चाचा ने की माँ की चुदाई

तभी मैंने देखा कि चाचा ने अपने लंड पर तेल लगाया और अपना लंड मेरी मम्मी की गांड के छेद पर रख दिया था, उन्होंने एक झटका दिया मम्मी की चीख निकल पड़ी चाचा के लंड का टोपा मेरी मम्मी की गांड के छेद मे चला गया था। चाचा बार बार कोशिश कर रहे थे, लेकिन पूरा लंड अंदर नहीं जा पा रहा था। मेरी मम्मी ने अपना हाथ पीछे की तरफ करते हुए अपनी गांड को फैला दिया जिससे उनकी गांड का छेद थोड़ा और खुल गया।

अब चाचा ने पूरी ताक़त लगाकर झटका दिया, उनका पूरा लंड मेरी मम्मी की गांड के अंदर चला गया और चाचा धीरे धीरे अपना लंड अंदर बाहर करने लगे। चाचा मेरी मम्मी के ऊपर लेटे हुए थे और उन्होंने अपने दोनों हाथ मेरी मम्मी के कंधे पर रख रखे थे और जोर जोर के धक्के दे रहे थे। मम्मी आहह मर गई ओफफफफफ कर रही थी। पूरे कमरे में थप थप पुचक पुक्क्कककक की आवाज़ आ रही थी।

चाचा के हर झटके पर मेरी मम्मी के चूतड़ हिले जा रहे थे। मेरी मम्मी ने चाचा से कहा धीरे धीरे करो प्लीज चाचा ने मेरी मम्मी से कहा भाभी जब मैंने तुझे देखा था, तभी मैंने सोच लिया था मुझे तेरी गांड मारनी है, चाहे कुछ हो जाए आज में तेरी गांड फाड़ दूँगा।

ये कहकर चाचा मेरी मम्मी की गांड और जोर से मारने लगे और मम्मी ज़ोर ज़ोर से सिसकारियाँ लेने लगी। पूरे रूम में पलंग हिलने की आवाज़ गूँज रही थी।

करीबन 20 मिनट तक ऐसे ही चाचा ने मेरी मम्मी की गांड मारी फिर चाचा ने अपना वीर्य मेरी मम्मी की गांड के छेद में ही गिरा दिया। कुछ देर तक चाचा ऐसे ही मेरी मम्मी के ऊपर लेटे रहे और मेरी मम्मी की पीठ चाटते रहे।

मेरी मम्मी और चाचा पसीने से लतपत हो गये थे। फिर मम्मी उठी वो बाथरूम में गई और उन्होंने वहाँ पर शावर लिया और आकर अपने कपड़े पहन लिए चाचा नंगे ही बेड पर लेटे हुए थे।

और कहानिया   मेरी न को हाँ समाज कर चोद दी मांमाँ ने

वो मेरी मम्मी को देख रहे थे। मम्मी ने चाचा से कहा कि प्लीज मुझे घर छोड़ दो, चाचा ने मम्मी से कहा भाभी आज रात मेरे पास ही रुक जाओ में पूरी रात तुझे चोदूंगा। मम्मी ने कहा अब नहीं बहुत हो गया, फिर चाचा ने कहा ठीक है में आपको छोड़ देता हूँ, लेकिन जब तक आप यहाँ पर हो में आपको रोज़ चोदूंगा।

मम्मी ने चाचा की तरफ देखा और दोनों हँसने लगे, मम्मी ने कहा ठीक है में दस दिन और हूँ यहाँ पर आपका जब दिल चाहे बुला लेना। फिर दोनों एक दूसरे को किस करने लगे, फिर में वहाँ से घर चला गया। दादी ने पूछा कहाँ गये थे? तभी मैंने उनसे कह दिया खेलने गया था। फिर आधे घंटे बाद चाचा मेरी मम्मी को लेकर आ गये।

दादी ने पूछा क्या घुमा दिया अपनी भाभी को?

चाचा ने कहा हाँ काकी आज भाभी को बहुत घुमाया, ये कहकर चाचा और मेरी मम्मी दोनों मुस्कुराने लगे।

फिर अगले दस दिन तक सीबू चाचा ने मेरी मम्मी को रोज़ चोदा, कभी अपने घर ले जाकर कभी खेत में ले जाकर उन्होंने मेरी मम्मी को चोद चोद कर पूरी रंडी बना दिया।

लेकिन मेरी मम्मी भी इस चुदाई का पूरा मजा लेती थी। उन्होंने मेरी मम्मी की चूत, गांड, मुहं, एसी कोई भी जगह नहीं छोड़ी जहाँ पर उन्होंने मेरी मम्मी की चुदाई ना की हो और में चुपके से रोज़ मम्मी की चुदाई देखता रहा।

मैंने मम्मी से इस बारे में कभी जिक्र नहीं किया कि मुझे सब पता है।

Pages: 1 2 3 4

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *