बेटे को दिया बीवी का प्यार चुदाई हुई लॉक्कडोवन् में

मेरा नाम ज्योति है मैं ४० साल की हूँ। मैं हॉट हु खूबसूरत हूँ पर पति के मौत के बाद मेरी चूत बंजर जमीं सी हो गई है। चुदाई को दस साल हो गए थे पर धन्यवाद करती हु कोरोना बीमारी का क्यों की आजकल खूब चुद रही हूँ वो भर घर में ही अपने बेटे से ही। आज मैं आपको अपनी ये सेक्स कहानी आपलोगों को भी शेयर कर रही हूँ हिंडिपोर्नकहानी डॉट कॉम पर क्यों की मैं भी यहाँ रोजाना नई नई सेक्स कहानियां पढ़ती हूँ।

मेरे बेटे का नाम राज है पिता के मौत के बाद उसका सहारा मैं ही थी। और सदमे में भी आ गया था इसलिए मैंने उसकी शादी कर दी एक खूबसूरत लड़की से ताकि तो चुदाई में मस्त रहे और अपना दिमाग काबू में रखे यही सोच कर मैं जल्दी ही शादी कर दी। पर वो इतना दीवाना हो जाएगा चूत का ये बात मुझे समझ नहीं आया और अब तो उससे बीमारी ही गई है जैसे किसी शराबी को शराब रोज चाहिए वैसे ही राज को चूत रोज चाहिए। एक दिन भी वो चूत के बिना नहीं रह सकता है। जब उससे चूत नहीं मिले चोदने को तो वो बाथरूम में बंद हो जाता है और अपना सर दीवाल में मारता है।

यही हाल हुआ जब रूबी (राज की पत्नी) मायके चली गई लखनऊ और फंस गई लॉक डाउन में मेरा बेटा दो दिन तक किसी तरह से रह गया पर वो तीसरे दिन से ही हंगामा करने लगा कहने लगा रूबी को लाओ नहीं तो मर जाऊंगा। मुझे डर लगने लगा कही वो कुछ कर ना बैठे इसलिए मैं काफी डर गई। उसको समझाई की बेटा अभी लॉक डाउन है जा नहीं सकते ना आ सकते मैं क्या कर सकती हूँ तुम वीडियो कॉल कर लो तुम उसको नंगा देख लो तुम फ़ोन सेक्स कर लो। पर वो नहीं माना कहने लगा मुझे चूत चाहिए नहीं तो मैं मर जाऊंगा मैं डर गई।

मुझे लगा की अपने बेटे को बचाना है इसलिए मैं खुद ही उसको बोली, अगर ऐसी बात है तो तुम मुझे ही चोद लोग मैं तुम्हे अपना चूत दूंगी रूबी से भी ज्यादा मजा दूंगी मैं तुम्हे अलग अलग तरह के पोज भी सिखाऊंगी तुम चाहे तो जब तक रूबी नहीं है तुम मेरे साथ सेक्स कर सकते हो।

वो मान गया मैं दरवाजे खिड़कियां बंद की और बेड पर आ गई वो मुझे निहार रहा था मैं इशारा की आने को वो करीब आ गया मैं उसको पकड़ को होठ चूसने लगी माँ की ममता नहीं अब अब एक सेक्सी औरत बन गई जिसको दस साल से लंड के दर्शन नहीं हुए थे। वो भी मुझे किस करने लगा हम दोनों ने एक दूसरे के लिप लॉक करने शुरू कर दिए।

होठ चूसते चूसते मैं लेट गई और वो मेरे ऊपर चढ़ गया। मैं नाईटी पहनी थी वो उसको ऊपर कर दिया निचे ब्रा और पेंटी में थी वो मेरी पेंटी में हाथ घुसा दिया और ब्रा के ऊपर से ही किस करने लगा मेरी चूचियों पर। मैं तुरंत भी नाईटी उतार दी और ब्रा को हुक खोल कर ब्रा साइड रख दी। अब मैं उसको अपना दूध पिलाने लगी पहले तो दूध निकलता था जब वो पीता था पर अब दूध नहीं बल्कि मेरी चूत से गरम गरम पानी जरूर निकलने लगा था।

और कहानिया   ये में कैसी माँ हु

वो मेरी चूचियों को दबाने लगा मेरे होठ चूसने लगे। मेरे गाल को दांत से काटने लगा मैं चुदाई की जाल में फंस गई थी मेरी चूत गीली हो गई थी। वो वो मेरी पेंटी उतार दिया था उसी दिन मैं अपना झांट साफ़ की थी तो चूत क्लीन था। एक अठारह साल की लड़की की तरह टाइट और साफ़। राज जैसे ही मेरी चूत को देखा बोला आह आह आह क्या चूत है रूबी का भी ऐसा नहीं है उसका तो फैला हो गया है लौंडा तुरंत ही अंदर चला जाता है पर आपकी चूत तो टाइट है।

मैं बोली हां बेटा दस साल तक किसी चीज का उसे नहीं करो तो ऐसा ही हो जाता है मजे लो अपने माँ की चुदाई का वो अब मेरी छूट चाटने लगा और मैं सिसकारियां लेने लगी। वो खूब मजे देने लगा मेरे अंग अंग तार तार होने लगे अंगड़ाइयां लेने लगी मेरे मुँह से आह आह की आवाज निकल रही थी अब मैं जल्दी से जल्दी अपने जवान बेटा का लौड़ा अपने चूत में चाहती थी।

मैं जोश में आ गई और उसको निचे कर दी और खुद उसपर चढ़ गई पहले तो अपनी बड़ी बड़ी गोल गोल टाइट चूचियां उसके मुँह पर रगड़ने लगी और अपनी छूट उसके लंड पर रगड़ने लगी। मैं अपना दांत पीसने लगी उसके पसीने छूटने लगे। अब एक चुड़क्कड़ खिलाडी उसके ऊपर सवार थी। मैं गाली देते हुए बोली ले मादरचोद चोद मुझे आज देखती हूँ तेरा पागलपन आज तुम खुश नहीं किया तो अपनी चूचियां तेरे गांड में डाल दूंगी।

राज जोश में आ गया और मेरे होठ को चूचियों को चूसने लगा। अब मैं उसके लंड पकड़ ली और अपने टाइट चूत में ले ली और बैठ गई उसपर, उसका लौड़ा धीरे धीरे मेरी चूत में समा गया अब मैं वाइल्ड हो गई दांत पिसती हुई मैं चुदवाने लगी वो निचे था मैं ऊपर जोर जोर से धक्के गांड गोल गोल घुमा कर देने लगी, बेड चु चु कर रहा था और हरेक धक्के पर धपाक सी आवाज आ रही थी।

फिर मैं निचे हो गई वो ऊपर आ गया अब वो मेरी टांग उठा कर अपने कंधे पर रख लिया और अपना लौड़ा मेरी चूत पर सेट कर के जोर जोर से पेलने लगा। राज आह आह कर रहा था और जोर जोर से धक्के दे रहा था कह रहा था अब मैं रूबी को और आपको दोनों को एक साथ चोदुंगा मैं बोली ठीक है चोद लेना पर अभी मुझे खुश कर।

और कहानिया   छोटे भाई का मोटा लुंड ने मिटाया मेरा हवस

वो जोर जोर से चोदने लगा। मेरी चौड़ी गांड हरेक झटके पर हिल रही थी मेरी चूचियां हिल रही थी और मेरे पुरे बदन में करेंट दौड़ रहा था। मैं उसको पकड़ ली और जोर जोर से अपनी तरह खींचने लगी। वो भी जोर जोर से देने लगा।

दोस्तों इतना मजा तो पति भी नहीं देते थे वो जोर से झटके नहीं देते थे वो बस ऊपर चढ़कर तैरते थे बस, पर बेटे का झटका तो मजा ही आ गया। अब मैं घोड़ी बन गई और वो पीछे से चोदने लगा. अब वो और भी ज्यादा कामुक हो गया था। मैं भी यही चाहती थी। वो जोर जोर से देने लगा और मैं भी पीछे धक्के देने लगी।

अचानक वो आह आह आह आह आह आह नहीं नहीं नहीं नहीं नहीं करते हुए अपना सारा माल मेरी चूत में डाल दिया और शांत हो गया। पर मैं अभी शांत नहीं हो पाई थी मेरा पूरा शरीर गरम हो गया था दांत पीस रही थी मेरी चूचियां गोल गोल हो गई थी निप्पल टाइट हो गए थे। चूत गीली हो गई थी क्रीम निकल रही थी। पर मेरी संतुष्टि नहीं हुई थी।

पर मैं कुछ नहीं बोली क्यों की पहला दिन था इसलिए मन मसोस कर रह गई। हम दोनों भी लगे रात में एक साथ सो गए वो रात भर कभी गांड में ऊँगली करता तो कभी चूत में, कभी चूचियां पीता तो कभी होठ चूसता यही करते रहा पूरी रात। एक दो बार मैं भी उठकर उसके लौड़े को मुँह में लेकर चूसी पर मुझे तो कस के चाहिए थे इसलिए ज्यादा कुछ नहीं की।

दूसरे दिन उठकर खाना खाकर मार्किट गई क्यों की मेडिकल स्टोर खुला हुआ था वह से सेक्स पावर की टेबलेट लाई और अपने बेटे को खिला दी और बोल दी आज से दो टाइम दूध के साथ खाना। दो टेबलेट खाते ही वो दूसरी रात को मुझे इतना चोदा की मैं खुद पसीने पसीन हो गई और संतुष्ट भी ही।

लॉक डाउन में तो मेरी ज़िंदगी ही बदल गई अब मैं रोज रोज चुदती हूँ। अभी तो टाइम है लॉक डाउन का रूबी आने तक तो खूब चुदुँगी पर उसके आने पर हो सकता है थोड़ा कम हो जाये पर अब तो ज़िंदगी भर होगी चुदाई।

आप रोजाना इस वेबसाइट पर आएं क्यों की यहाँ पर हॉट और सेक्सी सेक्स कहानी होती है जो आपको कामुक कर देगी। आप खुद ही देखिये इतनी हॉट कहानियां किसी और पर नहीं।

Comments 10

Leave a Reply to divyanshu Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *