तनहा भाभी और मेरा चुदक्कड लंड

हाय फ्रेंड्स, मेरा नाम तरुण है और मैं जयपुर का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 24 साल है और मैं प्राइवेट जॉब करता हूँ | मैं दिखने में सावला हूँ पर मेरा फेस कट अच्छा है | मेरी हाईट 5 फुट 10 इंच है और मेरे लंड का साइज़ 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है | मैं चुदाई की कहानी का दैनिक पाठक हूँ और मुझे चुदाई की कहानियाँ पढने में बहुत मजा आता है क्यूंकि इसमें कई सारी कहानियाँ सच्ची होती हैं | मुझे चुदाई की कहानियाँ पढ़ कर उत्तेजना महसूस होती हैं वो ब्लू फिल्म देखने में नहीं होती | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करता हूँ की आप सभी को मेरी कहानी पसंद आयगी और मरी कहानी पढ़ कर आप लोगो को बहुत मजा भी आयगा | तो अब मैं आप लोगो का अब ज्यादा समय ना लेते हुए सीधा कहानी में आता हूँ |

दोस्तों, मेरे घर मैं हूँ | मेरे अलावा मम्मी पापा हैं और मेरा एक बड़ा भाई है जो की सरकारी नौकरी करता है | मेरे पापा भी सरकारी नौकरी में हैं ऑफिसर पोस्ट पर हैं | हमारी एक सुखद और मिडिल काल्स फॅमिली है और हम लोग बहुत ख़ुशी ख़ुशी से अपनी लाइफ जीते हैं | एक दिन मैं ऑफिस गया हुआ था और पापा ने उस दिन ऑफिस से छुट्टी लिए थे | जब मैं घर वापस गया तो देखा की सामने बहुत सारी गिट्टी, रेत, ईंट रोड् पर रखी हुई थी | मैंने घर जा कर पुछा तो पापा ने बताया की ऊपर कमरे बनवा रहें है और वो कमरे किराये से देंगे | मैंने भी कहा ठीक है | उसके बाद अगले दिन से ही काम शुरू हो गया | कुछ महीने में काम पूरा हो गया | कुछ दिन बाद से ही एक परिवार आया उसमे सुनील भैया और उनकी वाइफ रजनी और एक उनकी एक बेटी है जो की प्राइमरी कक्षा में पढाई करती है | वो पापा से बात कर के उनलोग रहने लगे अगले दिन से सामान शिफ्ट कर के | भैया भाभी का नेचर बहुत प्यारा है और वो और हमारी फॅमिली कुछ दिन में ही बहुत जल्दी घुल मिल गए |

अब कभी कुछ फंक्शन होता तो मम्मी को भी भाभी का साथ मिल जाता अगर जैसे मोहल्ले में लेडीज का फंक्शन होता तो | रजनी भाभी के बारे में बात की जाये तो रजनी भाभी बहुत गोरी हैं और उनका फिगर भरा हुआ है | उनके दूध 36 के हैं और कमर 38 की और बड़ी गोल गांड जिसका साइज़ 42 है | उनकी हाईट भी 5 फुट 8 इंच है | इतनी सेक्सी लगती हैं भाभी कि किसी को मिल जाये तो वो बिना चोदे उनको छोड़ेगा नहीं | मैं काफी दिन से भाभी को नोटिस कर रहा था की भाभी मुझसे बात करना चाहती हैं पर मेरी और उनकी बहुत कम ही बात होती जिस वजह से वो थोडा संकोच करती थी बात करने में | एक दिन की बात है मेरे मम्मी पापा और भैया रिलेशन में गये हुए थे कुछ दिन के लिए | मैं जाना नही चाहता था इसलिए मैं नहीं गया | मम्मी ने भाभी से कह दिया था कि तीन दिन की बात है इसके लिए खाने का बंदोबस्त कर दिया करना | भाभी ने भी हामी भर दी और कहा की आंटी आप बिलकुल चिंता मत करना मैं खाना बना दिया करुँगी इसके लिए भी | फिर अगले दिन घर वाले चले गए उनकी सुबह की ट्रेन थी | उसके बाद करीब सुबह 9 बजे भाभी मेरे रूम में आई | भैया 8 बजे अपनी जॉब पर चले गये और उनकी बेटी स्कूल चली गई | मैं और भाभी ही घर में अकेले थे बस | भाभी मेरे रूम मुझे उठाने आई | मेरी एक आदत है मैं चड्डी में ही सोता हूँ | मैं उस समय जग चूका था पर उठने का मन नहीं कर रहा था |

और कहानिया   बीवी की अनोखी दास्तान part 2

मैंने देखा कि भाभी मेरी चड्डी में बने तम्बू को गौर से देख रही थी | मैं समझ गया था की भाभी को मेरा लंड पसंद आ गया इसलिए वो देख रही थी | मैं थोड़ी सी आँख खोल कर सब देख रहा था | फिर भाभी मेरे बेड पर बैठ गई और मेरे लंड पर हाँथ फिराने लगी | जिससे मेरा लंड एक दम कड़क हो गया उनके छुअन से | फिर भाभी ने जब मेरे लंड को बाहर निकाला तो उनकी आँखे फटे रह गई और मुंह खुला रह गया | मैं समझ गया की भाभी के पति का लंड मेरे लंड से छोटा है | भाभी मेरे लंड को ऊपर नीचे करते हुए हिलाने लगी | मैं तुरंत उठा गया और मैंने उनसे पुछा कि भाभी आप ये क्या कर रहे हो ? तो उन्होंने कहा की मुझे माफ़ कर दो | मैं तुम्हे उठाने आई थी पर जब मैंने तुम्हे ऐसी हालत में देखा तो थोडा सा बहक गई | मैंने भाभी से कहा की ठीक है भाभी कोई बात नहीं अब हम दोनों साथ में बहकते हैं | भाभी ने पूछा मतलब ? तो मैंने सीधा उनके होंठ में अपने होंठ रख दिए और उनके होंठ को चूसने लगा | भाभी तो उतीजित थी मेरा लंड लेने को तो वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसने लगी | उसके बाद मैंने भाभी के गाउन को उतार दिया |
भाभी ने अन्दर ब्रा नही पहने थी जिससे दूध मेरे आँखों के सामने आ गये | मैंने उनके दूध को अपने हाँथ में
ले कर मुंह में लगा कर चूसने लगा तो भाभी के मुंह से आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह की सिस्कारिया निकलने लगी | मैं भाभी के दूध को जोर जोर से मसलते हुए चूस रहा था और साथ में निप्पलस भी होंठ में दबा कर चूस रहा था और वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए मेरे सर पर हाँथ फेर रही थी |

और कहानिया   पटना मे की भाभी की चुदाई

उसके बाद भाभी ने मेरे अंडरवियर को उतार दी और मेरे लंड को चाटने लगी तो मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए उनके निप्पलस को खींचने लगा | फिर भाभी ने मेरे लंड को अपने मुंह में ली और चूसने लगी ऊपर नीचे करते हुए और मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए उनके मुंह को चोदने लगा | फिर मैंने भाभी की पेंटी को उतार कर बिस्तर पर लेटा दिया और उनके टाँगे फैला कर उनकी छूट को चाटने लगा तो भाभी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए मेरे मुंह को अपनी चूत पर दबाने लगी |

फिर मैंने कुछ देर तक भाभी की चूत को ऊँगली से चोदा | उसके बाद मैंने भाभी की छूट में अपना लंड डाला और चोदने लगा तो भाभी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए सिस्कारिया लेने लगी | फिर मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से शॉट मारते हुए चोदने लगा तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए चुदाई में साथ देने लगी | फिर मैंने भाभी को कुतिया बनाया और पीछे से चोदने लगा तो भाभी भी अपनी गांड आगे पीछे करते उए चुदवा रही थी और आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह की सिस्कारिया ले रही थी | करीब 20 मिनट के बाद मैंने उनके मुंह में अपना माल निकाल दिया |

Leave a Reply

Your email address will not be published.