बुआ को हमारे वकील चोदा

फिर कुछ देर रुक कर उन्होने एक और धक्का मारा और उनका पूरा लंड बुआ की छूट मेी चला गया था और आब उन्होने धीरे धीरे धक्के मरने शुरू किए और आब उनके हारे क धक्के के साथ स्ाआत बुआ जी आवाज़े निकल रही थी… अहः आ आ… आहह… ईईईई. फिर धीरे धीरे उन्होने अपनी स्पीड बढ़ा दे और पूरा रूम बुआ की चीखो से एयेए ह आहह आहह… उम्म्म… ठप ठप.. छाप.. और बीच बीच मेी अंकल बुआ को किस भी करते और उनके बूब्स भी दबाते और बुआ के बूब्स तो वो इतने बुरी तरह मसालते की बुआ की चीख निकल जाती आह धीरे… उहह….

वो मस्ती मेी मेरी बुआ को मसल रहा था और बुआ भी अपनी गंद उठा-उठा कर उनका साथ दे रही थी. इधर उन्न दोनो की चुदाई देख कर मेरा बुरा हाल होने लगा था. मेरा लंड दीवार से टच हो रहा था और वो मुझे एक अजीब से सिरहन देने लगा था. करीब 10 मिनिट बाद, वकील अंकल की स्पीड तेज़ हो गयी और उन्न दोनो की आवाज़े भी ज़ोर से निकालमे लगी थी और फिर एक हे झटके मेी वकील अंकल ने अपना वीर्या बुआ की छूट मे ईक्तर दिया और वो निढाल होकर बुआ पर गिर पड़े. बुआ ने भी अपने शेरर को ढीला चोर दिया और उनका शेरर भी निढाल हो गया.

आब तक मेी बहुत ज़यादा गरम हो चक्का था और मेरे हाथ मेरे लंड को बहुत ज़ोर्से मसल रहा था और एके क ज़ोरदार गरम पिचकारी के साथ मेरे लंड ने अपना पूरा माल दीवार पर चोर दिया. बुआ बेड पर पड़ी मेरी तरफ देख रही थी और उःनोने वकील से नज़रे बचा कर मुझे फ्लाइयिंग किस दे दी. आब मेरा पूरा माल निकल चक्का था और दीवार गंदी कर चक्का था. वकील उनको छोड़ने के बाद, उनको बाइ बोल कर चले गये. वो मेरे पास आई और बोली- देख, वकील अभी मुझे छोड़ कर गया है. तू और मेी चुदाई कभी और बाद मेी करेंगे.

और कहानिया   तीन छूट और एक लुंड वह क्या मज़ा आया

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *