पडोसी भाभी की झांटो में फस्स गया

उसके दूध पीने के बाद मैंने उसे पूरी नंगी कर दिया और खुद भी नंगा हो गया | अब मैं उसकी टाँगे फैला कर उसकी चूत पर अपनी जीभ रख दिया | पर बहनचोद उसकी चूत पूरी झांटो से भरी थी | मैंने उससे कहा कि क्या तुम अपनी चूत के बाल नहीं बनाती ? तो उसने कहा कि बनाती हूँ पर काफ़ी दिनों से नहीं बनाये |

फिर मैं उसकी झांटो को अलग कर के उसकी चूत को चाटने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे सिर को अपनी चूत पर दबाने लगी | वैसे उसकी चूत थी मस्त मोटी थी | जिसको चाटने में मुझे मजा आ रहा था |

कुछ देर उसकी चूत चाटने के बाद मैंने अपना लंड उसकी चूत पर टिकाया और जैसे ही मेरे लंड का सुपाडा उसकी चूत के अन्दर गया तो उसकी चीख निकल गयी | फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाला तो उसने कहा कि रुको मैं आयल ले कर आती हूँ | फिर उसने आयल ले कर आई और अपनी चूत में अन्दर तक अच्छे से लगाई और मेरे लंड पर भी अच्छे से आयल लगा दी | फिर मैंने पूरा लंड अन्दर डाला तो उसकी फिर चीख निकल गयी और वो मुझे फिर से लंड बाहर करने को बोलने लगी |

पर मैंने अपना लंड बाहर नहीं निकाला और उसकी चूत को जोर जोर से धक्के मार मार के चोदने लगा | थोड़ी देर बाद उसे भी मजा आने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी | मैं भी जोर जोर से उसकी चूत को चोद रहा था और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए जोर जोर से सिस्कारिया ले रही थी |

और कहानिया   सराफत की देवी

फिर मैंने उसे घोड़ी बना दिया और पीछे से लंड डाल कर चोदने लगा और वो बस आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए चुदाई का आनंद ले रही थी | आधे घंटे की चुदाई के बाद मेरा माल उसकी चूत पर ही झड गया | उसके बाद हम दोनों ने तीन बार और चुदाई कि और फिर मैं अपने घर चला गया |

पर उसकी चूत को मैं आज तक नहीं भूल पाया हूँ |

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *