किस्मत हो तो ऐसा – बीवी और सहेली की सात में चुदाई

फिर मैंने कहा मुझे पेशाब करनी है तब पूजा ने कहा हाँ मुझे भी लगी है चल साथ में करते हैं, हम दोनों साथ गये पेशाब करने , पहले मैंने पेशाब किया बाद में पूजा पेशाब करने लगी तब मैं थोड़ा दूर हो गया था, तब कहा अमित ज़रा इधर आना मैं पूजा के पास गया तो उसने मेरा सर पकड़ कर उस पर पेशाब करने लगी, मैंने कहा यह क्या कर रही हो, उसने बोला मुझे ऐसा करने में मज़ा आता है, फिर वो जबर जस्ती मुझे अपनी पेशाब चटवाई, और कहा अमित क्या तुम्हें और पेशाब लगी है, मैंने कहा नहीं मैंने अभी तुम्हारे सामने की है, वो बोली नहीं देखो मैं क्या करती हूं तुम पेशाब करने का ज़ोर करो मैं तुम्हारा लंड चूसती हूं कभी आ जाए तो, मैंने ज़ोर लगाया और उसने इतनी ज़ोर से मेरे लंड को चूसा कि मेरे लंड में से थोड़ा पेशाब आ गया और कहने लगी कि वाह क्या पेशाब पीने का मज़ा आया, और फिर मैं अपने लंड को धोके बाहर आ गया

भाभी ने और पूजा ने मेरे को फिर से बेड पर लेटा दिया. और एक तरफ भाभी और एक तरफ पूजा थी और भाभी ने कहा अमित आज हम लोग चाह रहे है कि तेरा चोदन कर दें, पर तू इतना अच्छा है कि हम को यह नहीं करना चाहिए, और फिर वो दोनों मुझसे किस करने लगे और पूजा मेरा लंड चूसने लगी, और भाभी ने थोड़ा और ऊपर आके उसके बूब्स को चुसवाने लगी, और पूरा का पूरा वजन मुझ पर डाल दिया, यह काम भाभी का चालू था और ,पूजा पूरी गर्म हो कि वो फिर से मेरे लंड पर चढ़ बैठी और ज़ोर ज़ोर से मेरे लंड और पूरे शरीर को हिलाने लगी , और उसने लग भग 35 मिनट तक करती रही और वो भाभी को कहने लगी कि मेरी चूत 4 बार पानी छोड़ दिया है, और फिर मैंने कहा अरे अब बस करो मेरा लंड दर्द कर रहा है, पर वो लोग इतने जोश में आ गये थे कि मेरी बात नहीं सुन रहे थे, तब फिर भाभी ने कहा मुझे करने दो, पर पूजा नहीं मान रही थी और कहने लगी नहीं जब तक अमित दूसरी बार पानी नहीं छोड़ेगा, तब तक मैं करती रहूंगी, और वो पूरी होश के बाहर चली गयी थी.

और आख़िर थोड़ी देर बाद वो मेरे लंड को बाहर निकाला और फिर चूसने लगी और कहने लगी अमित अपना लंड को मत बैठाओ मुझे मज़े लेने दो, फिर ज़ोर ज़ोर से लंड को खड़ा किया और फिर अपनी चूत में डाल दिया जब वो मेरा लंड अंदर डाला तो मेरे लंड को दर्द देने लगा अरे पूजा मेरे लंड को निकाल दो, मुझे बहुत दर्द हो रहा है, पर पूजा ने यह भी बात नहीं मानी और ज़ोर ज़ोर से मज़े लेने लगी, और काफ़ी देर बाद मेरा लंड पानी छोड़ दिया पूजा की चूत में, मैं और पूजा थोड़ी देर तब एक दूसरे को लिपट कर पड़े रहे, मेरे तो होश ही उड़ गये थे तब, मुझे तब नींद आ गयी थी।

और कहानिया   मेरे सामने की नौकर ने मेरी माँ का बलात्कार

थोड़ी देर के बाद दोनों को और करने की इच्छा हुई, तब उन दोनों सोचा कि अब अमित अपने को नहीं करने देगा और मैं तब सो गया था, जब मेरी नींद खूली तब वो लोग मेरे हाथ और पाव बाँध दिये थे , और फिर वो लोग कहने लगे अमित एक बार और हमें करना है, और इस टाइम हम अपनी गांड मरवाना चाहते है, मैंने उनको रिक्वेस्ट किया कि नहीं प्लीज़ अभी नहीं मेरा लंड बहुत दर्द कर रहा है, और तुम्हारी गांड तो कितनी बड़ी है उसे मैं नहीं झेल सकता, पर पूजा कहने लगी नहीं, हमको तुझे करना ही होगा नहीं तो हम जबर जस्ती में आ जाएगे, मैंने कहा मेरे हाथ पाँव तो खोल दो, पर कहने लगे कि इस टाइम हम गांड वाले है, इसलिए तुझे दर्द कुछ ज़्यादा ही होगा, और हमें भी दर्द होगा इसलिए तुम नहीं करने देगा हमें , इसलिए तुझे बाँधे हुए है, और उसने कहा अब तुम चिंता मत करो थोड़ा मेरे पास जेली क्रीम है वो लगा के करेंगे तब कुछ नहीं होगा.

फिर से दोनों जन मुझ पर सवार हो गये, और पूजा ने कहा पुष्पा भाभी पहले तुम चालू हो जाओ, बाद में मैं करूँगी, और बाद में मेरे लंड के ऊपर क्रीम डाली और मेरे लंड को ऐसा झटका लगा कि मेरी हवा ही निकल गयी, क्योंकि वो क्रीम में एल्कोहल होता है इसे पहले थोड़ा दर्द हुआ मेरे लंड को, फिर पूजा ने पुष्पा भाभी की गांड में क्रीम लगाया, और करने की पोजिशन में आ गई, पर लंड अंदर नहीं जा रहा है. तब पुष्पा भाभी ने कहा पूजा लंड अंदर नहीं जा रहा है, तब पूजा ने मेरा लंड पकड़ा और भाभी की गांड में डाला तब भी बहुत टाइट जा रहा था, तब पूजा ने भाभी की गांड को अपनी ऊँगली से थोड़ा अंदर बाहर करने लगी, फिर दो ऊँगली डाली फिर तीन ऊँगली डाली तब देखा कि पुष्पा भाभी की गांड का छेद थोड़ा खुल गया था. तब फिर मेरा लंड लेकर पुष्पा भाभी की गांड में डाला तब मेरा लंड बस 2 इंच ही जा रहा था, और मैं चिल्ला रहा था- भाभी बस अब बस, तब पूजा ने मेरे मुँह पर उसका मुँह रख दिया और उसकी साँस मेरे मुँह के अंदर आ रही थी और मेरी आवाज़ कम सुनाई देने लगी, पर उसे तो और जोश आ रहा था, वो और भी ज़ोर ज़ोर से मुझसे अपनी गांड मरवाने लगी, और मेरे होश उड़ने लगे थे, फिर भाभी थोड़ी देर
बाद थकने लगी, तब पूजा बोली अरे पुष्पा तुझमें तो कुछ दम ही नहीं है, हट अभी मुझे गांड मरवाने दे, भाभी थक गयी थी इस लिए वो हट गयी.

फिर पूजा ने कहा- अब पुष्पा तू लेट जा!
पुष्पा लेट गयी, फिर उसके ऊपर मुझे लेटाया, मैं पुष्पा के ऊपर था. फिर मेरे ऊपर पूजा चढ़ गयी और मेरा लंड पकड़ कर अपनी गांड में डालने लगी पर पूजा ने क्रीम नहीं लगाई थी, इसलिए फिर उतर कर क्रीम लेके अपनी गांड में लगाई, फिर चढ़ी और मेरे लंड को अपने हाथ से अपनी गांड में डालने लगी पर नहीं जा रहा था
मैंने कहा- नहीं जा रहा है तो अब उतर जाओ, बस हो गया.
पूजा ने कहा यह मैं करके रहूंगी, तब पूजा ने कहा पुष्पा नीचे से हाथ डाल और अमित का लंड मेरी गांड में डाल, तब पुष्पा ने नीचे से हाथ डाल कर मेरे लंड को पकड़ के पूजा की गांड में डालना चाहा पर टाइट हो रहा है.

और कहानिया   पडोसी पूनम आंटी की चुदाई

तब पूजा ने कहा- अमित के लंड को मेरे गांड के होल के सामने कर मैं ज़ोर से झटका देती हूं.
जब पूजा ने ऐसा झटका दिया कि पूरा लंड पूजा की गांड में चला गया.

बाद में कहने लगी- अमित अब तू तो गया!
मैं तो इसकी बात सुन कर घबरा गया, मैंने कहा- पूजा ऐसा मत करो मैंने मेरा लंड छिल जाएगा.
पर वो बोली- अमित हम दोनों को तेरा यह लंड अच्छा लगा है इसलिए इसको हम इतनी आसानी के साथ कैसे छोड़ सकती हैं?
फिर पुष्पा भाभी नीचे से मेरी गांड के होल में अपनी ऊँगली डाल रही थी उसने मेरी गांड में उसकी बीच की ऊँगली पूरी की पूरी डाल दी, फिर पूजा भी गांड मरवाते मरवाते थक गयी, फिर उसने नेपकिन पेपर लिया और मेरे लंड को साफ किया, फिर उसने मुँह से में मेरे सुपारे को चाटने लगी

और नीचे से पुष्पा भी ऊपर आ गयी, और मुझे लिटा के पुष्पा ने मेरे सर पर उसकी चूत रख दी और ज़ोर ज़ोर से मेरे मुँह से रगड़ने लगी, और कहने लगी- इसको चूसो अमित!
और पुष्पा की चूत का पानी मेरे मुँह और गाल से भर गया, मैंने कहा- पुष्पा, तुम्हारे चूत का पानी बहुत ही बाहर आ रहा है.
पर उसने बोला कि बस थोड़ी देर और मैं झड़ने वाली हूं, फिर मेरे हाथ की ऊँगली को लेके पुष्पा अपनी गांड में डालने लगी और नीचे मेरे लंड चूसने का पूजा मज़ा ले रही थी, वो थूक लगा के मेरे लंड को चूस रही थी, और बस अचानक मेरे लंड का पानी पूजा के मूह में छूट गया, और मैं ठंडा पड़ने लगा पर पुष्पा अभी तक नहीं झड़ी थी, और मेरे 3 मिनट के बाद वो झड़ गयी और मेरा मुँह को पूरा भर दिया था

फिर मैंने कहा- बस अब नहीं!
पर वो लोग कहा अब तुम्हें इसी तरह कभी कभार आना पड़ेगा, मैंने न कह दिया अब अपना सेक्स इतने ही तक है पर वो दोनों नहीं माने कहने लगे कि अगर हम बुलाए और तुम नहीं आए तो, तुम्हारे और हमारे बीच जो हुआ है वो सब को बता देंगे.
मैंने कहा- यह तो ब्लॅक मैल है.
तब पूजा ने कहा यह ब्लॅक मैल नहीं यह तो हमारी चूत का नशा हे तुम्हारे कुंवारे लंड का मज़ा लेने के लिए और वो दोनों हँसने लगी और इस तरह जब दोनों मुझे बुलाती है तब मुझे जाना पड़ता है और भाभी और पूजा अपनी मज़े लेने लगती है। तो मेरे इंडिया के भाभी और आंटी तुम्हारी क्या राय है मुझे कैसे इनसे छुड़ा सकते है.

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *