बहन की करतूत एक भाई को चोदने के लिए मजबूर किया

मेरे प्यारे दोस्तों आज मैं आपको एक ऐसी कहानी सुनाने जा रहा हूं जिस कहानी को सुनकर आपका दिमाग शायद खराब हो जाएगा आपको लगेगी कि क्या कोई ऐसी बहन होती है जो अपने भाई को पटा कर खुद की वासना को तृप्त कर लेती है और रोजाना फिर चुदवाती है जब पेरेंट्स घर पर नहीं होते हैं। मेरी पहली सेक्स कहानी है नॉनवेज story.com पर इसके पहले मैंने कभी भी इस वेबसाइट पर कोई कहानियां नहीं भेजी है पर आज मैं अपनी कहानी भेज रहा हूं ताकि आप सब को इस सच्चाई का पता चले कि मेरी बहन मुझे कैसे पटाई और खुद की चूत की गर्मी को शांत की।

मैं यहां पर अपनी बड़ी बहन के बारे में कहानी बता रहा हूं। मेरी दीदी का नाम सरिता है सरिता दीदी बहुत ही हॉट और सेक्सी लड़की है कॉलेज में पढ़ती है और ऑनलाइन पार्ट टाइम जॉब करती है। उसको वीडियो बनाना गाना गाना नेटफ्लिक्स पर मूवी देखना बहुत पसंद है कई बार मैं भी उनके साथ बैठकर नेटफ्लिक्स पर मूवी देखता हूं और वह ऐसे मूवी को पसंद करते हैं जिसमें सेक्स हो जिसमें न्यूडिटी हो जिसमें गालियां हो इस तरह की धारावाहिक इस तरह की मूवी इस तरह की की सीरियल उनको बहुत ज्यादा पसंद है। जब आप ऐसी चीजों को देखते रहेंगे तो आपका मन भी खराब होगा हम दोनों एक दूसरे से काफी खुल गए थे मतलब की बातचीत में हम लोग कई सारे से बातचीत करते थे जो कि एक बहन और भाई नहीं करते हैं।

मेरे मम्मी पापा दोनों बैंक में काम करते हैं सुबह 8:00 बजे जाते हैं और शाम को करीब 6:00 बजे घर आते हैं इस बीच में मैं भी कॉलेज जाता हूं और मेरी बहन भी कॉलेज जाती है। हम दोनों 3:00 से 4:00 तक घर आ जाते हैं और फिर घर में हम दोनों मजे करते हैं कई बार हम दोनों डांस भी करते हैं कई बार हम दोनों मूवी भी बनाते हैं पर कई बार ऐसा हो जाता है जिससे मुझे शर्मिंदगी महसूस होने लगती है। पर मैंने देखा कि मेरी दीदी को यानी कि सरिता दीदी को शर्मिंदगी महसूस नहीं हुआ वह कहती थी यार यह सब चलता है आजकल जमाना बदल गया है जब कभी उनकी बूब्स को मैं छू देता था गलती से तो कहती कोई प्रॉब्लम नहीं है।

और कहानिया   बेहेन की सेक्सी सहेली बन गयी मेरी रंडी

अब आप समझ ही गए होंगे कि मेरी बहन कैसी है और किस मिजाज की है। अब मैं सीधे कहानी पर आता हूं कि कैसे क्या हुआ था। 1 दिन की बात है हम दोनों के ही छुट्टी थी और मेरे मम्मी पापा की छुट्टी नहीं थी वह दोनों बैंक गए हुए थे। दीदी लैपटॉप पर वीडियो बना रही थी वीडियो एडिट कर रही थी और मैं उनके पीछे ही बैठकर पढ़ाई कर रहा था और पढ़ाई के साथ-साथ अपने मोबाइल में नॉनवेज story.com को भी खोल कर रखा हुआ था और अपने ललंड को सहला भी रहा था। पर मेरे से गलती हो गई दीदी के सामने जो आईना रखा हुआ था उससे वह सब कुछ मुझे देख रही थी मुझे पता भी नहीं था कि मेरी शादी करतूत मेरी बड़ी बहन सरिता दीदी देख रही है।

कई बार ऐसा हुआ जब कहानी सेक्सी लगने लगी तो मैं अपना लंड को हिलाने लगा मुझे लगा कर सरिता दीदी तो सामने देख रही है पर वह मुझे सब कुछ देख रही थी। उन्होंने मुझे बुलाया बोला करो 1 मिनट सुनोगे मैं बोला बोलो बोलो यार तुम थोड़ा मेरा कंधा दबा दे मैं बहुत देर से लैपटॉप पर बैठी हूं मेरा कंधा अकड़ गया है बहुत दर्द कर रहा है। मुझे लगा कोई बात नहीं और मैं उनके पास जाकर उनके कंधे को होले होले हाथों से दबाने लगा। धीरे-धीरे उन्होंने अपने स्टाफ को कंधे से नीचे कर लिया। अब उनकी गोरी गोरी गर्दन चौड़े कंधे पर उस पर से ब्रा की पट्टी मेरा मन डोलने लगा पर शायद मेरे से ज्यादा मेरी बहन सरिता दीदी का मन डोल रहा था क्योंकि मैं महसूस कर रहा था क्यों अंगड़ाइयां ले रही थी और जब आप किसी लड़की को छूते हैं किसी औरत को छूते हैं। सिसकारियां लेने लगी अंगड़ाइयां लेने लगी तो आप समझ जाइए कि उनका मन डोल रहा है और आप तैयार हो जाइए।

और कहानिया   गलतफहमी में भाभी समझ भैया ने मुझे चोद दिया

मेरा लंड भी धीरे-धीरे बड़ा होने लगा था और गलती से उनके कंधे को छू गया। मैं डर गया मुझे लगा कि मेरी बहन क्या सोचेगी मेरी दीदी क्या सोचेगी मेरा प्राइवेट पार्ट उनके कंधे से टकरा गया। जैसे उनको महसूस हुआ कि मेरा लंड उनके कंधे से टकरा गया तो तुरंत मेरी तरफ घूम गई चेयर रिवाल्विंग वाला था। उन्होंने कहा क्या बात है क्या सटाया भी मेरे कंधे से तुमने। मैंने कहा कुछ नहीं दीदी गलती हो गई अब मैं जाता हूं। उन्होंने कहा कहां जाओगे अब तो तुम मेरे पास खड़े रहोगे और तुम मुझे दिखाओगे कि तुमने क्या सटाया मेरे कंधे से। दोस्तों इतना सुनकर मेरा लंड तुरंत शांत तो हो गया छोटा हो गया ऐसा लगा मर गया किसी का भी लंड मर जाए।

दीदी बोली दिखाओ मैंने बोला नहीं दी थी उन्होंने मेरे पेंट को पकड़कर नीचे कर दिया और मेरे जांघिया को खींच कर मेरा लंड अपने हाथ में ले ली। मैंने कहा कि यह गलत बात है दीदी तो वह बोली गलत क्या है मुझे पता है मेरे कंधे से तुमने सटाया था। अगर मैं यह बात घर में बता दूं कि तू मेरे कंधे में क्या किया तू आज तेरी खैर नहीं इसलिए जैसा मैं कहती हूं वैसा तू कर। मुझे लगा कि जब मेरी बहन इतनी बदतमीज हो रही है इतनी धौस दिखा रही है। तुम मुझे भी थोड़ा आगे बढ़ ही देना चाहिए।

उन्होंने अपना टॉप ऊपर से निकाल दिया वह ब्रा पर आ गयी। वह मेरे तरफ आगे झुक कर बोले खोल दें हुक। . मैंने उनकी ब्रा का हुक खोल दिया जैसे ही ब्रा का हुक खोला दोस्तों क्या बताऊं इतनी गोरी इतनी सुंदर इतनी मस्त चूचियां मजा आ गया देख कर रिश्ते गए भाड़ में मैं तो अपने दीदी के जिस्म का दीवाना हो गया था। मुझे लगा ऐसा मौका बार-बार नहीं मिलता है ऐसे भी दिन भर खयालों में और इंटरनेट पर सेक्स कहानियां पर के सेक्स मूवी देख कर अपने लंड को हिलाने से ज्यादा फायदा है कि अपने वीर्य को किसी की चूत में ही गिरा दूँ।

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published.