बीवी की दो पक्की सहेली की धमाके दार चुदाई 1

लगातार जोर जोर से में उसकी चुत चाट ता ओर वो मेरे लंड को फिर वो बोली अब जल्दी चोद मुजे वो नीचे आ गई और उसके दोनों टांग छोड़ी करके में अपना लंड उसकी चुत पे ऊपर से नीचे तक बहुत बार धीसा ओर फिर एक ही बार मे पूरा लुंड जोर से डाल दिया किंजल की चूत में वो जोर जोर से चीख ने लगी में भी हरामी की तरह उसे चोद ने लगा । और करीब करीब हर धक्के पूरा लंड निकल निकल के डालता तो उसे ज्यादा दर्द होता था मुजे ये मजा आता रफ़ चुदाई करने में फिर जो जोर जोर से सिसकारियां लेती रहती थी पूरे घर मे उसकी सिसकारियां की आवाज आती थी। कभी बीच बीच मे बाते करता वो बोल ती जी करता है। पुरी लाइफ तेरा ये लंड चुत में डाल के राखु में बीच बिच में चुदाई करते करते उस की चुत चाट त ओर फिर जोरो से चोदता करीब एक 30 मिनट चुदाई कर के वो पानी निकाल दिया उसका ओर साथ मे मेभी उसकी चुत में जड़ गया उस टाइम वो इतनी संतुष्ट थी कि वो प्यार से रोने लगी बोली।
तूने मुझे जिंदगी का वो अहसास दिया जो कभी उसकी हकदार नही थी में। फिर लुंड निकाला और उसकी चुत की पे एक किस दी वो बोली ये क्यों किया ।
मेने कहा मुजे खुश किया ये तेरी मुनिया ने इस लिए। वो बोली डाल के लेटे रहो ऊपर अंदर अच्छा लगता है । थोड़ी देर लंड चुत में डाल कर सो गए वो बो फिर उस को वपिश जाना था घर वो बोली में निकलू मेने बोलै तू वैसे बी यहां रुकने वाली थी तो रुक जा तू घर पे बोला ही है कि रुकने वाली हु तो वो
वो रुक गई और जब में ने खिच के लैंड निकल तो उसकी चुत में दर्द हो रहा था। मेने प्यार से बोला उसकी चुत को चाट त हु ताकि थोड़ी राहत मिल फिर उसकी टांगे छोड़ी कर के चूत चाट ने लगा ओर थोड़ी देर में वो मेरे मुह पे चुत रख कर बैठाया ओर चुत को चाट ने लगा। उस टाइम उस ने उस का पति का कॉल आया वो बात कर ने लगी और साथ मे मेरे लुंड से खेल ने लगी । वो मुजे से रगड़ रगड़ के चुत चट वा रही थी । किंजल की बात लंबी चली फिर वो 69 पे हो गई और मे उसकी चुत चाट में तल्लीन था वो फ़ोन स्पीकर कर के मेरे लंड को चाट ते चाट ते बाते कर ने लगी तभी वो भी उठी और पूरा लंड चुत में दाल के उपर बेठ गई और धीरे से उसके मुह मेसे सिसकारी निकल गई। वो बहुत प्यार से उसके पति से बात करते करते मेरे लंड को अंदर बाहर करती थी फिर जैसे उसका फ़ोन रखा की मेने खिच के नीचे किया और पूरी टांगे छोड़ी की ओर पूरे रफ्तार से उसकी चुत में लंड डाला और वो बच्चेदानी पे लग रहा था। वो अपने नाखून मुजे चुबोती पीठ तो कभी जोरसे मेरी कमर को खिच के स्पीड बाद ति लेकिन । उसको चोदते वक्त उसके मुह के हाव भाव बहुत मस्त लगता था कभी आँखे छोड़ी तो कभी आँखे नाशिली बनाती में उसे लगातार एक ही स्पीड पे उसकी आंखों में देख के चोदता वो सिर्फ और कुछ भी नही बोल ती । लगातार चुदाई से वो जड ने करीब थी और फिर से जड़ गई लेकिन ये क्या
इस बार जड़ ने के टाइम वो भी जोरो से चुत हिला हिला के लंड को धक्का मारे जाती थी। और मेभी जोरसे धकके मरता इतनी रफ्तार से दोनों एक साथ मे जड़ गए वो बोली हिल न मत प्लीज् वो मेरे लंड से निकले एक एक बूंद चुत ने पी लिया और वो मुजे रुकाके मतलब लंड नही निकल ने दिया। वो पानी को मेरे लंड की गर्मी को महसूस कर रही थी थोड़ी देर ओर वो चुत को दबा दबा के लंड को निचोड़ रही थी। करिब 20 मिनिट के बाद उपरसे उठा और फिर से उसे टीवी देखने लगे उस टाइम उसकी चुत में उंगली गुमा रहा था में वो सिर्फ मुजे प्यार से देखे जा रहीथी। उसको तीसरी बार गरम किया लेकिन वो बोली पूरी रात तुमारे साथ ही हु जी भरके चोदना मुझे । हम दोनो ने खाना खाया जो में बहारसे लाया था । फिर उसको सिर्फ टॉवल लपेटा था वोभी खाने के वक्त डैनिग टेबल पर चेयर में मेरी गोदी में बैठ के खाना खाया उस वक्त उसकी जांगो को सही लाता उसकी वो सिर्फ प्यारी सी नाशिली आँखे कर के स्माइल पास करती ।

और कहानिया   निशा भाभी की जाम के चुदाई की

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *