औरत का चुत दनिया की सबसे डिमांडेड चीज़ है

फिर बलवीर ने अपना ८ इंच का सोंटा पूजा की चूत में घुसेड दिया…
बलवीर चौड़ा था और उसका लौड़ा..जैसे घोड़े का सामान था..
अब तक पूजा की चूत का भोसड़ा बन चूका था…और वो भी मजे से चुदवा रही थी…और कुछ कर भी तो नही सकती थी..
उसने भी पूजा के मुह में पानी भर दिया….

मल्लू की बारी आई तो उसने पूजा को लुंड चूसने के लिए कहा…और जैसे ही पूजा ने मुह में लंड लिया…उसके मुह में भरा वीर्य…मल्लू के लंड पर लिपट गया…अब वह और भी lubricate हो गया…इस बार उसने भी पूजा को सीधे की बजे कुतिया बनने को कहा…
और उसके पिछवाड़े से…चूत में अपना १० इंच का मोटा काला लंड घुसेड दिया…

वो चीख पड़ी…मररररर….गयी…..
बेड का हाल बता रहा था की क्या क्या नहीं सहा होगा उसने…

लखन उसके वीर्य से गिले चेहरे के पास आया और बाल खींचे हुए बोला…अभी नहीं जान…जब गांड फाड़ेंगे…तब जरूर ऐसा ही होगा…
गांड फटने के डर से पूजा सिहर गयी…इधर मल्लू अपना घोडा दौड़ा रहा था…उसने अपना पानी पूजा के गांड पर पानी उड़ेल दिया…

अब तक बाकि तीनो फिर तैयार हो गए थे…ये देख पूजा के सामने गांड के फटने के सीन दिखने लगे…उसने लखन से कहा…प्लीज मेरी गांड मत मारो…
चारो हंसने लगे…
पूजा ने कहा…चाहो तो मेरी चूत फिर मार लो पर गांड नहीं प्लीज…
चारो के चेहरे पर हिंसक हंसी थी…

उसने पूजा से पुछा राइ का तेल कहा है…
पूजा कुछ न बोली…

तभी लखन ने रहमान को इशारा किया…रहमान बहार निकला और किचेन की तरफ बड़ा…थोड़ी देर बाद वो…तेल का डिब्बा लिए खड़ा था…
पूजा समझ गयी की आज उसकी गांड की खैर नहीं…पर कर भी क्या सकती थी…
पूजा अभी भी चुदाई की मिसाल बनी बेड पर पड़ी थी…एकदम नंगी…मुह में जगह जगह सफ़ेद पानी लगा…

लखन ने बलवीर और मल्लू को इशारा किया…दोनों पूजा के सामने बैठ गए…दोनों हाथ पकड़ कर…एक हाथ मल्लू ने पकड़ा दूसरा बलवीर ने..
रहमान ने अलमारी पूजा की ब्रा उठाई और उसके मुह साफ किया…और वही ब्रा उसके मुह में घुसेड दिया…
पूजा समझ गयी की अब उसका क्या होने वाला है…
वो छटपटा रही थी…तभी उसने गांड के छेद पर तेल गिरना महसूस किया…
लखन ने ढेर सर तेल उसकी गांड पर लगा दिया था…
फिर पूजा को कुछ अन्दर जाते महसूस हुआ…वो लखन की ऊँगली थी…दो मिनट तक वो ऊँगली और तेल का टपका घुसेड़ता रहा…

और कहानिया   ये कॉलेज में पढाई नहीं चुदाई होती है

और फिर अपने लंड पर भी तेल लगाया और पूजा की गांड के छेद पर लंड रख दिया…
पूजा की आँखे बड़ी हो गयी..और वो गुं..गुं..गुं…करती रही…
तभी उसकी आँखों के सामने अँधेरा छाने लगा…लखन ने लंड को गांड में घुसेड दिया था…
गूँन्न्न्नन्न…..उन्नन…
और गांड का पिटारा खुल गया पूजा का….करीब ५ मिनट तक वो तड़पती रही फिर वो भी शांत हो गयी…

पूजा से मैंने जब भी गांड देने की बात कही..वो मना कर जाती थी…पर आज उसकी कमसिन मोटी गांड का गांड भोसड़ा बनने वाला था…
थोड़ी देर में उसे लगा की जान में जान आई जब…लखन ने लंड गांड में से निकाला…पर तभी उसे और तेल गिरना महसूस हुआ गांड पर…
फिर लंड अन्दर घुसा…और इस बार बिना ज्यादा दर्द के पूजा पूरा लंड गांड में समेत ले गयी…
उसकी मोटी गांड चुद रही थी…
हर बार लंड बाहर जाता…तेल गिरता…फिर गांड में लंड घुस जाता…
करीब घंटे भर सभी ने उसके गांड को कई बार चोदा…इस बार सभी ने गांड में ही वीर्य उलेड दिया..जिस से चिकनाई और बढ़ गयी…मल्लू ने भी गांड और चूत दोनों का एक साथ मजा लिया…कभी चूत में तो कभी गांड में…
पूजा निढाल हो गयी थी…पर चुद रही थी…

करीद २ बजे चारो ने पूजा से 2 घंटे की चुदाई के बाद…राहत ली…
पूजा बेड पर नंगी फटी गांड और चूत लिए पड़ी रही….और चारो…अपना काम करके चलते बने…
तभी बच्चे की आवाज़ उसने सुनी..अपना दर्द भूल कर उठी..और कपडे पहनने लगी…
उसके चेहरे पर बेड पर तेल और वीर्य गिरे पड़े थे…
वो सोच नहीं पा रही थी क्या करे…
फिर उसने बच्चे को दूध दिया और नहाने चली गयी…उसका बदन टूट रहा था..

शाम को मैं आया तो पूजा एकदम शांत थी..मैंने पुछा क्या हुआ…उसने ना में सर हिलाया और किचेन में चली गयी…
आज मेरा मूड उसे चोदने का कर रहा था..पर उसकी हालत देख लगा बीमार हो गयी होगी नया माहौल है…कल चोदेंगे…और चुपचाप सो गया..
ऐसा तीन चार दिन तक हुआ..मैं पूछता रहा वो छुपाती रही…

और कहानिया   कामवाली को सेक्स का ट्रेनिंग दिया

फिर वो भी नोर्मल हो गयी…पर अब भी वो कुछ छुपा रही थी…
एक और महिना बीत गया…एक दिन..ऑफिस जाते मेरे पडोसी ने मुझे टोका…शर्मा जी कैसे हैं..
मैंने कहा ठीक..आप कैसे है..
उसने कहा…मेरी छोडिये..सुना है आपके जाने के बाद काफी बैठके होती है आपके घर पर…
मैं सन्न रह गया…मैंने कहा मतलब…तो उसने मुझे शोर्ट में उन चारो के बारे में बताया…जो मेरे पीछे घर पर आते थे..
अब कहे की ऑफिस और क्या…मैंने उस से कुछ नहीं कहा..और आगे बढ़ गया…

१ घंटे बाद…मैंने वापस दूसरे रस्ते घर की तरफ का रुख किया…मैंने बिना बेल दबाये…घर के पिछवाड़े से ऊपर चढ़ कर जाना ठीक समझा…
पीछे इंटो की तह राखी थी..सायद किसी ने घर बनवाने के लिए लायी थी..उसकी hight करीब ६ feet थी..
किसी तरह ऊपर चढ़ा और जीने के रस्ते निचे की तरफ आने लगा…तभी मुझे बात करने और हंसने की आवाज़ सुनाई दी…
ये तो पूजा की आवाज़ थी..मैंने ध्यान दिया तो उसमे मर्दों की आवाज़ भी थी..तभी एक आवाज़ आई क्या करते हो…ईईए…

अब मेरा सब्र जवाब दे रहा था..फिर भी मैं धीरे से निचे उतरा…कमरे की खिड़की से देखा..तो आँखे फटी रह गयी..
पूजा एकदम नंगी लेटी चारो के बीच में मजे से बबले और चूत चुसवा रही थी…
मल्लू पूजा की चूत चाटने में लगा था…
करीब आधे घंटे तक उनका रस और दूध पान चलता रहा…फिर चुदाई शुरू हुई…चूत चुद रही थी बीवी की और मैं देख रहा था…
तभी पूजा ने रहमान से कहा..बच्चो को देख लो जगे तो नहीं है..और किचेन से तेल भी लेते आना…

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *