चची की प्यास भुजी मेरे लुंड से

हैलो दोस्तो। आज मैं आपके के लिए एक नई कहानी ले कर आया हूँ। मैं आपका समय बर्बाद न करें के कहानी शुरु करते है।
ये तब की है जब मैं 17साल का था। मैं अपने दादा के घर गया था। उससे पहले मैं आपको अपने बारे मे बता देता हूँ। मेरा नाम रोहन मोरे है। मैं अभी 20 साल का हू।
मेरा लण्ड 7 इंच है। अब मैं अपनी चाची के बारे मैं बताता हूँ। मेरी चाची जिनका नाम भारती है। इनकी उम्र 30 साल है।ये जायदा गोरी तो नही पर हॉट जरुर है। मेरी चाची के होट बोहत रसिले है। चाची की आखे बडी-बडी और नशीली है। मेरी चाची की चूचि (boobs) का साइज़ 30 और निप्प्ल नुकीले जेसे मानो ब्रा चीर देगे।उनकी गाड की साइज़ 34 और कमर 28 की है।
मैं अपने दादा के घर पर रह रहा था मेरे दादा के अलावा दादी, मेरे ताऊ, ताई और उनके बच्चे रहते है इनके अलावा मेरे चाचा जो बाहर रहते थे और मेरी चाची और उनके दो बच्चे साथ रहते थे।
मैं अपनी चाची को कब से चोदना चाहता था पर डर लगता था पर एक रात हम सब बच्चे एक भूत की मूवी देख रहे थे हरे साथ चाची भी देख रही थी मेरी चाची को भूत से डर लगता था इसलिए वो डर के मारे मेरा हाथ पकड लेती उस मूवी के एक सीन मे भूत आया तो चाची डरी और मेरा हाथ पकड़ लगी तो मैने रोका ओर उनको भूत का सीन देखया उसके चक्कर मे मैने चाची की चूचि पर हाथ लगया और थोडा मसल दिया। उनको इसका पता नही चला। और मेरा लण्ड खडा हो गया। उसको छुपते होए मैं चाची के बाथरूम मे गया और उनकी ब्रा और कोमल जेसी चढ़ी को छुआ और मूठ मारी मेरा वीर्य (सीमन) को उनकी ब्रा और चड्डी मे छोड दिया। और 15 मिनट बाद मूवी देखने चला गया। मूवी खतम हो गई पर मेरे मन मे चाची को चोदने के सपने बन रहे थे। सवेरे मैं 5 बजे जल्दी उठ गया और चाची के पास वाले कमरे मे जाकर बेठ गया। 1 घंटे बाद चाची उठी और नहाने गई तो उनका दरवाजा ढंग से बन्द नही हुआ था और मैं उने कांच से देख रहा था। उन्होने वो ब्रा और चड्डी पहन ली थी। जिस पर रात को मैने मूठ मारी थी उस पर वीर्य के निशान दिख रहे थे। मैने उने नहाते होए देख लिया पर पीछे से और मेरा लण्ड भी खडा हो गया था। अब मेरा मन चाची को चोदने को दौड़ता था।
ऐसी ही एक सुबह मैं 4 बजे उठ गया। और मैं हिम्मत करके अपनी चाची के रूम मे गया। वो एक टी शर्ट और निकर मे सो रही थी। मैं उनको दूर से देख रहा था उनका टी शर्ट उपर होगया था और मैं अपने आप को नही रोक पाया और उनके पास गया और उनके मुह पे मूठ मार के वीर्य छोड दिया। मैं जल्द ही रूम से बाहर उनके बाथरूम मे चला गया। मैने उनकी ब्रा और चड्डी को गीला कर दिया जिससे वो उने नही पहन सके। मेरी चाची उठी और बाथरुम मे जाकर कांच मे अपने चेहरे को देखकर सोच रही थी की ये किसने किया। फिर वो नाह रही थी मैं उने देख रहा था। नाहने के बाद वो अपने कपडे पहन रही थी तो उन्होने देखा की उनकी ब्रा और चड्डी गीले थे।तो वो बिना ब्रा और चड्डी के उन्होने अपनी साडी पहन ली। अब मैं उनकी तरफ और आकर्षित हो गया। और जब वो घर मे काम करने झुकती तो मैं उनके चुचे देख रहा था। और उसी रात हम ने सब फिर से मूवी का प्लान बनाया। और सभी ने मना कर दिया पर चाची और उनके बच्चो ने हाँ कर दिया तो हम चारों ने एक मूवी देखी। उस मूवी का नाम एनाबेला था। वो भी एक भूत की मूवी है। इस मूवी को देखते समय मेरी चाची उलटी सो रही थी और मैं उनके बगल मे उलटा सो रहा था। उस को मैं नही देख रहा था मैं तो चाची को अपने हाथो से छूने की कोशिश कर रहा था फिर एक दम से चाची डरी और मेरा हाथ पकड लिया और मैं भी डर के बहाने उनसे चिपक गया।
चिपकते ही मेरा लण्ड खडा हो गया। मैने धीरे धीरे से उनके चुचो को हाथ लगाने लगा। तो मेरी चाची एकदम हिली तो मेरा हाथ उनके चुचो के नीचे दब गया और चाची को देखकर मैने उनके चुचो को मसलने लगा। पर चाची को डर के मारे पता ही नही चला। तो मैने हल्के से हाथ निकाल लिया। थोडी डर बाद मूवी भी खत्म हो गई और चाची को नींद भी आ गई तो मैंने उनके चुचो के उपर हाथ फेरा और दबाने लगा। इससे चाची जाग गई और अपने आपको ठीक करने लगी तब मैं बोला “चाची आज मैं भी यही सो जाऊ ” चाची ने बोला “हाँ सो जाओ पर बच्चो को जगाना मत” फिर मैं चाची के कमरे मे सो गया। चाची मेरे सोने के बाद अपने निकर और टी शर्ट को बदलने लगी। उन्होने अपनी साडी उतार दी तो मेरा मन किया कि इने यही चोद दू। उन्होने अपना पेटीकोट को उतार दिया। उसके बाद का सीन देखकर मैं पागल हो गया उन्होने मेरे सामने अपनी चड्डी भी उतार दी। उनकी एकदम मस्त चुत के दर्शन हो गये उस पे बाल भी थे उन्होने अपनी चुत के बालो को साफ करने के लिये मशीन निकली और साफ करने लगी पहले जो चुत बालो मे से जाक रही थी। वो अब मेरे को साफ देख रही थी। उसके बाद उन्होने अपना ब्लाऊज उतार और अपनी ब्रा को भी इतार दिया। मैने नींद से जागने का बहाना करने लगा तो चाची डर गई तो एकदम से जाग गया तो शर्म के मारे उलटी घूम गई। तो मैं सॉरी बोल कर सो गया फिर उन्होने अपनी ब्रा और चड्डी व अपने रात के कपडे पहनकर सो गई। मेरे को अब नींद नही आ रही थी। मेरे दिमांग मे उनकी चुत चल रही थी। ये सोचते मुझे नींद आ गई और मैं रात को 2बजे उठ गया मैने चाची को देखा तो टी शर्ट उपर हो चुका था। मैं उन्के पास गया और होटो को छूने लगा फिर मैंने सोच लिया कि मैं आज चाची की चुत की चुदाई करनी है चाहे कूछ हो जाये। तो मैंने उनके पेट पर हाथ रख कर सहलाने लगा धीरे धीरे चुत की तरफ जाने लगा जैसे ही मैंने अपना हाथ चुत मे डाला तो चाची जाग गई और कहने लगी ये क्या कर रहे हो। मैने कहा कि आपकी मालिश। चाची ने मना कर और सो गई पर मैने उनके होटो पर किस कर दी और एक अंगुली चुत मैं डालने लगा चाची मेरे से दूर जाने का प्रयास कर रही थी पर उने समझाया कि मेरा लण्ड उनको देख कर बार बार खडा हो जाता और मैं उनके साथ सुहागरात मनाना चाहता हूँ कूछ देर बाद वो मान गई। फिर मैंने लिप किस किया। चाची ने मेरे को खुद के कपडे उतार ने को बोला तो मैने पहले चाची का टी शर्ट उतार दी ब्रा के उपर से चुचो को दबा रहा था और चाची आआऊऊईई स्स्स्स हम्म्म्म मम्मी फिर चाची की ब्रा उतार दी चूचि को मुह मे ले लिया और निप्प्ल को काट रहा था और ये सभी मैं अपने फोन मे वीडियो रिकॉर्ड कर रहा था। चाची मना कर रही पर मैं नही माना। मैं चाची की निकर और चड्डी को उतार दिया और चुत मे अंगुली कर मजा आ रहा था चाची को भी मजा आ रहा था चाची कहती आ आअ आआऊऊईई स्स्सस चोद दे जल्दी मैं 6 महीने से नही चूदी हू मैने अपना लण्ड निकाल कर चाची के मुह मे दे दिया चाची ने मुह के बजाये सीधा चुत मे ले लिया पर मैने निकाल कर मुह मे दे दिया फिर चाची मेरे लण्ड को अन्दर बाहर कर रही थी 15 मिनट बाद मैं झडने वाला था तो मैने मुह मे वीर्य निकाल दिया जेसे ही चाची वीर्य थकने वाली थी मैने हाथ से मुह बाद कर दिया जिसके कारण वो सारा वीर्य पी गई। फिर 5 मिनट बाद मेरा लण्ड फिर तेयार मैने लण्ड को चाची की चुत मे एकदम से डाला तो चाची हाए मैं मार गई स्स्स आआ आआऊऊईई उउउफ्फ्फ़ हम्म्म्म मैं लण्ड को अंदर बाहर कर रहा था। मैं ये 30 मिनट तक किया। फिर अब मेरी चाची झड गई पर मैं नही कूछ देर बाद मैं झडने वाला था मैने वीर्य चाची की चुत मे ही छोड दिया। चाची को पता ही नही चला। फिर मैंने लण्ड को चाची की चुत मे रख कर चाची को अपने उपर लेटा कर हम दोनो सो गये। 5 मेरी नींद खुली तो मेरा लण्ड चाची की चुत मे था वो खडा होने लगा मैंने फिर से चोदना शुरु कर फिर दर्द से चाची भी उठ गई। मैं और नगे ही बाथरूम मे नहाने चले गये वहा मैने चाची की गाड मारी फिर हम दो तैयार हुए और सामान्य बर्ताव काने लगे।
आपको मेरी कहानी कैसी लगी बताना।

लेखक – रोहन मोरे