मुझे देखा और फिर मेरे चुचो को देखता ही रह गया और उसका मूह भी खुला ही रह गया.

मेने उसे बुलाया और उसके नाम पूछा. समीर नाम था उसका, फिर पैसे लेने के बहाने मे अंदर गयी और उसे कहा की आप अंदर आओ मे लेके आती हू और बोलके फुड पॅकेज कित्सेन मे लेके आ गयी. उसने साथ मे पानी भी मँगवाया.

तभी मेरे दिमाग़ मे उसे सिड्यूस करने का एक आइडिया आया. मे पानी का ग्लास लेके गयी पहले और उसके सामने जाके आपने आप पर पानी गिरा दिया.

अब मेरी गाउन गीली होने के वजह से स्किन से चिपक रही थी और मेरा स्किन भी दिख रहा था, खास करके मेरे बूब्स और चुचे. मे भी अपने आप को सिड्यूसिंग वे मे टच करने लगी. कभी बूब्स टच करती तो कभी पूरा बदन और वो सिर्फ़ मुझे गुर ही रहा था. उसे समाज ही नही आ रहा था क्या हो रहा है.

लेकिन उसका पंत मे उसका लंड दिखा रहा था की वो भी अब हार्ड हो रहा है. मे अपनी नीस पे बेत गयी और मेरा गाउन निकल दिया मेने.

अब जैसे की उसके मूह से पानी तपाक रहा हो और ऐसे हालत हो गयी उसकी. मे अपने बूब्स को प्रेस करने लग गयी और लीक करने लग गयी जहा तक मेरी जीभ पह्ोछ पाए. फिर उसके लंड के पास जाके बोली की यहा पे कुछ हार्ड दिख रहा है मुझे, आप बुरा ना मानो तो देख लू क्या है यहा.

और कहानिया   वीदेसी मॉनिका आंटी के मज़े लिए-1

वो अभी भी शॉक मे लग रहा था. वो सोच रहा होगा ये क्या हो रहा है आज मेरे साथ. सिर्फ़ उसने अपना सर हिलाके हा का इशारा किया. मेने उसके पंत का बटन खोला और फिर ज़िप नीचे कर दी.

उसका लंड बहोट हार्ड हो चुका था, उसके अंडरवेर के नीचे दिख ही रहा था. अंडरवेर के उपर से ही मे उसके लंड को चाटने लगी और चबाने लगी. फिर जैसी ही उसका अंडरवेर और पॅंट्स दोनो नीचे कर दिए, मेने देखा उसका 8 इंचा का लंड और लंड के आसपास के बाल.

वैसे दोस्तो मुझे रफ सेक्स बहोट पसंद है, कोई मुझे डॉमिनेट करता रहे, मूह छोड़ता रहे मेरा और गंदी किकी फॅंटेसी वाला हो जैसे की यह था वो भी मुझे अछा लगता है. मे खुश हो गयी अंदर ही अंदर की आज मज़ा आएगा.

ये जानके आपको शायद अजीब लगे लेकिन जब लाकड़ो ने अपने बाल शेव ना किए हो लंड के आसपास तो जब मे दीपत्र्ोआट करू और उनका लंड पूरा मूह मे हो और मेरी नाक उन जांतो मे तो जो स्मेल आती है वो मुझे बहोट ही ज़्यादा पसंद है. वो पसीना और मूत की स्मेल मुझे मदहोश और ज़्यादा रफ होने मे हेल्प करती है.

मेने उसका लंड का टिप अपने मूह मे लिया और जैसे उसको एलेकटिक शोख लगा हो वैसे कँपने लगा. मेने उसे रेअलक्ष होने को बोला और चुस्ती ही रही उसका लंड.

2 या 3 मिनिट ही हुए होंफे ही उसने जड़ दिया मेरे मूह मे ही. मे बहोट निराश हो गयी लेकिन एक अची रंडी की तरह सारा माल उसका मेने पी लिया. फिर पूछा उससे की क्या हुया सँीरभाई इतनी जल्दी क्यूँ जड़ गये.

तभी उसने सक्चाई बताई की उसने ये सब एक्सपेक्ट नही किया था और ज़्यादा उत्तेजित होने की वजह से जल्दी ही जाध दिया. वरना घर पे अपनी बीवी को तो घंटे तक छोड़ता हू. मेने पूछा की फिर से लंड उठ जाएगा तो रूको मुझे सॅटिस्फाइ करके जाओ. लेकिन वो बहोट शर्मा रहा था और फुल्ली रिलॅक्स्ड नही था.

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published.