जन्नत की सैर भाई के लुंड के ऊपर

हैलो फ्रेंड्स मेरा नाम राजुल है और में 21 साल की हूँ। मै नाईटडिअर की कहानी बहुत दिनों से पढ़ रही हूँ !! मुझे इसके बारे में अपनी फ्रेंड से पता चला !! दोस्तों मेरे घर पर कुल 5 सदस्य रहते है मम्मी, पापा, में, मेरी एक बहन और मेरा भाई और मेरा भाई 19 साल और बहन 18 साल की है, वो दिखने मे बहुत सेक्सी है। उसके भी बहुत चाहने वाले है। दोस्तों में दिखने मे बहुत खूबसूरत हूँ और मेरी बहन भी बहुत खूबसूरत है, मेरी हाईट 5’4 इंच है और मेरा रंग गोरा है। मेरे बूब्स बहुत बड़े और बड़ी गांड है। मेरी साईज 32-34-36 है। मेरे कॉलेज मे मुझे सारे लड़के लाईन मारते है और मुझे देखकर अपने लंड को हिला हिला कर पानी निकालते है। मेरे बॉयफ्रेंड का नाम रमेश है। मेरे भाई का नाम राजीव है और बहन का नाम श्वेता है।

दोस्तों ये उस समय की बात है जब मेरे मम्मी – पापा मामाजी के यहाँ पर किसी काम से गये हुए थे। तो वहाँ पर माँ को एक दिन अचानक एक बाइक ने टक्कर मार दी इसलिए माँ को वहाँ पर ही रुकना पड़ा साथ मे पापा भी रुक गये। अब में घर पर बिल्कुल फ्री थी। मुझे कोई रोकने वाला नहीं था। अब में अपने बॉयफ्रेंड से मिलने जब मर्जी हो तब जा सकती थी। फिर एक दिन की बात है, में अपने बॉयफ्रेंड के साथ फिल्म देखने गयी थी। फिल्म देखने के बाद हमारा चुदाई का प्लान था वैसे में कई बार उससे चुदवा चुकी थी।

फिर में जिस दिन से मम्मी – पापा गये थे उससे रोज चुदवाती थी। कभी उसके घर तो कभी मेरे घर पर जब मेरे भाई और बहन स्कूल जाते थे तो ठुकवा लेती थी। तभी एक दिन की बात है। मेरा भाई और बहन स्कूल गये हुए थे। तभी मैंने अपने बॉयफ्रेंड को घर पर बुला लिया और फिर कुछ देर बाद वो आ गया और हम साथ मे बैठकर बात करने लगे। फिर धीरे धीरे हमने अपने पूरे कपड़े खोल दिए और वो मुझे किस करने लगा फिर कुछ देर बाद उसने मुझे चोदना शुरू किया और फिर वो मुझे जोर जोर से चोदता रहा में भी पड़ी पड़ी अपने दोनों हाथो से कभी बूब्स कभी चूत को सहला कर चुदाई के मजे मे मस्त थी। मेरे मुहं से सिसकियां निकल रही थी में अहाहाहहाहै ऊऊहैहा रमेश और ज़ोर से चोदो मुझे और ज़ोर से फक मी फक मी कर रही थी। लेकिन मुझे पता ही नहीं चला कि कब मेरा भाई और बहन स्कूल से आ गये और वो मुझे चुदते हुए खिड़की से देख रहे थे।

और कहानिया   छोटे भाई का मोटा लुंड ने मिटाया मेरा हवस

अब रमेश मुझे जोर से पूरे जोश से चोदे जा रहा था कि तभी उसने अपना सारा वीर्य मेरी चूत मे ही छोड़ दिया और फिर उसने जल्दी से कपड़े पहने और मैंने उससे कहा कि अब तुम जल्दी से जाओ मेरे भाई बहन स्कूल से आते ही होंगे। तो फिर वो चला गया। तभी उसे जाता देख मेरे भाई बहन छुप गये थे ताकि रमेश को पता ना चले कि वो हमारी चुदाई देख रहे थे। अब मे नंगी ही पड़ी थी और बाथरूम मे चली गयी और अपनी चूत की सफाई करने लगी।

शाम को जब हम सभी एक साथ बैठकर ख़ान खा रहे थे। तभी मेरी बहन मुझसे बोली कि दीदी आज दिन मे घर पर कौन आया था? तो मैंने कहा कि कोई नहीं लेकिन तुम ऐसा क्यों पूछ रही हो? तो उसने कहा कि बस ऐसे ही पूछ रही हूँ। तभी राजीव ने कहा कि दीदी आज दिन मे यहाँ पर जो कुछ भी हुआ है हमने अपनी आँखो से सब कुछ देखा है। तभी में हड़बड़ा गयी और कहने लगी कि क्या क्या क्या देखा तुम दोनों ने तो श्वेता बोली दीदी ज़्यादा बनो मत हमने सब देखा कि कैसे आप और वो लड़का सेक्स कर रहे थे।

अब में बहुत घबरा गयी और कहने लगी कि प्लीज़ किसी को बताना मत, तो वो बोली कि हम तो माँ को सब कुछ बताएँगे तो में उनके हाथ जोड़ने लगी कि प्लीज़ मत बताना में तुम जो बोलोगे वो करूँगी। तभी मेरा भाई बोला कि में तुम्हे और श्वेता को एक साथ चोदना चाहता हूँ। श्वेता तो पहले से ही राज़ी है लेकिन आप हमे परमिशन दो और तुम्हे भी चुदना होगा। मैंने पहले तो नाटक किया फिर मान गयी। दोस्तों ये कहानी आप नाईटडिअर डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर खाना खाने के बाद मे श्वेता और राजीव मेरे रूम मे आ गये और श्वेता ने राजीव के कपड़े और मेरे कपड़े खोल दिए और अपने खुद के भी। फिर राजीव मुझे किस करने लगा और श्वेता मेरी चूत चाट रही थी। अब मुझे बहुत मजा आ रहा था। मेरा भाई मेरे बूब्स दबा रहा था और उन्हे जोर जोर से चूस रहा था। मेरा भाई का लंड बहुत बड़ा था करीब 7 इंच का होगा और 2 इंच मोटा था। मेरे बॉयफ्रेंड रमेश का लंड इससे थोड़ा छोटा था।

और कहानिया   बारिश मे भीगी हुई दीदी को चोद

तभी राजीव मेरे घुटनो पर आया और मेरी चूत मे अपना लंड डालने लगा और उसने अपना पूरा लंड जोर लगा कर डाल दिया मुझे ज़्यादा दर्द नहीं हुआ क्योंकि मेरी चूत पहले से ही पूरी खुली थी क्योंकि में रोज रमेश से चुदवाती थी। फिर राजीव मुझे ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा। तभी वो एकदम से स्पीड बड़ा कर चोदने लगा और जोर के धक्को पे धक्के दिये जा रहा था कि अब हम तीनो के साथ साथ बेड भी पूरा हिलने लगा था। शायद आज वो टूटने वाला था। श्वेता मेरे बूब्स दबा रही थी और किस कर रही थी। फिर 15 मिनट बाद राजीव ने अपना सारा वीर्य मेरी चूत मे ही छोड़ दिया और मेरे ऊपर ही लेट गया इस दौरान में तीन बार झड़ चुकी थी। अब श्वेता ने राजीव का लंड अपने मुहं मे लेकर फिर से लंड को खड़ा कर दिया और फिर श्वेता उसके ऊपर आ गयी और अपनी चूत मे उसका लंड फिट करके लंड के ऊपर बैठ गयी और ऊपर नीचे होने लगी इससे मुझे पता चला कि श्वेता भी पहले कई बार चुद चुकी है। तभी तो उसने इतनी आसानी से चूत मे लंड घुसा लिया। कुछ देर तक वो ऐसे ही चुदती रही और फिर राजीव उसके ऊपर आ गया और उसे पूरा जोर लगाकर चोदने लगा। अब राजीव श्वेता की कमर को पकड़कर जोर जोर के धक्के देने लगा और श्वेता सिसकियां लेने और कहने लगी चोदो मुझे और जोर से, तभी कुछ देर बार राजीव उसकी चूत मे ही झड़ गया और श्वेता भी दो बार झड़ चुकी थी।

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares